पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर

छवि स्रोत,देवर भाभी सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गर्ल्स एक्स एक्स: पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर, कई बार उसे चोदते टाइम मैं उससे डोली और पूजा को चोदने की बात किया करता था.

देहाती लड़की की

लेकिन मैंने कोमल को बोल दिया- तेरे दोस्त तुझे ही मुबारक! अब मुझे मत बोलना किसी से चुदने के लिए![emailprotected]. देसी सेक्सी वीडियो एचडी मेंउनके होंठों का स्पर्श मुझे अपने लंड पर मिलते ही मानो मुझे जैसे जन्नत मिल गयी हो … ऐसा लगा.

पर पहल कौन करे ये दोनों को समझ में नहीं आ रहा था,फिर शुरू हुआ बातों का सिलसिला … साथ में कॉफी!आठ बजे हम दोनों घूमने के लिए निकले. सेक्सी पिक्चर वीडियो नंगी सीनइतवार का दिन था, ममता आज की छुट्टी ले चुकी थी, इसलिये मैंने खुद ही ब्रेड ऑमलेट बनाकर नाश्ता किया और चाय का मग लेकर ड्राइंग रूम में आ गया.

फिर कुछ देर बाद उनके दोस्त ने मुझे कहा- चल साली, अब तू झुक जा … अब तेरी गांड मारनी है मुझे!मैं तुरंत बोली- नहीं … वहाँ नहीं! फुद्दी में कर लो … वहाँ नहीं!मगर वो नशे में था … उसने मुझे बॉस नंगे जिस्म के ऊपर लेटा दिया और मेरे पीछे आ गया.पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर: अंकल ने दीदी की चुत में अपने पूरे लंड को पेलने के लिए एक जोर का धक्का मारा, तो दीदी छटपटा उठीं और उनके कंठ से ‘आआहह ऊऊओहह्ह आआह्ह ननाआआईई धीईरे ईईए.

अगर कहानी में आपको मजा आ रहा हो तो मुझे अपने मेल और कमेंट्स के जरिये प्यार दें.आपने अब तक की चुदाई की कहानी के पहले भागआंटी के साथ चुदाई की सुनहरी रात-1में पढ़ा था कि मारिया आंटी ने मेरा लंड पकड़ लिया था और वे मेरा लंड चूसने लगी थीं.

देसी हिंदी पोर्न - पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर

अपने हाथ को नीचे सरकाते हुए मैं उसकी चूत की दरार पर उंगली घुमाने लगा.आह्ह … ओह्ह … स्स्स … करके वो मेरे होंठों के चुम्बन से मदहोश हो रहे थे.

फिर भी दीदी के सामने मेरा शर्मीला रूप ही जाहिर रहा और मैंने फटाफट कपड़े पहन लिए और दीदी से चलने को कहा. पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर वो बोली- कैसे?मैंने कहा- आपकी ये आंखें किसी को भी घायल कर सकती हैं।वो बोली- अच्छा … और?मैंने कहा- आपकी घुंघराली काली जुल्फें, जो सावन की घटा की तरह हैं, कोई भी इनका दीवाना हो जाये.

मैं अपने एक हाथ से कभी अपने कड़क उरोजों को आटे जैसा गूंथती, तो कभी चुदाई कराती चूत के दाने को सहलाती.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर?

अगर सेक्स करने का तरीका सही है तो फिर औरत को संतुष्ट करना कोई मुश्किल काम नहीं है. मैं जिस शहर में जॉब करता हूँ … वहां हम लोगों के आग्रह पर मेरी वाईफ संजू के बड़े भाई नीरज और भाभी प्रियंका का आने के प्रोग्राम तय हो गया. उन्होंने मेरे तीनों छेदों को चोदा उस रात!तो यह थी अंतर्वासना पर मेरी दूसरी कहानी! आपको होटल में मेरी पूरी रात चुदाई की कहानी कैसी लगी? आप मुझे ईमेल कर सकते हैं, कहानी के नीचे कमेंट्स कर सकते है.

कुछ दिन बाद उसने मुझे एक फ्लैट की चाबी और एक क्रेडिट कार्ड दिया और बोला- लो … इससे फ्लैट का रेंट दे देना अब खुश हो न!मैं बहुत खुश हुई और उसे एक किस कर दी. सपना- अच्छा … तो देर क्यों कर रहे हो आओ ना देखूँ … कितना दम है तुममें और तुम्हारे लंड में … आओ मसलो मुझे. दीदी ने एक लंबी गहरी ठंडी सांस लेते हुए, मेरी ठोड़ी को पकड़कर हिलाया और कहा- मेरी बहना रानी, तुझे तो जो भी भोगेगा … वो दुनिया का सबसे खुशकिस्मत इंसान होगा.

