हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो

छवि स्रोत,औजार मोटा करने की दवा

तस्वीर का शीर्षक ,

फुल सेक्सी सेक्सी सेक्सी: हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो, गुलशन जी सीधे दुकान गए, वहां अपना काम निपटा कर वो अनिता के पास चले गए.

अंग्रेजी नंगी फिल्म

उसने मेरे लंड को होंठों में कस कर जकड़ लिया और वो मेरा पूरा पानी पी गई। फिर मेरा लंड उसने चाट चाट कर साफ़ कर दिया. नंगी तस्वीर दिखाइएकाफ़ी देर तक चोदने के बाद दूसरी बार मामी झड़ने लगीं, तब मैं भी झड़ने वाला हो गया था.

मैंने आंटी का एक आम अपने मुँह में भर लिया और खुद मस्त होकर आंटी का स्तन चूसने लगा. इंग्लिश सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियोमैंने उसकी फैमिली के बारे में जानना चाहा तो उसने बताया कि उसकी नई-नई शादी हुई है और उसका पति सिर्फ़ पैसा कमाने के पीछे भागता है.

मैं देख रहा था कि अब मम्मी रबर की गुड़िया की तरह उनके इशारों पर कर रही थीं, जैसे वो चाह कर रहे थे.हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो: फिर उसने टीवी ऑन कर दिया और एक पॉर्न मूवी लगा कर बोली- आप मूवी देखिए और मैं आपके लिए कुछ खाने-पीने का अरेंज करती हूँ.

वो अलग बात है कि उसको बराबर चोदना नहीं आ रहा था, वो बस कमर को हिला रहा था मगर जैसे भी था, चुदाई तो हो रही थी.बेबस हो कर अब कोई विरोध किये बिना अपना जिस्म ढीला छोड़ते हुए वो बोली- वैसे ये कबीर मोहल्ला इलाका कैसा है? वहाँ से मुझे राम टेकरी जाना है.

गढ़वाली गाने डाउनलोड - हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो

मैंने चाची की मैक्सी को खींच कर पैरों तक कर दिया, जिसे मैंने चुदाई करने से पहले गले तक चढ़ा दिया था.शादी के बाद राज ने मुझसे नौकरी छोड़ देने को कहा तो मैंने नौकरी छोड़ दी.

और यह जो आप माँ को छेड़ते थे वो तो कुछ भी नहीं, वो लड़के इससे भी गंदा बोलते हैं. हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो अब माँ से रहा नहीं जा रहा था, वो रहमत को गाली देते हुए बोली- रुक क्यों गया हरामी, आजा ऊपर आ, अब चोद न मुझे!पर रहमत माँ को तड़पाना और चाहता था, उसने लंड को चूत पर रखा और रगड़ने लगा जिससे माँ बेचैन होने लगी.

उसने फिर से मेरी चूत पर ढेर सारा थूक लगाया… अपने लंड को फिर से सैट किया और जोर से धक्का मार दिया.

हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो?

मैं विनीता की बायीं तरफ लेट गया और अपने बायें हाथ को विनीता की गरदन के नीचे कर उसे अपने करीब कर लिया और उसी हाथ से उसके चेहरे को अपनी तरफ घुमाते हुए अपने होंठ फिर उसके होठों पर रख दिया. माया को इस खेल में मज़ा आ रहा था कि तभी उसे अपनी चुत में कुछ महसूस हुआ. थोड़ी देर बाद वो मेरे पास आया और बोला- आइये!तो मैं उसके साथ साथ चल दी और अगले मिनट में हम घर के सामने थे.

इसका मतलब था कि उसकी माँ जिसे वो एक अच्छी औरत मानती थी वो तो कई मर्दों से अपना जिस्म मसलवा चुकी थी और उसने कितने ही लंड भी चूसे थे. मैंने उससे पूछा- शुरू करें?उसने कुछ नहीं कहा, बस अपने दांतों से होंठ काटने लगी. भाभी ने उसे ऐसे घुमाया कि मेरा लंड पूजा के मुँह में और पूजा की चूत रीतिका के मुँह पर ओर रीतिका की चूत मेरे मुँह पर थी.

