बीएफ जोक्स

छवि स्रोत,जंगल में चोदा

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर वीडियो भेजो: बीएफ जोक्स, मुझे भी उसका इस तरह से नम्बर माँगना नॉर्मल सा लगा, तो मैंने अपना नंबर दे दिया.

लुकिंग सेक्सी

उनके साथ वही हैंडसम सा लड़का था और ड्राइवर के बगल से आगे वाली में वह स्टोर वाला बैठ गया था. 12 साल की लड़की के साथ सेक्स वीडियोपूजा ने भी अपना एक हाथ बढ़ा कर मेरा लंड अपनी चूत के छेद से लगा दिया और खुद ही अपनी कमर हिला कर एक झटका देते हुए मेरा लंड फिर से अपनी चूत में घुसवा लिया.

मौसी आईं तो मम्मी ने बोला- बहन, यह राज जीजा आज जाने के लिए ही बोल रहे हैं, वो भी अभी शाम को. बुर में लंड डालनाऐसा लोग कहते हैं कि मेरी आँखों में एक अजीब सी कशिश है जो लड़कियों को अपनी तरफ बरबस ही आकर्षित कर लेती है.

फिर बाद में उसे अपने ऊपर से हटा कर उसके मुँह में अपना लंड देकर चुसाने लगा.बीएफ जोक्स: मयूरी ने बड़े प्यार से जितना हो सके उनके अमृतरस को चाट लिया और बाकी अपने बदन पर मलने लगी.

अंकल जी फोन चला के तो देखो कैसा है?” कम्मो बोली और फोन का डिब्बा मुझे दे दिया.पर माइक की गति में तब तक बदलाव नहीं आया, जब तक तारा पूरी तरह झड़ कर ढीली नहीं हुई और माइक के ऊपर निढाल होकर न गिर पड़ी.

सेक्सी वीडियो गांड मारी - बीएफ जोक्स

थोड़ा आगे चलकर बाजार से निकल उसके आशिक ने गाड़ी रोक दी और पिंकी उतर कर आगे की सीट पर चली गई और देवेंद्र पीछे की सीट पर मेरे साथ आ गया.मगर तभी सुलेखा भाभी ने ही हथियार डाल दिए और कहने लगीं- उफ्फ … महेश, जाने दे मुझे … नेहा और प्रिया यहीं पर हैं.

मैं ब्रीफ वाला फ्रेंची अंडरवियर पहनता हूँ तो उसमें वो अलग ही पता चल रहा था और शीतल बस उसे ही देख रही थी।फिर मैंने अपना अंडरवियर उतार कर अलग कर दिया और लिंग चूसने के लिए कहने लगा. बीएफ जोक्स तो मैं समझ गया कि अब ये पूरी गर्म हो चुकी, सो मैंने देर न करते हुए उसकी ब्रा और पैंटी भी उतार दी और उसने मेरी.

अब आगे:डिम्पल भाभी बोली- यह गलत है…लेकिन मैंने भाभी की बात नहीं सुनी और दोबारा अपने लब उनके लबों से चिपका दिए.

बीएफ जोक्स?

मैंने अब खुद से कहा कि बस बहुत हुआ, अब और बर्दाश्त नहीं किया जा रहा, यह सोचकर मैं सीधा मम्मी के रूम में घुस गया. फिर मेरे कूल्हों को फैला कर मेरे पिछवाड़े को चूमने लगे और जीभ से चाटने भी लगे. गाड़ी लगभग एक किलोमीटर आगे बढ़ी, तभी वहां पर दो लोग खड़े थे, कार रोक दी गई.

मैं उससे बहाना करते हुए बोला- मुझे यहां खुजली हो रही थी, खुजा रहा था. ऐसा कोई एक डेढ़ मिनट ही चला होगा कि वो मेरा हाथ अपनी चूत पर से हटाने का प्रयास करने लगी. तभी उन्होंने मेरे लौड़े को अपने मुँह में ले लिया और उसको ऐसे चूसना शुरू कर दिया, जैसे कोई बच्चा लॉलीपॉप खा रहा हो.

मैं जोर जोर से चाची की गांड को मसलने लगा और अपने लंड को चाची की जांघ पर रगड़ने लगा. मेरी सहेलियों के ब्वॉयफ्रेंड थे और वो लोग मेरे सामने अपने अपने ब्वॉयफ्रेंड की बातें करती थीं, तो मुझे भी मन करता था कि मेरा भी एक ब्वॉयफ्रेंड हो तो मेरी लाइफ भी अच्छी होती. यह सुनने के बाद मैं मजबूर होकर सोने की कोशिश करने लगा लेकिन नींद नहीं आ रही थी.