उसके साथ साथ वो मुझे इधर उधर किस भी करने लगी, मेरे अण्डों को भी वो चूसने लगी. मैंने अपने हाथ से लंड को 4-5 झटके मारे, तो मेरे माल की लंबी व गाढ़ी पिचकारी नीतू के चेहरे पर गिरी. मॉम की उम्र 39 साल के करीब है लेकिन उन्होंने खुद को इस तरह से मेंटेन करके रखा हुआ है कि वो 27-28 साल की जवान लड़की की तरह दिखती हैं.

मैं उनके पास आ गया और एक प्यारी सी मॉर्निंग किस उनके माथे पर दे दी. इस तरह मैंने उसे रात भर में 4 बार चोदा और हम दोनों ऐसे ही नंगे सो गए.

रात तो मैंने बिस्तर में छटपटा कर ही काटी और दूसरे दिन सुबह से ही मैं नहा धोकर पास के मंदिर में जाकर माथा टेक आई.

लंड बाहर निकलते ही उसने अपने दोनों हाथ पीछे की तरफ ज़मीन पर रखे और जोर जोर से सांस लेने लगीं.

फिर भी वो मेरे हर धक्के को झेल रही थीं क्योंकि वो मुझसे आज पूरी तरह से चुदना चाहती थीं. इतना सुनते ही मेरे बांछें खिल गयी।फिर मैं अपनी खुशी छुपाते हुए मम्मी से बोला- क्यों जाना है लखनऊ?मम्मी बोली- तुम्हारे पापा के दोस्त की शादी की सालगिरह है। पापा को छुट्टी नहीं मिली इसलिए तुमको जाने को बोला।मैं मुँह लटका कर बोला- ठीक है, चला जाऊँगा।मैंने रात को रवि को कॉल किया कि मैं दो दिन बाद तुम्हारे पास पहुँच रही हूँ. अभी मेरा स्टेशन दूर था लेकिन मेरे दिमाग़ में कुछ और ही खुराफात चल रही थी।अब मैं ट्रेन में तो सब के सामने चुद नहीं सकती थी तो इसी लिए मैं यहाँ उतर गयी.

कुछ देर के बाद वो बाहर निकली और कहने लगी कि अब सोने की तैयारी करते हैं. मगर जब तुमने मेरे पेनिस को सक करने के लिए अपने मुंह में लिया तो मुझसे रहा न गया. जब मैंने वो कमरा देखा तो मुझे पसंद आ गया और मैंने वहां रहना शुरू कर दिया.

अंशी बोली- तुम बहुत बड़ी कमीने हो, पहली ही बार में अपना पानी ऊपर डाल दिया.

इस लंड राइडिंग करने वाली पोजीशन में मुझे बहुत अच्छा लगता है और मैं एक बार फिर से झड़ गई. मेरे कमरे में आकर उसने मुझसे कहा- मेरे कॉलेज में मुझे एक प्रेजेंटेशन बनाने के लिए बोला गया है और मुझे बनाना नहीं आता … तो क्या आप मेरी हेल्प कर दोगे?मैंने उससे बोला- हां कर दूंगा. कभी सुबह आठ बजे आती तो कभी रात को आठ बजे आ जाती कि दादू ये बता दीजिये, दादू वो बता दीजिये.

उसने मना किया और कहा- कभी और गांड मार लेना … अभी नहीं … अभी तो मुझे अपनी चूत में लंड का मजा लेकर अपनी पूरी संतुष्टि करवानी है. वो परमीत के दूध मसलते हुए बड़बड़ा रही थी- साली बड़ी गर्मी है तेरे अन्दर … रूक अभी तेरी गर्मी निकालती हूँ. उसने पल भर में अपने बाकी के कपड़े भी उतार फेंके और तब तक मैंने भी अपनी कुरती को बाहर कर दिया.

मैंने उसी से पूछा- दीदी ऐसा क्यों कर रही है … एक ब्वॉयफ्रेंड ठीक है यार.

हफ्ते भर जब तक हम वहां रहे हम तीनों ने चोरी छिपे चुदाई के मजे लिये. कुछ देर बाद बाहर से मम्मी की आवाज़ आई … मैं आंखें मींसता हुआ दरवाजे की तरफ गया और दरवाजा खोला … मैंने देखा मम्मी और दीदी वापस आ गई थीं.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर मैंने तेल की शीशी से तेल अपनी हथेली पर लिया और उसकी गोरी जांघों की मालिश करना शुरू कर दिया. आपको मेरे इस अहसास के बारे में कुछ कहना हो तो मुझे अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर बतायें.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर मैंने एक हाथ को स्नेहा भाभी के चूचों पर रखा और दूसरे हाथ से उनकी कमर को प्यार से सहलाने लगा. इधर मैं आलिया के मम्मों को मसल रहा था, तो उधर जीजा जी दीदी के मम्मों को मसल रहे थे.