वो बोली- क्यों नहीं मेरे चोदू, पर आज मैं तुझे चोदूंगी, जबरदस्ती चोदन कर दूँगी तेरा. जीजू ने अब मेरी चूत में अपनी एक उंगली डाली और उसे आगे पीछे करने लगे, फिर वो बोले- अब तो मैं रुक नहीं सकता हूँ मेरी जान!इतना कह कर वो मेरे ऊपर आ गए और एक हाथ से पकड़ केअपने लंड को मेरी चूत में घुसा दिया. ”मैं अपने पापा के साथ जो चाहे करूँ तुम्हें क्यों खुजली हो रही है? तू भी ले ले मजे.

मैंने फिर से बूब पकड़ कर बेबी के मुँह में लगा दिया, लेकिन इस बार मैंने बूब नहीं छोड़ा और बेबी को आंटी के बूब पकड़ के दूध पिलाना शुरू कर दिया. फ़िर मैंने कहा- आपको आज मैं ऐसे तरीके से चोदूँगा, जिससे आपको भी बहुत मजा आएगा.

अब मैं उसके नंगे बदन पर चुंबनों की बारिश करता हुआ नीचे की ओर आ गया और कुछ देर गहरी नाभि से खेलता रहा.

मैंने अपने आप को उनकी बाहों से छुटवा कर कहा- क्या पागल हो गए हो जीजू आप? इस तरह खुले में चुदाई करोगे मेरी? कोई देख लेगा तो? मुझे डर लग रहा है.

उस के खड़े और सुडौल मम्मे आपस में इतने सटे हुए थे कि उनके अंदर एक उंगली भी नहीं जा सकती थी. हम तीनों आपस में गुत्थम गुत्था होकर चुदाई में मगन थे, हमारे पास खड़ी सोनिया की चूत भी हमें देख कर पूरी तरह गीली हो चुकी थी. अब तो जैसे हम दोनों का बोलना बंद ही हो गया था, बस सब आँखों से ही बात हो रही थी.

घर वालों की इज्जत मुझको भी बहुत प्यारी थी, पर मैं मोनिका से भी कम प्यार नहीं करता था. अंजलि का मोबाइल नम्बर भी मेरी बीवी के पास था तो मुझे उसका नम्बर पाने में कोई परेशानी नहीं हुई. जैसे ही मैंने उसका समीज़ निकालने के लिए अपने हाथ रखे, उसने अपने हाथ मेरे हाथों पर रख दिए.

अपनी ब्रा की साइज़ थोड़ी किसी लड़के को बताऊँगी मैं? वो तो सिर्फ़ मेरा पति ही जानेगा शादी के बाद और अब मेरी मम्मी जानती है.

मैं मौसी को देखता ही रह गया, वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में ही थीं और मेरी तरफ़ किसी छिनाल की तरह देख रही थीं. मैंने उसकी मॉम को खूब चोदा था तब जाकर मेरी बेटी पैदा हुई थी और आज मैं उसे चोदने वाला था. संजय- तू बस हाथों को टाइट रखना, कहीं नीचे मत लेट जाना, नहीं तो मजा नहीं आएगा.

मैं आपकी शॉर्ट्स और बनियान पहनूँ?नीता के पास जा कर पप्पू बोला- हाँ, क्यों? कोई प्राब्लम है तुझे? या तुझे इस टावल में ही रहना है नीता?नीता ज़रा सोच कर बोली- पर अंकल… वो मैं… ठीक है दे दो अपनी शॉर्ट्स और बनियान मुझे. काजल ने अपनी टांगें ऊपर उठा कर सुरेश को अपने कपड़े उतरने में मदद की. संजय- ठीक है पूजा डार्लिंग वैसे आज तेरी चुत भी चमक रही है, इसको ठोकने में भी बहुत मजा आएगा.

तैयार होने के चक्कर में मैंने खाना भी नहीं खाया और शायद आपने भी नहीं खाया होगा.

उस पर ढेर सारा मक्खन, एक बड़ा कटोरा सब्जी का और साथ में मट्ठे के दो बड़े-बड़े ग्लास. फिर मैं क्यों उसे आग्रह करता कि वह अपने पति को छोड़े?मैंने एक गहरी सांस ली और फिर अपने मनपसंद काम की तरफ मुड़ गया.

हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो सुमन भाभी के पति रमेश भैया एक बैंक में ब्रांच मैनेजर थे, उनके ससुर एक आयुर्वेद के डॉक्टर थे और उनकी सासू माँ एक प्राइवेट स्कूल में टीचर थीं. एक दिन दीदी और माँ मार्केट चली गईं तो मैं कमरे में लंड को निकाल कर मुठ मार रहा था.

हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो वो बोली- ठीक है… पर आप धीरे धीरे करना!मैंने फिर से धक्का लगाया, अभी 4 इंच तक गया था तब तभी 3 इंच मेरा लंड बाहर था, फिर मैंने एक धक्का लगाया, अब पूरा 7 इंच का लंड मेरी साली के चूत में अंदर चला गया पर वो मेरे हाथ को कस के पकड़े हुई थी, बोली- मैं मर गयी जीजा जी, बहुत दर्द हो रहा है. सुमन- पापा ये लॉक खुल जाने से इसमें तो 2 होल हो गए हैं, अब तो अन्दर का दिखेगा.

जवान औरत की नंगीं जांगहें चाटने का अपना एक अलग ही किस्म का मज़ा आता है.

सुहागरात की सेक्सी हिंदी फिल्म

शीतल ने मेरी माँ से कह दिया था कि वो हमारा ख्याल रखेगी और खाना भी बना देगी. मैं एक साधारण परिवार का युवक हूँ, अपने परिवार के साथ कोलकाता के समीप एक लिमिटेड कम्पनी की कॉलोनी में रहता हूं. मैंने दर्द से तड़फते हुए कहा- बाहर निकाल लो अपना लंड, बहुत दर्द हो रहा है.

सीई…”यह कहते हुए मैं उनसे गिड़गिड़ाने लगी पर वो नहीं माने और उन्होंने मेरे मम्मों पर अपने होंठों लगा दिए. इस बार गुलशन जी ने सुमन को गोद में उठा लिया और हवा में उसकी चुदाई की. वैशाली ने देखते ही कहा- इतनी जल्दी चुदाई भी शुरू कर दी?मैंने कहा- तुम्हारी यह फ्रेंड तो कई जन्मों की प्यासी है.

उसने तपाक से मेरे दोनों पैर ऊपर खींचे और मेरे दोनों तलुओं के बीच अपना लंड फंसाकर, तलुए दबा कर, वो उसे आगे पीछे करने लगा.

आपसे सम्बन्ध बनने के बाद जब मैं यहाँ आ गयी तो मुझे अपने पति के साथ सहवास में वो आनन्द और तृप्ति नहीं मिली जो आप के साथ मिलन में मिली थी. आंटी चुदते हुए बहुत मादक आवाज निकाल रही थीं और गाली भी दे रही थीं ‘आआवउ ऊहीईईहह. मैंने ‘सरदार जी पापड़ वाले’ के यहाँ से अपना सामान खरीद लिया और फिर हम लोग ‘गड़बड़ झाला’ गए, जहाँ उन तीनों ने काफी सारी खरीदारी की.

चोद मुझे और जोर से चोद मुझे, ओह मेरे बंदर, ला अपना मोटा लंड और अन्दर डाल. मैं सोचता था कि काश मुझे भी कोई लड़की प्यार करती और काश मैं भी उससे ऐसी रंगीन बातें कर पाता. तो दोस्तो, मेरी आज की कहानी यहाँ पूरी होती है, उम्मीद करती हूँ कि आपको पसंद आई होगी.

पापा- अब बचा ही क्या… जो डालूँगा तेरी चुत ने मेरा पूरा लंड निगल लिया है मेरी जान. मैं भी अपनी टोली के साथ दशहरा घूमने की सोच रहा था, तभी रात्रि 9 बजे मामा जी का फोन आया कि मामी घर में अकेली हैं और मुझे काम पर जाना है, तुम तुरंत घर पहुंच जाओ.

अब मेरी बहन को भी मजा आ रहा था, वो हर धक्के के साथ अपनी गांड पीछे धकेल कर पूरा लंड जड़ तक लेने की कोशिश कर रही थी. गुलशन जी ने सुपारा फँसा कर हल्का सा धक्का मारा तो लंड 2″ चुत में घुस गया और इस बार सुमन की बर्दाश्त की ताक़त हार गई, उसके मुँह से दर्द भरी चीख निकली और आँखों से आँसुओं की धारा बह गई. मैंने इस मदहोशी के आलम में भी वो मुझसे चूत में लंड पेल कर चोदने के लिए कहने से बच रही थी.