मेरा मन फिर मोबाइल की ओर गया, तो देखा तारा कैमरे की तरफ खड़ी होकर अपनी योनि मुझे दिखा रही थी. उनकी संभोग क्रिया के दौरान माइक ने फिर से वही तकनीक से संभोग की शुरुआत की.

हिमांशु बहुत खुला लड़का था, उसने सीधे मुझे लिटा कर मेरी टांग फैला दीं और अपने जीभ मेरी चूत के फांकों के बीच रख कर चाटने लगा और नाक से सूंघने लगा.

मैं इतना मदहोश हो गया था कि मुझे रसोई से भाभी की आती आवाज भी सुनाई नहीं दी.

अपने जीवन में सेक्स का आनन्द अवश्य लें पर अपने परिवार की प्रतिष्ठा का ध्यान रखें. करीबन 15 मिनट बाद वो थक गईं और बाहर निकलने को बोल रही थीं, पर मेरा अभी तक नहीं हुआ था. मैं थोड़ी देर बाद भाभी के कमरे में झाँकने की कोशिश करने लगा, अन्दर ऋषि सोया हुआ था.

थोड़ी देर बाद फिर उसी नंबर से मुझे एक फोटो मिला और उसके अगले मेसेज में नाम अदिति (काल्पनिक) और पता लिखा मिला. इतने में कोई दूसरे अंकल ने भी मेरे दूसरे हाथ को पकड़कर अपने लंड में रखवा लिया और अपने लंड को ऊपर नीचे करवाने लगे. मैं बेबी के दूध दबा कर बोला- तुम हो ही इतनी मस्त कि लंड तुम्हारे भीतर तक जाना चाहता है … तो मैं क्या करूँ.

अब मैंने उसे अपने ऊपर बुलाया तो वो मेरे मुँह पर अपनी चूत खोल कर 69 में बैठ गयी और मेरा लंड चूसने लगी.

गज़ब का माल मेरे हाथ लगा था।वो भी अपनी चूत चुदाई का पूरा मजा ले रही थी … कामवासना से भरपूर आवाजें निकाल रही थी … अपने चूतड़ पीछे धकेल धकेल कर चोदन में सहयोग कर रही थी. मेरी चूत तो बहुत गीली थी, तो उसमें तो एक ही झटके में हिमांशु का लंड घुस गया. फिर जब रात हुई, मॉम हॉस्पिटल गईं, कुछ देर बाद खाना खाकर जब हम दोनों सोने के लिए गए तो मेरे अन्दर एक बेचैनी सी थी.

प्रिय अन्तर्वासना पाठकोनवम्बर 2018 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…. अब तक बहन और मेरे बीच सब कुछ ठीक हो गया था, मतलब अब मैं उससे गुस्सा नहीं था. अब हम दोनों मां बेटियों को रंडियों की तरह कुतिया बनाकर पेल रहे थे।अब हमने दोनों को एक दूसरे के पास कर दिया और दोनों को एक दूसरे का मुंह चूमने को बोला.

कुछ पल बाद मैं उठ कर बाथरूम में गयी और अपनी चूत को पानी से साफ़ किया.

यह जानते ही मैं एकदम से बेचैन हो उठा कि कब मैं अपना लंड आंटी की चूत में डाल दूँ. थोड़ी देर बाद जब मेरा निकलने वाला था, तब मैंने उससे पूछा- कहां निकालूँ?उसने कहा- आह … अन्दर ही निकाल दो.

बीएफ जोक्स अब मैंने उसे अपने ऊपर बुलाया तो वो मेरे मुँह पर अपनी चूत खोल कर 69 में बैठ गयी और मेरा लंड चूसने लगी. मैंने ऐसा ही किया और अपने लंड का सुपारा नीरू की चूत पर सेट कर दिया.

बीएफ जोक्स उसने आंखों से कुछ इशारा भी किया और श्यामा उठ कर उस डीवीडी को लिए दूसरे कमरे में चली गई और फिर जल्दी से वापिस भी आ गई. हिमांशु बोला- यार सतीश, अगर कोई आ गया तो हम दोनों की नौकरी चली जाएगी.

जैसे जैसे संभोग की अवधि आगे बढ़ रही थी, माइक के धक्कों की तीव्रता में भी तेजी आ रही थी.

सनी लियोन की फुल सेक्सी वीडियो

मैं बेड के उपर बैठ गया और सुशीला मेरे ऊपर चढ़ के फिर से चिल्ला चिल्ला कर चुदवाने लगी ‘आह सस्स हाँ आह …’कुछ देर के बाद मानसी झड़ गई और दीपक से चिपक गयी. मेरी उम्र 21 साल की है और मैं बाकी लोगों की तरह झूठ नहीं बोलूंगा, पर मेरे लंड महाराज का साइज 8. मैं दिखने में भी अच्छा था और मेरा रंग भी गोरा था, इसलिए कई लड़कियां मेरी फ्रेंड थीं.