साथ ही सिल्क ने भी ठीक वैसी ही घड़ी मेरे लिए ली जिसको मैंने भी तुरंत पहन लिया.

ट्रिपल सेक्सी वीडियो पिक्चर

ये सब देखने से अब ये स्पष्ट हो गया था कि हम लोगों की ही तरह वो दोनों भी सेक्स फैन्टेसी, रोल प्ले आदि में पारंगत हैं. देखो गीत, मैं तुम्हें बहुत चाहता हूँ … लेकिन मुझे पता है लड़कियां जिसे दिल में बिठाती हैं, उससे ही शादी करना चाहती हैं … और मैं अपने घर की हालत की वजह से बहुत जल्दी शादी करने वाला हूँ. उस पर परमीत और मनु ने मुझे बार-बार संदीप के नाम से छेड़ कर और बेचैन कर दिया.

मेरी फुदी से मेरा लावा बह कर मेरी जांघों तक आ चुका था और मेरी फुदी से फ़च फ़च की आवाज़ें आ रही थी. मैं उसकी जांघों पे बैठ कर उसकी पैंट निकलने लगा तो सिल्क ने चूतड़ उठा कर सहयोग किया. उसका तना हुया सख्त लंड मेरी गीली फुदी के होंठों का स्पर्श पाते ही हिचकोले मारने लगा और मेरी फुदी के अंदर जाने को बेताब होने लगा.

प्रीत ने आदी से कहा- कल रात में तुमने मेरी आंख पर पट्टी बांध कर मेरा लंड चुसाई की थी … आज बिना पट्टी के लंड चूसना चाहोगे?ये सुन कर आदी मेरी तरफ देखने लगा.

मुझे किसी भी प्रकार से मजा नहीं आ रहा था, बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था क्योंकि उसका लंड बहुत ही मोटा और तगड़ा था।उसको बर्दाश्त कर पाना मेरे बस के बाहर था. उसने जवाब दिया- आप कौन? क्या आप मुझे जानते हैं?मैंने कहा- नहीं जानता! बात करते करते जान जाएंगे. केशव ने तब तक स्टूडियो तैयार कर दिया था क्योंकि एड एक व्यस्क उत्पादन का था तो लाज़मी है कि मॉडल्स को आधी नंगी होना था.

दीदी की चूत पर घने बालों से मुझे कोई आश्चर्य नहीं हुआ, क्योंकि परमीत ने पहले ही बता रखा था कि हम सरदारियां शरीर के किसी भी हिस्से के बाल साफ नहीं करतीं. बहुत किस्मत वाले होंगे वो लौड़े जो इस गर्म चूत के अंदर तक घुसे होंगे. कोई 15 मिनट बाद मैंने ही अपने आपको रोका और मोनिका से कहा- जन्नत कब ले चलोगी!वो हंस दी और बोली- जब तुम कहो.

इंटरवल में राजन ने ममता से पूछा- क्या लोगी?तो ममता बोली- पॉपकॉर्न और एक ही कोल्ड ड्रिंक मंगा लो. दीदी ने सिगरेट का कश खींचते हुए अपने मुँह का स्वाद ठीक किया और दारू का मजा लेने लगीं.

आज मैं आपके सामने अपनी उसी सहेली सुमन के मन की बात यानि उसके दिल की फिलिंग्स के बारे में बता रही हूं कि उसके मन में सेक्स को लेकर क्या क्या भावनाएं आती हैं. फिर उन्होंने मुझे कुतिया बनने का इशारा किया और मैं अच्छी बच्ची की तरह उनकी बात मान कर कुतिया बन गयी. साथ ही सिल्क ने भी ठीक वैसी ही घड़ी मेरे लिए ली जिसको मैंने भी तुरंत पहन लिया.

फिर मैंने एक शर्ट सागर के लिए भी देखी और उसे ट्राई करने के लिए दे दी.

मैंने पूछा- कैसा लग रहा है?पूरा बदन सिहर उठता है और लिपट जाने को जी करता है. उसने पीछे से अपना लंड मेरी चुत में डाला और अपने दोनों हाथ से मेरे कंधे को पकड़ कर मुझे चोदना चालू कर दिया. कोई बीस मिनट बाद मेरे लंड का पानी निकलने वाला था, पर इतनी जल्दी झड़ता, तो निधि नाराज़ हो जाती.