थोड़ी देर तक ऐसे ही हाथ रखे रहा और कुछ देर बाद जब बहन की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई.

फिर मैंने भाभी को बेड पर बैठाया और उनका ब्लाउज़ पूरी तरह से निकाल दिया. सुरेश ने पहले काजल की जीन्स उतारी और उसने देखा कि काजल ने मैचिंग रेड कलर की पैंटी पहनी हुई है. उसने मेरा पेट चूसते हुए मेरी पूरी साड़ी खोल दी और मुझे उठा कर बेड पर पटक दिया.

कभी वह मेरे लंड पर आइसक्रीम लगाती और मेरा लंड चूसने और चाटने लगती, कभी मैं उसकी चूत पर दही डाल देता और चाटने लगता. मैंने मन समझाया और उसको घोड़ी बना के पीछे से उसकी चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगा.

अब और भी शर्माते हुए नीता ने अपनी नाभि छुपाने के लिए बनियान नीचे खींची. आह क्या मस्त चूचे थे, एकदम तने हुए ऐसे लग रहे थे जैसे उनके पति ने कभी चूचियां मसली ही न हों. मैं उठ कर बैठ गया तो मेरी नजर चादर पर पड़ी, जिसमें मेरे वीर्य के धब्बे थे.

कैलकुलेटर सेक्सी फोटो

तुझे मेरी चुदाई देखने का बड़ा मन हो रहा है या ऐसा कहो ना फ्लॉरा की चुत का सोच कर तुम्हारा लंड झटके खा रहा है.

तेरी माँ से सिर्फ़ लंड चुसवाया था, पर आज तुझे लंड खिला कर तेरी चूत में घुसा के तुझेजवानी का खेलपूरा सिखाऊँगा. चाचाजी- शाहीन मेरी जान मेरी ख्वाइश कब पूरी करोगी?मैं- कौन सी?चाचाजी- जान, मैं तुम्हें अपनी दुल्हन बनाना चाहता हूँ और हमारी सुहागरात. जबकि वो भी तो उसकी बेटी थी, तो सुमन के साथ क्या नया करेगा, वैसे वो कर भी ले तो कोई दिक्कत नहीं.

जैसे ही मैंने उसे चूमना शुरू किया, उसने मेरे लंड को पैन्ट के ऊपर से पकड़ लिया और मसलने लगी. बस यही ख़याल बार बार आ रहा था कि कल कोई मुझे भी प्यार करेगा और मुझे भी आनन्द मिलेगा. पोरन साइटरात को मेरे पति को मैंने यह किस्सा बताया, तब वो बोले तू एक नम्बर की नौटंकीबाज़ है.

अब चुदाई में उसे कोई इन्टरेस्ट नहीं रह गया था, वो लगातार रहम की भीख मांग रही थी. जैसे ही मैंने लंड निकाला रीतिका ने मुँह में ले लिया और पूजा को बोली- आ जा मजा ले अपने पहले पानी का.

मैं अब भी कांप रहा था, सो मौसी ने मुझे कसके अपनी बांहों में जकड़ लिया. चाचा जी बस आँखें बंद कर के मोन कर रहे थे और मेरे बालों में हाथ डाल कर अपने लंड पर दबा रहे थे. दीदी ने बोला- सागर एक तो तेरा लंड ही इतना बड़ा है कि मेरी चुत में अभी दर्द हो रहा है और तू मेरी गांड में भी घुसाना चाहता है.

लंड उस की कसी हुई चूत में रगड़ कर आ जा रहा था, इससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. क्या गरम मुँह है साली का आह्ह्ह… इसके मुँह में तो में पूरे दिन अपना लंड ठूंस के रख सकता हूँ. मैंने उनकी गांड के छेद पर बहुत सारा तेल लगाया साथ ही अपने लंड पर भी लगा लिया.

कुछ देर ऐसे ही लगातार चोदने के बाद मैंने मनोज को इशारा किया और मनोज और मैंने अपने अपने लंड बाहर निकाले और हमने दोनों लड़कियों को आमने सामने कर लिया.