तभी अंकल के लंड के मुँह ने मेरी चूत में पानी ऐसे छोड़ना शुरू किया … जैसे किसी बन्दूक से गोली छूटती है. रमीज जाते-जाते महेश और सुनील को बोला कि तुम लोग भी थोड़ा आगे पीछे डाल के इस मखमली लौंडिया को चोद लो. मुझे मज़ा आता देख उन्होंने मेरी ब्रा उतार दी और मेरे एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसा.

मैं कम्मो को सब जगह चूमता चला गया उसके गाल, गला गर्दन और फिर हमारे होंठ कब एक दूसरे के होंठों से जुड़ गये पता ही न चला.

मैंने तुरंत साइड में कर रोक कर कार की सारी लाइटें बंद करके कार को साइड में लगा दिया. भाभी पागल हुए जा रही थीं, उन्होंने मेरे सिर को अपनी चूत पे दबा दिया. टांगें चाटते हुए जब मैं ऊपर पहुँचा, तो देखा कि उसकी चड्डी पूरी गीली हो चुकी थी.

आज उसने हरे रंग की साड़ी पहनी थी, जिसमें उसकी चुचियां बहुत ही बड़ी लग रही थीं. मैंने मानसी को बिस्तर पर लिटा कर उसकी चूत में लंड घुसा कर धक्के लगाना शुरु कर दिया. करीब तीन चार मिनट बाद मेरी गांड का दर्द भी कम होने लगा और अब मैं खुल के सेक्स को एन्जॉय करने लगी.

अब जैसे ही सुलेखा भाभी उचक कर ऊपर की तरफ हुईं, एक बार फिर से सुलेखा भाभी के लाल ब्लाऊज में कसी हुई बड़ी बड़ी सुडौल और भरी हुई चूचियां मेरे सामने आ गईं. उसकी इस समय आँखें लाल सुर्ख सी हो रही थी।वो बेड पर बैठ गयी और मेरी पैन्ट और चड्डी को उतार दिया, साथ ही मैंने अपनी कमीज को भी अपने जिस्म से अलग कर दिया। मैं एकदम से उसके सामने नंगा था।उसने अपनी दोनों हथेलियों के बीच मेरे लंड को पकड़ा और एक पप्पी ले ली। उसके बाद लंड के खोल को खोलकर मेरे लाल हो चुके सुपारे को अंगूठे से सहला रही थी, इस कारण हल्का-हल्का सा रेशा निकलने लगा था.

वो मेरा सर अपने चुचों पे दबा रही थी और बोल रही थी- प्रकाश खा जाओ मेरी चूचियों को … आह … और दबाओ, काटो जोर से आहह आहह काटो ना … ना … और जोर से … और जोर से!मैं उसके दोनों चुचे बारी बारी चूसता और काटता रहा. एक बार अक्टूबर 2016 में मेरा एक्सीडेंट हो गया इस वजह से मैं 3-4 दिन ऑफिस नहीं जा पाया. मुझे लगता है कि करीब एक घंटा होने को गया था, इतनी देर से मैंने उसे रोक रखा था.

इस पर वो हंसते और दम्भ भरे स्वर में बोली- ऐसा नहीं है कि तुम सेक्स करने में पूरी रात मुझे जगा सकोगे.

मैंने करीब 10 बजे भाभी को फ़ोन किया तो पता चला कि वो घर पर अकेली हैं. हम दोनों के चर्मोत्कर्ष को प्राप्त कर लेने के बाद भी हम उस आलिंगन के पलों से बाहर नही आना चाहते थे. वो बोली- फिर आपकी बीवी आपको मेरे से मिलने से रोकेगी तो मैं उसका मुंह तोड़ दूंगा। मुझे ना कहना आप!मैं बोला- ऐसा होगा ही नहीं। पहली बात तो यह कि जिससे भी मैं शादी करूँगा उसे तू ही पसंद करेगी। हम उसे पहले ही अपने बारे में बता देंगे और स्पष्ट कर देंगे कि कभी हम दोनों के बीच में नहीं आएगी.

मैं उसकी फुद्दी को मुँह से लगा कर किस करने लगा तो वो नशीले स्वर में बोली- जीभ से चाट साले. इस पर मुनीर ने कहा- अब शर्माओ मत … इतने दिनों के बाद मिली हो, थोड़ा देखने तो दो … आखिर मुझे भी तो जानना है कि तुम्हारा स्वाद कैसा है.

चाची के मोटे और नर्म नर्म होंठ के स्पर्श ने मेरे पूरे बदन में सिहरन पैदा कर दी. मैं कई बार कुछ ना कुछ काम की वजह से उसके केबिन में चला जाता और वो हमेशा चेयर पर झुक कर बैठकर मुझे काम बताती थी. प्रणाम दोस्तो, मेरा नाम रागिनी है, मैं अन्तर्वासना की बहुत बड़ी फैन हूँ.