मेरी पिछली कहानी थी:अन्तर्वासना ने मिलाया भाभी सेआज मैं आपको अपनी एक ऐसी कहानी बारे में बता रहा हूं जो आज से लगभग 5-6 साल पहले मेरे साथ घटी थी।मैंने नई-नई बैंक जॉब ज्वाइन करी थी और ट्रेनिंग लेकर कोलकाता से वापस आ रहा था। शालीमार से चलकर कुर्ला तक जाने वाली ट्रेन थी. मैंने देखा कि जीजा का लंड उनके अंडरवियर में पूरा जोश में आ चुका था.

उस जवान लड़की की चूत को लैंड मिल जता है और मुझे एक गर्म चूत!मजा ही मजा है. मैं धीरे धीरे उनकी भारी भरकम भरी हुई जांघों पर तेल की मालिश करके दबाने लगा. मैं तो मचल उठी।मेरा भाई मेरी चूचियों के ऊपर के नग्न भाग को चूम रहा था.

नंगी नंगी सेक्सी पिक्चर वीडियो

तब वसुंधरा की योनि के लंबवत होंठ मेरे होंठों से ज्यादा से ज्यादा तीन-चार इंच ही परे रहे होंगे और मैं नाईटी और पैंटी के आवरण के अंदर छुपी वसुंधरा की योनि से उफ़नते हुए काम-ऱज़ की तीख़ी और नशीली महक से दो-चार हो रहा था.

तुम तैयार हो न?मैं बोली- अब हो गया न … अब कितना करोगे?अभी तुमको मजा कहाँ मिला मेरी जान … अभी तो तुमको मजा देना बाकी है. अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी और मैं उसके बूब्स चूस रहा था। मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत के मुख में रख दी और उसे धीमे धीमे सहलाने लगा और वो लगातार सिसकारियां ले रही थी।मैंने अब अपनी एक उंगली धीरे धीरे उसकी चूत के अंदर डाल दी. आप मुझे नीचे दी गई मेल आईडी पर मैसेज करके अपना संदेश छोड़ सकते हैं.

मैं- अरे काहे का हेल्प? टाइम कहाँ रहता है उनके पास … सारा दिन बस दूकान दूकान, वैसे मैंने भी इलेक्ट्रॉनिक्स में बीई किया है. अब मैंने अपना एक हाथ चाची के मम्मों पर रख दिया और उन्हें दबाने लगा. न्यू ब्लू फिल्मउसने ऐसा कहते-कहते अचानक लंड बाहर निकाल लिया और चूत के ऊपर ही झड़ने लगा.

वो अपनी जेब से फोन निकाल कर फिर से मेरे भाई का नम्बर मिलाने लगा तो मैंने उसका फोन छीन लिया और उसी की जेब में डाल दिया. प्रीति भी मुझ से चुदवाना चाहती थी लेकिन डरती थी कि कहीं बच्चा ना रुक जाए.

यह कहानी लिखने का मेरा इरादा आपको किसी गलत दिशा में निर्देशित करने का नहीं है. फिर अपने हाथ चूतड़ों की तरफ लाते हुए मेरे पजामे को भी नीचे सरकाने लगा. और फिर मैं उसके होंठों को जीभ से चाटते हुए उसके पूरे चेहरे को चाटने लगा और वो सिसकारी भरने लगी.

वो झड़ने के पहले ही बड़बड़ाने लगा- ओहह गीत … आई लव यू गीत … तुमने तो जन्नत की सैर करा दी … मेरा जीवन सफल कर दिया. मुझे उम्मीद है कि आपको लेस्बियन सेक्स की यह कहानी पढ़ कर मजा आया होगा. अब समय आ गया था कि चूत से एक वास्तविक लंड का मिलन हो, पर मेरे मन में एक भय था.

उसके बाद उन्होंने सही निशाना लगा कर मेरी चूत में एकदम से लंड को घुसा दिया.

फिर मैं बोला- आज रात हम तुम्हारे घर नहीं, यहां स्टूडियो में गुजारेंगे. मैं उसके कूल्हों के साथ खेलते हुए उसकी गांड में उंगली फिरा रहा था।साथ ही जब मैं चूत की फांकों पर दांत रगड़ने लगता तो सी-सी करती हुई सायरा चूत को बचाने का प्रयास करती.