उसके चूतड़ों अपने दोनों हाथों से खोले और लंड उसकी चूत पर सैट करके एक ही झटके में पूरा अन्दर डाल दिया. पहले तो मैंने दोनों हाथों से विनीता की चूचियों का मर्दन किया, फिर एक हाथ उसकी पैंटी पर ले गया.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और उसे बुरी तरह चूसने लगा. मैंने अचानक विनीता को अपनी बाँहों में कस लिया और वह कुछ सोचे-समझे उसके पहले मैंने उसे दीवाल से लगा दिया और उसके होठों को अपने होठों की गिरफ्त में ले लिया. पप्पू तू पहला मर्द नहीं जो मेरा कसा जिस्म देख के मेरे पीछे पड़ा, पर पिछले कई सालों में तू वो पहला मर्द है जिसे मैंने पूरी लिफ्ट दी है.

नेहा अब हम दोनों मर्दों के बीच सेंडविच बन चुकी थी और हम दोनों मर्दों के लंड नेहा की चूत और गांड चोद रहे थे. जिसकी वजह से मैं ठरकी हो गया और अब मेरा मन सिर्फ चूत व गाण्ड चाटने को करता है।बात उस समय की है. तो देखा रूम पूरी तरह से सजाया हुआ था और बेड भी फूलों से सज़ाया हुआ था.

हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो फिर वो दिन आ गया जब मैंने मोनिका के लिए मंगलसूत्र खरीदा, सिंदूर लिया साड़ी ली. मैंने भी देर न करते हुए भाभी की चूत में पहले ही धक्के में अपना लंड घुसाने की तैयारी की और साथ ही उनके मुँह में अपना मुँह लगा कर चूमने लगा.

सारी सेक्सी वीडियो एचडी

मैंने कहा- अगर तुम कहते हो तो मैं पकड़ लेती हूँ लेकिन तुम कुछ और तो नहीं करोगे ना?वो बोला- बिल्कुल नहीं. अनिता- हा हा हा हा आपका तो आज पोपट बन गया हा हा हा… आपका केएलपीडी हो गया है. फ्लॉरा- थैंक्स अंकल, वैसे आपको देख कर भी नहीं लगता कि आपकी इतनी बड़ी बेटी होगी.

अंकल ने मेरी छोटी सी चिकनी सी चूत को सहलाया और सामने से गोद में बैठा लिया. कुछ ही मिनट में दीदी ढेर हो गईं, पर लगता था आज वो रुकने वाली नहीं थीं. अमेरिकन लड़की का नंगा फोटोसुमन बहुत उत्तेज़ित हो गई थी, अब वो स्पीड से ऊपर नीचे होने लगी और 10 मिनट तक स्पीड से चुदती रही.

वो बोली- क्यों नहीं मेरे चोदू, पर आज मैं तुझे चोदूंगी, जबरदस्ती चोदन कर दूँगी तेरा.

फिर कुछ मिनट बाद मेरा मोटा लंड फिर से भाभी को चोदने को तैयार हो गया. ताकि पूरी रात लंड में जोश बना रहे और हम सब इन तीनों की चुत और गांड को मार-मार के लाल कर दें.

इस तरह की कामुक देसी चुदाई कहानियों को पढ़ने के बाद और काफी सोचने के बाद आज मैं भी अपनी देसी चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ. कुछ ही देर में मैं एक ब्लू फिल्म की मॉडल की तरह चाचाजी के लंड को अपने मुँह में लेके उन्हें भरपूर मजा दे रही थी. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया और उसके मम्मे सहलाने लगा.

मुझे उनकी कोई बात समझ नहीं आ रही थी और बहुत अजीब लग रहा था, मगर बर्थ डे के दिन सबको नाराज़ नहीं करना चाहती थी, तो आख़िर मैंने उनकी बात मान ली और उन्होंने मेरी आँख पे पट्टी बाँध दी.

तभी अचानक पता नहीं क्या हुआ, उसने नीचे से एकदम ऊपर झटका मारा, तो ऊपर से मैंने भी मार दिया और मेरा पूरा 8 इंच लंड उसकी फुद्दी की जड़ तक घुसता चला गया. मुझे इस बार का उस दिन एहसास हुआ कि मेरा एटीएम तो मेरी चड्डी में ही है. मैंने मॉम को बताया तो माँ ने कहा- बेटा, अपना अन्दर ही डाल दे, अन्दर ही झड़ जा.