जेंट्स जेंट्स सेक्स वीडियो

इतना कहकर सतीश ऊपर की, अपने शर्ट बनियान को उतार दिया और हिमांशु ने खड़े होकर जल्दी-जल्दी ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए.

वो दोनों बोले कि ऐसा नहीं होगा, ठाकुर साहब ने हम दोनों को बोला है, हम यहीं सोएंगे. देखती हूं कितना मज़ा कराएगा और तुम सब मुझे कितना मालामाल करोगे, पर उसके लिए मेरी मम्मी को भी तुम लोगों को विश्वास में लेना होगा. गैब्रियल ने मेरे सीने में हाथ से धक्का देकर मुझे बेड में गिरा दिया और अपने दोनों बाजू इधर उधर करके मेरे ऊपर चढ़ गया.

उस रात पढ़ने के बाद मैं अपने रूम में आ गया और मानो मेरे दिल दिमाग पर सिर्फ मनीषा ही मनीषा दिखाई दे रही थी. जिनका वो घर था, उन अंकल ने मेरी नाक को अपने मुँह में भर लिया और मेरी नाक चूसते हुए बोले- वन्द्या तुम्हारी नाक बहुत सेक्सी है, तुम बहुत बड़ी माल हो, तुम्हें आज बहुत मजा आएगा. सेक्सी वीडियो सॉफ्टवेयरपाठकों से आग्रह है कि आपको ये कहानी कैसी लगी, आप अपनी राय मुझे मेरे ईमेल आईडी पर जरूर दें ताकि मैं इसकी दूसरी कड़ी भी लिख पाऊँ.

फिर वो शर्मा कर मेरे कान में बोली- राजा, तुम्हारी चुदाई से आज मैं पहली बार एक साथ तीन तीन बार लगातार झड़ी. अच्छा लो अंकल जी ले लो!” कम्मो ने कहा और अपना मुंह मेरी तरफ बढ़ा दिया.

जो दर्द होना था वो हो गया।मैं उसके स्तनों का मर्दन करने लगा तो उसने थोड़ी राहत की सांस ली। मुझे लगा कि उसका दर्द कम हो गया है तो मैं धीरे-धीरे उसे चोदने लगा। फिर उसे भी मजा आने लगा, अब वो भी कूल्हे उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी।वो बोलने लगी- आह्ह … अब मजा आ रहा है. थोड़े दिनों बाद वो दिल्ली में सैटल हो गयी, पर आज भी उसकी याद आती है. उत्सुकतावश मैंने भी अब अपने हाथ को थोड़ा सा और नीचे उनकी चुत की तरफ बढ़ा दिया.

तकरीबन नौ इंच का गोरा गुलाबी रंग का लंड देख कर मेरी बीवी की चूत का वो हाल हो रहा था, जैसे किसी मरुस्थल के प्यासे का हाल कुएं के पास हो जाता है. उसके दिमाग में घुस गया और वो चहकने की स्माइली भेजी और लिखा- ठीक है. मैंने भी देर न करते हुए अपना लंड उसकी चिकनी चूत पर लगा दिया और ऊपर नीचे करने लगा.

चाची फुंफकार भरते हुए बड़बड़ाने लगीं- आह … ऐसे ही चोदो मेरे राजा … आह … आह … बहुत मजा आ रहा है … पूरी चूत में एक अजीब सी गुदगुदी हो रही है … ओह … आह … मेरे चुदक्कड़ राजा जी … अब तुम चोदते रहो!चाचा- तेरी चूत बहुत गर्म है मेरी चुदक्कड़ रानी … मेरा लंड जल रहा है अन्दर!चाची- बस आप यूं ही चोदते रहो मेरे राजा … जब आपका पूरा वीर्य मेरी चूत की गहराई में गिर जाएगा, तब ही मेरी चूत की गर्मी खत्म होगी.

मैं भी अपनी शर्ट और पैन्ट उतारकर केवल एक जॉकी में भाभी के पास लेट गया. वो बोली- देख छोटू, मैं भी बहुत दिन से तड़प रही हूँ। पहले मैं अपनी प्यास बुझा लूं फिर तेरी प्यास भी बुझाऊंगी.