कैटरीना कैफ सेक्सी वीडियोसजो लड़की मेरे मुँह पर बैठी थी वो मेरे मुँह पर ही पूरी झड़ गई और मुझसे अपना चुत रस चाटने को बोला. जब उसके साथ आँखें मिलीं तो लगा कि उस की आँखें जैसे कुछ माँग रही हों.

बूढ़ी औरतों का सेक्सी वीडियो

क्या होगा… ये सोच कर सारी रात जाग जाग कर गुजारी, नींद आने का नाम ही नहीं ले रही थी. अभी तक आपने पढ़ा…मैं रवि से मिलने उसके गांव पहुंच गया, वो अपनी भैंसों को जोहड़ में नहला रहा था. क्या गरम मुँह है साली का आह्ह्ह… इसके मुँह में तो में पूरे दिन अपना लंड ठूंस के रख सकता हूँ.

सासू माँ को तो कुछ पता नहीं चला, पर मैं उनकी डबल मीनिंग बात समझ रही थी. मैं समझ गया कि साली अब गरम होना शुरू हो गई है, बस मौके की तलाश में था. एक लड़की मेरे निप्पलों को काटने लगी और तीसरी वाली मेरे लंड को पागलों की तरह चूसने लगी.

फिर वो दिन आ गया जब मैंने मोनिका के लिए मंगलसूत्र खरीदा, सिंदूर लिया साड़ी ली. किसी भी पल उसका लावा फूट सकता था और साथ ही सुमन भी अपने चरम पर पहुँच गई थी. फिर चाची मेरी तरफ घूम गईं और उन्होंने अपनी मैक्सी ऊपर उठाई और अपनी चूत पर हाथ रख कर बोलीं- देख ये है मेरी नुन्नू.

इसके बाद हम देवर भाभी को जब भी मौका मिलता है, मैं भाभी को बार बार चोदता रहा. तो नीलेश जीजू से चुदने के बाद जब मैं घर आई तो बार बार आज की चुदाई के नजारे मेरी आँखों के सामने आ रहे थे, जीजू द्वारा की गई चुदाई को मैं भूल नहीं पा रही थी उस चुदाई के बाद एक दो बार ओर जीजू ने मेरी चुदाई की पर अब बार बार जीजू ऑफिस से छुट्टी नहीं ले सकते थे इस लिए अब मेरी चूत की पूरी चुदाई नहीं हो पा रही थी.

मेरे सारे शरीर को चूमो, राज! मैं बहुत प्यासी हूँ, मेरी जम कर मस्त चुदाई करो, जिससे मेरी पोरी पोरी दर्द करने लगे.

मेरे ऐसा करते ही बहूरानी नीचे घुटनों के बल बैठ गई और मेरा लंड अपने मुंह में भर लिया, लंड को कुछ देर चाटने चूसने के बाद वो नंगे फर्श पर ही लेट गई और मेरा हाथ पकड़ कर अपने ऊपर खींच लिया, फिर अपने दोनों पैर ऊपर उठा कर मेरी कमर में लपेट कर कस दिए और मेरे कंधे में जोर से काट लिया. लडकी की इच्छाउसके बाद मैंने धीरे-धीरे अपने भी सारे कपड़े उतार दिए और फिर मैडम को अपनी गोदी में उठा कर उसके होंठों पर किस किया. मटका वीआईपीइस कहानी को लिखते हुए काफी समय लग गया, इस लिए आप सभी लोग इसे पूरी कहानी को जरूर पढ़ना और मुझे ईमेल करके बताना कि मेरी कहानी आपको कैसी लगी. जो उसकी 32-28-32 की अद्भुत देसी काया रचने में बड़ी मस्ती से उठे हुए थे.

उसने बाजू में उसके बच्चे को सुला दिया और मेरी तरफ होकर बात करने लगी.

जय बहुत ही अच्छी तरह से निशा की चुदाई कर रहा था और उसकी गांड मार रहा था. मेरा लंड खड़ा हो गया था और शीतल को भी मेरे कड़क लंड का अहसास हो गया था. जैसे ही कार चली, चाचा का हाथ मेरे मेरे कंधे से टच होने लगा, 20 मिनट बाद चाचा का हाथ धीरे से मेरी जांघों में आ गया, मैं कुछ ना बोली कि उनके दोस्त लोग क्या कहेंगे.

क्योंकि मैं तुम्हारी इच्छा पूर्ण नहीं कर सकता तो फिर कोई और क्यों न करे. उसने बिना देर करते हुए मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. अब लगभग सुबह के 7 बज रहे थे, तीनों ने मेरे मुँह में अपना चुत रस छोड़ा.

मोहनी सेक्सी

फिर मैंने भाभी को बेड पर बैठाया और उनका ब्लाउज़ पूरी तरह से निकाल दिया. अल्का ने कहा- दिनेश और विजय… ये मेरी फ्रेंड माया है… और ये अभी सील पैक है. स्टेशनरी सप्लाई के बहाने मैं लगभग हर तीन-चार सप्ताह में जयपुर का चक्कर लगाता था और उसका चक्षुचोदन कर अपना खड़ा लंड ले कर दूसरी चूतों से काम चलाता था.

जब वो अपना पूरा लंड घुसाते हुए मेरी चुदाई करेगा तब मेरा क्या हाल होगा.

जब मैंने पूछा कि जब हस्बैंड चूचियों पर निशान देखेगा तो?तो वह बोली- उस को तो मैं नजदीक ही नहीं आने देती, वह तो देखता भी नहीं है, उस के लंड में दम ही नहीं है.

फिर उसने मुझे उठाया और बोली- मिस्टर संदेश चलिए मैं आपको छोड़ देती हूँ. ज़रा संभल के जाना, बहुत गुंडे रहते हैं वहाँ, खूब छेड़ते हैं लड़कियों और औरतों को… अपने रिक्शा से ही जाना ठीक था. इंग्लिश फिल्म नंगी दिखाओसुमन भाभी के पति रमेश भैया एक बैंक में ब्रांच मैनेजर थे, उनके ससुर एक आयुर्वेद के डॉक्टर थे और उनकी सासू माँ एक प्राइवेट स्कूल में टीचर थीं.

ये तो कुछ नहीं, लड़के के लंड से चुदने में जो मज़ा है, दुनिया की किसी चीज में नहीं आता है. मैं अपने कजिन्स और शीतल दीदी के साथ मिल कर रोज कैरम और ताश के पत्ते खेलता था. मैंने धीरे से अपना एक हाथ उसकी छाती पर रखा दबाने लगा, रागिनी सिसकारियां लेते हुए चुत की वासना के सागर में गोते लगाने लगी.

मैंने कहा- इतनी सारी रोटियां किसके लिए हैं?उसने कहा- हमारे लिए हैं और किसके लिए है? तू जाट के घर में है, यहां ऐसे ही खाया जाता है. उसने किसी तरह अपना होंठ मेरे होठों से मुक्त कराया और इतने देर में पहली बार बोली- प्लीज लीव मी.

उस वक़्त जब जब मुझे सेक्स का मतलब भी या यूं कहें लंड का इस्तेमाल भी नहीं पता था, उस टाइम चुत तो मिल गई.

बरखा की बात सुनकर टीना और फ्लॉरा ने एक-दूसरे को देखा फिर आँखों ही आँखों में इशारा किया. इसके बाद हम दोनों वापस तैयार हो गए और हमने निश्चित किया कि अगली बार पूरी रात के लिए मिलेंगे. और चाची ने हाथ बढाकर मेरे लंड को थाम लिया और दूसरे हाथ से अपनी चूत मसलने लगी।मम्मी चिल्लाई- आरती… बंद करो ये सब!चाचू आगे आये और मम्मी का हाथ पकड़ कर बेड पर बिठा दिया और कहा- अरे भाभी, आप यहाँ आओ और थोड़ा आराम करो.

सुहागरात कैसे मनाया जाता है उसकी छोटी सी चूचियों को देखकर बोलीं- लगता है इनकी मालिश किसी मर्द के हाथ से नहीं हुई है. लो दोस्तो सुमन ने तो मना कर दिया अब ये चुदेगी या नहीं इसका जबाव अगले पार्ट में मिलेगा ओके.