फोन का कैरी बैग और सामान के बैग कम्मो ने पिछली सीट पर रख दिए और मुझसे सट कर बैठ गयी और मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया. मेरी तो समझो लॉटरी लग गई।फिर उसने पूरा का पूरा लण्ड मुँह में ले लिया और मैं सिर्फ मादक आवाजें निकाले जा रहा था। वो आइसकैन्डी की तरह लौड़ा चूसने लगी। साथ-साथ अपने हाथ से मेरे अन्डकोषों के साथ भी खेल रही थी।मैंने कहा- आह्ह … रुक जा … अब मेरा निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?उसने कहा- निकल जाने दे … कोई बात नहीं. मगर सुलेखा भाभी ने भी उसकी गर्दन को पकड़कर दबोचे रखा और‌ उसे कस कर मरोड़ दिया.

मुनीर की टांगें तारा के मुँह की तरफ थीं और चेहरा उसकी योनि की तरफ था. अपने लंड का ख्याल रखना … मुठ बाद में मारना, पहले मेरी चुदाई की कहानी पर दो शब्द लिख कर मुझे मेल जरूर कर देना. अच्छा! अभी मेरे वहां हाथ नहीं लगाया आपने उस गन्दी जगह में!” वो सिर झुका कर बोली.

बीएफ जोक्स रेवती और मैं इस मस्ती मैं खोने लगे थे लेकिन जब मेरा हाथ रेवती की चूत पर जा लगा तो रेवती संभल गई और खुद को मुझसे अलग कर लिया. अगर बुरा ना मानो तो बता दो … ब्वॉय फ्रेंड या कोई और से करवाया है?मैं पहले तो झिझकी, फिर बोली- वह कोई और था … मेरे पास ब्वाय फ्रेंड नहीं है.

ब्लू पिक्चर चलता

जब क्लास चलती तो सोनल पहले बहुत डीसेंट रहती … मतलब अच्छी तरह ड्रेस, ओढ़नी वगैरह!हमारी पढ़ाई के बीच में बहुत बातें होती रहती थीं. मैंने देखा कि जो दूसरा वाला था, वह करीब 23-24 साल का बहुत यंग लड़का था. आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह…” सुशीला बोली- इसे निकालो। मैंने पहले कभी गाण्ड में नहीं चुदवाया।दीपक- चुप साली रंडी, तब तो बहुत अच्छा हुआ। तेरी गाण्ड की सील आज मैं तोड़ता हूँ।और उसकी गाण्ड में और एक जोर का धक्का लगाया … आधा से ज्यादा लंड सुशीला की गांड में घुस गया, सुशीला फिर चिल्ला उठी.

अपने पुरुष साथी पर अपना हक़, अपना एकाधिकार, ‘सिर्फ मेरा’ वाली भावनाएं स्वतः ही आ जाती हैं; दरअसल यह भी उनके प्रेम का अन्य रूप ही होता है. उसका नाम सबा है और उसका फिगर 32-30-32 था जिसको मैंने दबा कर और चूस कर 36″ के बूब्स और 34″ चूतड़ों का कर दिया है. देवर भाभी का सेक्सी वीडियो रोमांसअब्दुल उधर से जो भी बोले हों, सुनील ने उत्तर में बोला- अरे फोटो भेजने की जरूरत नहीं अब्दुल भाई … आज तक अपन ने जितने भी आइटम बुलवाए हैं … उनमें से सबसे टॉप की है.

दोस्त ने उसे अपनी बांहों में भरके चूमा और उसके दूध मसल कर हामी भर दी.

वो मुझसे बात करने लगी और मैं उसकी बड़ी बहन के चक्कर में उससे बात करने लगा. शायद उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी, तभी तो उसकी साँसों के साथ साथ उसके अनार आजादी से ऊपर नीचे हो रहे थे.

दो मिनट तक मैं यूं ही मन्त्रमुग्ध सा भाभी की सफाचट चूत को देखता ही रहा. कोई आठ किलोमीटर जाने के बाद धर्मेन्द्र ने एक मल्टी के सामने अपनी मोटरसायकल खडी कर दी और बोला- यहीं मैं रहता हूँ. कुछ होगा तो नहीं? दर्द कितना होता है?नीरू ने कहा- नहीं, बहुत थोड़ा सा दर्द होगा जब शुरू में लंड चूत में जाएगा.

मेरी उत्सुकता माइक के लिंग को देखने की काफी बढ़ गयी थी … क्योंकि मैंने मोबाइल में देखा था, इसलिए उस समय अंदाज नहीं लगा सकी थी.

मुनीर ने मेरे कान में कहा- तुम्हारी चमड़ी कितनी मुलायम है और तुम्हारे बदन की खुशबू मुझे मदहोश कर रही. हम लोग कुछ हेल्प कर दें?मैं कुछ नहीं बोली पर हिमांशु ने सीधे अपना हाथ मेरी चूत में रखा और उसे रगड़ने लगा. मैं कभी किसी को हाथ लगा रहा था, कभी किसी को चूम रहा था, कभी किसी को चाट रहा था.

मैजिक कारअपनी इस महत्वाकांक्षा के फलस्वरूप मैंने अपनी दाई टांग ऊपर हवा में उठा दी और दीमा ने बाईं टांग सोफे से नीचे रख ली. अब कम्मो भी चुम्बन में मेरा साथ देने लगी थी और उसकी पैर स्वयमेव खुल से गये थे.

फादर्स डे

इसके साथ ही दो धक्कों के बीच का अंतराल भी बढ़ता चला गया और एक पल ऐसा आया, जब माइक एक आखिरी धक्का मार अपने लिंग को तारा की योनि में स्थिर कर उसके ऊपर गिर कर निढाल हो गया. बाद में मेसेज या कॉल करने को बोल कर वो ऑफलाइन हो गयी और मैं भी अपने काम में लग गया. तभी मम्मी आयी और बताया कि आज सुबह पवन भैया कुछ दिनों के लिए गाँव गए हैं तो कुछ दिन नीचे रीना भाभी के पास सो जाना।मैंने कहा- भाभी सिर्फ पढ़ने को बोलती रहेगी।तो मम्मी बोली- मैंने उसको बोल दिया है कि ज्यादा पढ़ाई करने को न बोले तुझे!अब ठीक है!” मैंने सोचा कि बहुत अच्छा मौका है अब तो भाभी से सब कुछ पूछ लूँगा।तो मैंने हाँ कर दी।शाम को साढ़े 8 बजे मैं भाभी के पास अपनी किताबें लेकर पहुँच गया.

उस दिन रात को दस बजे तक मैं उसके घर पर रुका और चार बार मैंने अपने पानी से उसकी चूत को भर दिया. मैंने अपने चूतड़ थोड़ा उठा दिए, जिससे मेरी पैंटी सटाक से बाहर हो कर तलवों तक चली गई. अक्सर शाम को ग्राऊंड में अंधेरा हो जाने के बाद कोनों में लड़कों के साथ चूमा चाटी करते दिख जाती थीं.

मैंने दीमा को पीवा (बियर) ऑफर की तो उसने बिना किसी औपचारिकता के अपने ब्रीफ़केस से कोनियाक की बोतल निकाल कर कहा- इस सुन्दर मुलाकात को तो ढंग से सेलिब्रेट करना चाहिए. इस पोजीशन में मुझे और रोहित को धक्के लगाने की तो आसानी थी लेकिन शिवम के लिये धक्के लगाना थोड़ा मुश्किल जरूर था. क्या करूँ मेरे पति का लंड बहुत छोटा है और वो चूत में घुसते ही झड़ जाता है.

अब कार जैसे ही चली जगत अंकल ने मेरी जांघ पर अपना हाथ रख दिया और दो मिनट बाद मेरी जांघों को सहलाने लगे. वो कहने लगी- फिर ये भी याद होगा कि किस तरह हम दोनों किस किया करते थे!मैंने कहा- हाँ याद है.

उसके हिप्स इतने शानदार उठाव लिए हुए थे कि मोनिका और मीना बस उसे काटने को आतुर हो रही थीं.

एक दिन जब उनका बायोलॉजी का टर्न आया तो मैं रोज की तरह उनको पढ़ाने के लिए अपने रूम में आया, तो सारी लड़कियां धीरे धीरे हंस रही थीं. ऑडियो कहानीउसने मेरी टांगों को चौड़ी करके ऊपर दीवार से मेरे पैरों को बांध दिया. सेक्सी सौदाफिर वो मेरी तरफ देख कर हल्के से मुस्कुराई, मैंने भी मौके फ़ायदा उठाते हुए अपने होंठ उनके होंठों पर रख दिये. मैं उसके सर को पकड़ कर चोद रहा था तो मेरा लंड उसके गले तक जा रहा था और वो गूं गूं गूं करते हुए इतना मस्त चुसाई कर रही थी कि मेरा बदन अकड़ने लगा और मैं उसके मुंह में ही झड़ गया.

मेरे एक-एक अंग को वह जमके चूसने लगा और बोला कि आई विल सक यू फर्स्ट.

तभी ऊपर से हिमांशु मुझसे लिपट गया और लंड पेलता हुआ बोला- वन्द्या तेरी चूत इतनी टाइट कैसे है … तू तो बता रही थी कि तू बहुत बार लंड ले चुकी है, फिर भी बहुत टाइट चूत है. मैंने उनके दोनों हाथ कस के पकड़ लिए और उनके निचले होंठ को दांतों के बीच में पकड़ लिया. करीब पन्द्रह मिनट बाद वो थोड़ा सा नार्मल हुई तो मुझे ऊपर से नीचे तक किस करने लगी.