’फिर किस करने के बाद मैंने अपना जैकेट उतारा और उससे बोला- तुम बैठो, मैं सू सू करके आता हूँ. जैसे मेरे लंड से जूस निकला था, उसी तरह तुम्हारी चुत से भी जूस निकलेगा. बस फिर मैंने अपना मुँह घुमाया और उसकी बायीं चूची पर रखा और उसके निप्पल पर जीभ फिराई.

तब्बू की नंगी सेक्सी फोटो

मैं उठा और क्रीम उसकी गांड पर लगाई… धीरे से एक उंगली से उसकी गांड रवाँ कर दी. फिर उसने मेरी पेंट की चैन खोली और मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. भोला ने अपना मोटा लंड मम्मी की चूत पर रख कर कमर का एक जोरदार झटका मारा तो वो फिर से चिल्लाईं- अइरेर.

मैंने कहा कि पिछली ज़िंदगी को ‘जो बीत गया सो गया’ समझ कर उसको भूल जाओ. मैंने इधर उधर देखा, खिड़की खुली थी लेकिन हवा नहीं आ रही थी क्योंकि सामने एक दीवार से दूसरी दीवार तक रस्सी बंधी थी जिस पर ढेर सारे कपड़े टाँगे पड़े थे.

लगभग 10 मिनट तक एक दूसरे के होंठ चूसते रहे, उसके बाद मैं सूट के ऊपर से ही उसके मम्मे दबाने लगा.

आज पहली बार मुझे किसी लड़की के शरीर के इतने नजदीक जाने का मौका मिला था. फिर मैंने एकदम से मेरी पूरी ताक़त लगाई और ज़ोर का एक झटका दे मारा, मेरा लंड पूरा का पूरा दीदी की गांड के अन्दर हो गया. रेखा की चूत एकदम गुलाबी गुलाबी थी, जो सामने शीशे में बंद खुल होते हुए दिख रही थी.

मैंने फिर एक ज़ोर का झटका लगाकर पूरा लंड अन्दर घुसा दिया, तो दीदी की ने मेरी पीठ पर अपने नाखून रगड़ दिए. प्रेगनेंसी का खतरा में नहीं लेना चाहती, फिर जाके वर्षा के पास सो गई. अबकी बार मेरी आँखें चढ़ गईं, मगर उन कमीनों को कोई परवाह नहीं थी, वो तो बस मेरे जिस्म को रौंदे जा रहे थे.

पर फिर उसने अपने कपडे ठीक किये और सब नार्मल हो गया।मैं अगली रात को अपनी बहन की चूचियों का वीडियो देख रहा था.

हरियाणवी बीएफ सेक्स वीडियो: तभी अंकल ने बोला- यार, यह तो सच माल है, रियल में रो रही है, हम लोग सोचे थे कि यह आरती बहुत चुदवाई हुई है, पर हम लोग गलत हैं यार, इसकी चूत तो बहुत टाइट है, सच में रो रही है, ऐसा करो गाड़ी किसी होटल रिसोर्ट या ढाबे पर लगाओ, इसको सब लोग एक साथ चोदेंगे. इस बीच मैंने एक साफ्ट ड्रिंक दो गिलासों में निकाला और फिर वही दवा उसके गिलास में मिला दिया.

पर आज तेरे इस वेल-मेंटेंड गुजराती जिस्म की चूत, गांड, मुँह और मम्मों का भोसड़ा बनाकर रख दूँगा समझी? बहनचोद तुझे इतना चोदूँगा कि तुझमें उठने का दम ही नहीं रहेगा. एक हफ्ते में मैंने मौसी की चूत का भोसड़ा बना डाला था और कई बार गांड भी मार चुका था. माँ ने आंड को छुआ तो भैया जाग गए, बोले- मम्मी मम्मी क्या कर रही हो.

एक महीने के बाद बुआ के पास ले गईं तो बुआ ने मेरे लंड को पकड़कऱ खोला तो चमड़ी आराम से खुल गई.

मम्मी का वजन करीब करीब पचास किलो का होगा, वे एकदम छरहरी देह की हैं. चड्डी ऊपर कर और यहां से जा!मैंने कहा- पर चाची मेरा नुन्नू दर्द कर रहा है और छोटा भी नहीं हो रहा है. बाद में मैं आंटी को किस करने लगा और जब आंटी का दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं झटके मारते हुए आंटी की गांड मारने लगा.