वो मेरे को बोला- बता तीनों एक साथ चोदें या एक एक करके लेगी?मैं उस समय बिल्कुल मदहोश पागल और बेहोश थी. उसने बिल्कुल नयी गुलाबी रंग की ही ब्रा पैंटी पहनी थी जो शायद आज ही पहनने के लिए ही ख़रीदी थी।मैंने उसको गोदी में उठा कर डबलबैड पर लिटा दिया. और ऐसा ही था हमारा प्यार करने का अंदाज़ कि हम दोनों का एक दूसरे से कभी जी ही नहीं भरता था.

वॉलपेपर भोजपुरी फोटो गैलरी

उसने मुझे हाथ पकड़ कर उठाया और कहा- मैं तुम्हें जरा सी भी तकलीफ नहीं होने दूंगा, पूरे आराम से करूँगा ताकि तुम्हें ज्यादा से ज्यादा मजा आये. गांड चुदाई की कहानी बाद में लिखूंगा, तब तक के लिए सभी चूत और लंड वाले भैया भाभियों, माल आइटमों को मेरे लंड का सलाम. मानसी की हल्की सी सिसकारी निक़ल गई और सुशीला थोड़ा झुक के देखने लगी तब तक मैं हाथ निकाल चुका था। मुझे सुशीला के ऊपर बहत ग़ुस्सा आया। साली न ही ख़ाती है और न खाने देती है.

मैंने और थोड़ी देर मानसी की मम्मी को उसके सामने ही मसला कि तभी दरवाजे पर खटखट हुई।मैं- कौन है।वेटर- खाना साहब!मैंने सुशीला को छोड़कर कपड़े पहन लिये.

फिर थोड़ी देर बाद उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगाया और एक जोरदार से धक्के से अपना पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया.

मैं उन दोनों उभारों के ऊपर टंके हुए सबसे मस्त मूंगफली के दाने के बराबर गुलाबी रंग की घुंडियों को मसलने लगा. वो बाथरूम से बाहर निकला, विक्रम भी नीचे से बिल्कुल नंगा था क्योंकि थोड़ी देर पहले ही उसकी अपनी माँ ने उसके लंड को चूसने के लिए उसकी शॉर्ट्स को खोल दिया था. सुहागरात कैसे बनाते हैंऐसी स्थिति में पूजा जैसे ही अपनी कमर को उठा कर अपनी चूत से मेरा लंड बाहर करती, मैं उसकी चूंची को जोर से दबा देता.

जो भावनाएं एक पुरुष के मन में एक खूबसूरत महिला को देखकर उत्पन्न होती हैं, कुछ उसी तरह की भावनाएं एक लड़की के दिल में भी उत्पन्न होती हैं. मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनकी बुर पर लंड से हल्का दबाव बनाया तो लंड फिसल गया. शादी करने का कलेजा कहां रखते होंगे। बस चोदने तक मकसद था और उसमें भी एक-एक बार ही कामयाब हो पाये तो शायद छोड़ने की वजह एक यह भी रही हो।”और यह जो करंट ब्वायफ्रेंड्स हैं.

मैंने कहा- जीजू अगर दीदी आ गई तो क्या होगा?जीजू बोले- वो कितनी देर पहले गई है?मैंने कहा- उनको एक घंटा हो गया है. प्रियंका की बात से आईडिया आया कि क्यों ना हम लोग वॉशरूम ही चल कर आगे का काम करें.

मेरे जिन पाठकों और पाठिकाओं ने कहानी का पहला और दूसरा भाग नहीं पढ़ा हो वोमेरे सामने वाली खिड़की में-1तथामेरे सामने वाली खिड़की में-2पर जाकर पढ़ सकते हैं.

मैं- आपका लंड इतना कड़ा क्यूँ है?अंकल- तुम्हारी चुची पीने से और होंठों को चूसने से, लंड कड़ा हो गया है. मैं उसके साथ चल पड़ी और कॉलेज से बाहर आते ही उसने एक ऑटो पकड़ा और अपने घर पर ले आई. फिर यूं ही थोड़ी देर चूसते चूसते रुका और मुझसे बोला- क्या मैं आपकी ब्रा खोल दूँ?मैंने हां में बस अपना सर हिलाया, तो उसने मेरी ब्रा खोल दी और वहीं नीचे फेंक दी.

कटरीना सेक्स वीडियो लेकिन उसके होंठ मैंने अपने होंठों से बंद करके रखा था, इसलिये उसके चिल्लाने की आवाज मुँह में ही दब गई. अब मैंने डिल्डो को अपने प्यारे छेद से बाहर निकाल लिया और दीमा संग हम दोनों अपने घुटनों के बल दरी के ऊपर बैठी नताशा के दाएं-बाएँ अपने लंड तन कर खड़े हो गए.

अब कम्मो भी चुम्बन में मेरा साथ देने लगी थी और उसकी पैर स्वयमेव खुल से गये थे. अब पता नहीं कैसे ये चमत्कार या जादू होना शुरू हुआ कि मेरी गांड का दर्द तो पूरा ही गायब हो गया और चूत का जो बहुत दर्द था, वो भी कम होने लगा. मुझे नहीं पता था कि ये माइक की कोई तकनीक थी, या मेरे अनुभव से जैसा लगा कि माइक झड़ने के क्रम में अपनी उत्तेजना पर नियंत्रण खो बैठा.

सोनाक्षी सिन्हा के गाने

मैंने सोच समझ कर कहा- इसमें दर्द होता है … पीछे वाले में नहीं होगा. फिर सुबह उसकी मेड के आने का टाइम हो गया था, तो मैं वहां से निकल गया. दूसरे दिन जब दूध वाले ने मुझसे पैसो का तकाजा किया तो मैंने कहा कि यार कुछ दिन रुक जाओ, मैं जल्दी ही पैसे दे दूंगा.

तब तो भेनचो … मेरी आँखें फट गई जब मैंने देखा कि चाची के आँखों में पानी आ गया है बाल गीले होने के कारण … तो उन्होंने अपनी मैक्सी उठाकर अपनी आंखें पौंछी तो उनकी लाल चड्डी मेरे सामने थी और पूरी नंगी टांगें … वाह … क्या किस्मत थी मेरी!और मैं तो घूर ही रहा था कि उन्होंने मुझे देख लिया और झट से अपनी चूत ढक ली … और अपनी बेटी को दूध पिलाने लगीं. मैं जब भी कोचिंग जाता या कोचिंग से वापस आता, तो उसी रास्ते से निकलता था.

मेरी चुत में पानी भी आ रहा था और मेरा बेटा बियर में सनी हुई मेरी चुत के पानी का मिश्रण को चूस चूस कर पी रहा था.

मैं जब भी कोचिंग जाता या कोचिंग से वापस आता, तो उसी रास्ते से निकलता था. इतना धीरे धीरे क्यों चाट रहे हो मेरी चूत को? जोर जोर से चाटो ना मेरी चूत. फिर मैंने वहां पर कुछ आराम किया और मैंने अपने आपको फ्रेश महसूस किया.

फिर बोले कि एक बात बोलूं आपकी बेटी सोनू बिल्कुल आप पर गई है … और वैसे तो सच यह है कि ये आपसे भी ज्यादा सुंदर है. कुछ देर हम तीनों इसी मुश्किल पोज़ में चुदाई करते रहे और फिर हमने पोज़ को नेचुरल तरीके से आसान बना लिया. पूरी प्रक्रिया के दौरान न जाने मैं कितनी बार उत्तेजित हुई और कई बार मेरी उत्तेजना शांत हो गयी.

मुझे ये बात मेरी सहेली ने बताई थी कि घर में सेक्स करने से यही फायदा है और मुझे ये बात अच्छी भी लगी थी.

बीएफ जोक्स: मानसी को भी समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे … दरवाजा कैसे खोले? अभी तक दरवाजा कई बार खटखटाया जा चुका था. उनसे बात करके समय भी मैं उनके तने हुए बोबों को ही देख रहा था और ये चीज़ वो भी नोटिस कर रही थीं.

मेरी जीभ मैडम की चूत को चाट रही थी और उनकी चूत में अन्दर बाहर हो रही थी. नेहा ने उस दिन दूध वाले को छेद से देखता हुआ जान लिया था, तो वो अपनी सफाचट चूत और बड़े बड़े मम्मों को मसलते हुए दूधवाले की नजरों की हवस जगाने लगी. दोस्तो, आपने मेरी पहली कहानीडांस कॉम्पटीशन में मस्तीको पढ़ा और सराहा, जिसके लिए आपका बहत-बहुत धन्यवाद.

शर्म आती है?”एकदम से ऐसी स्थिति बन जाना कि जिसकी पहले कभी उम्मीद न की गयी हो, थोड़ी झिझक तो पैदा करता ही है। पहले इसे ही रहने दीजिये.

थोड़ी देर मैं एकदम शांत पड़ा रहा, जब आंटी की तरफ से कोई हलचल नहीं हुई तो थोड़ी देर बाद मैंने फिर से अपना काम शुरू कर दिया. मैंने तभी आंटी की चूत में, एक साथ दो उंगली डाल दीं और जोर जोर से धक्के लगाने लगा. किस करते हुए मैं सबा के चूचे को और जोर से मसल रहा था और वो मेरा लंड पकड़ कर आगे पीछे करने लगी। पहले तो मेरा लंड पकड़ कर सहला रही थी, फिर मुझे रूकने के लिए बोली और नीचे झुक कर मेरा लंड को चूसने लगी.