अब वो दोनों भी बिल्कुल तैयार थे, उनके दोस्त ने मुझे गोद में उठा कर बिस्तर पर पटक दिया!बॉस बिस्तर पर लेट गए और मुझे कहा- चल साली आजा मेरे लंड पे बैठ!मैंने उनके लंड को फुद्दी में लगा के अंदर कर लिया और लंड पर कूदने लगी. इतना कहकर मैंने शैली की बुर के लब खोलकर अपने लण्ड का सुपारा रखकर ठोंका तो सुपारा बुर के अन्दर हो गया, इसके बाद मैंने धीरे धीरे दबाकर लण्ड अन्दर करना शुरू किया तो आधा लण्ड भी अन्दर नहीं जा पाया. घर आकर राजन ममता को गुड नाईट बोल कर अपने रूम में जाने को ही था कि ममता ने पूछा- कॉफ़ी पियोगे?अब बात भाई साहिब से शुरू होकर मेनेजर साहब पर होती हुई ‘पिओगे’ पर आ गयी थी.

कोई 10-12 मर्तबा अप-डाउन करने के बाद मैंने जेबा की कमसिन जवानी क़िले के फाटक को तोड़ कर घुसने की कोशिश की, लेकिन असफल रहा. मैंने गाड़ी एक तरफ रोकी और उसकी चूचियों को सहलाते हुए उसके होंठों को अपनी ओर करके उसे किस करने लगा. लेकिन उन्होंने मुझे पलट दिया, मुझे पेट के बल लेटा कर फिर से मेरी गांड में अपना लंड डाल दिया।हमने फिर से गांड चुदाई का मजा लिया और ऐसे ही तेज धक्के मारते हुए वे मेरी गांड में ही झड़ गए।फिर मैं उठी और नहाने चली गई.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर मैं तो उसके नीचे लेटने के लिए तैयार थी, तो उसके बैठने की बात भला कैसे टालती. पांच मिनट की धक्का परेड के बाद राजन ने अपना माल शोभा की चूत में ही निकाल दिया.

सेक्सी अपलोड

आज साला मादरचोद इतना बुरा दिन था कि अपनी बीवी के होते हुए अपना लवड़ा खुद हिलाना पड़ रहा था. मैंने चाची से कहा- मैंने आपको चुत में उंगली करते देखा है और मुझे ये भी पता है कि बाजू वाले अंकल से आपका चक्कर चल रहा है. मैंने कहा- इसमें नया क्या है?उन्होंने कहा कि इसके आगे मैं तुम्हें नहीं बता सकती.

किसी काम के सिलसिले में आई थी तो सोचा आपसे मिल कर आपका शुक्रिया अदा कर दूँ. शायद पर तुरंत संभलते हुए बोलीं- मन क्यों नहीं करता, पर आपके भाई साहब को क्या कहूँगी. વીડિયોમાં બીપીमेरा दोस्त कान में कहने लगा लगता है, तू भी इसे देख कर पागल हो गया है.

संगीता चिल्लाई और खुद ही अपनी हथेली से अपना मुंह दबा लिया, थोड़ी देर बाद बोली- तुम बहुत गंदे हो.

संगीता की कमर पकड़कर चोदना शुरू ही किया था कि सीढ़ियां चढ़ती मीना की आवाज सुनाई दी. तुम्हारा लंड खाने आ जाऊंगी!मेरी चाची कामुकता के अधीन लगातार बोल रही थी- आंह … चोद दो मुझे … आह ऐसे ही और जोर से चोदो … मेरा पति मुझे बिल्कुल नहीं चोदता … आह … घुसा दो पूरा लंड मेरी चुत में … भर दो चुत को … उन्ह.

आपको मेरी सहेली की कल्पना कैसी लगी इसके बारे में मुझे अपनी राय से अवगत करायें. क्योंकि मैंने उसे काफी बार नोटिस किया था कि मेरी ब्रा और पैंटी अक्सर गायब हो जाते थे. वैसे मंदिर जाना मेरे लिए नई बात नहीं थी, पर आज मैं भगवान से कुछ खास मांगने गई थी.

अगर आप लोगों का रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं अपने साथ हुई घटनाओं के बारे में और भी काफी कुछ बताऊंगा.

अब वो मेरे पेट को, नाभि को चूमने लगा।मैं पागल सी होने लगी तो उसने कुर्ता निकालने को कहा. फिर अपने खड़े लंड में कंडोम लगा कर उसकी चुत में रखा और एक तेजी से शॉट मार दिया. इसी कमरे में हमने अपनी सुहागरात मनाई है, यह बिस्तर मेरी सुहाग की शैय्या है … यह बिस्तर अपने देवता से मेरे मिलन का गवाह है.

हिंदी ब्लू फिल्म एक्स एक्स एक्सफिर श्वेता दीदी ने अपने ब्रा के अन्दर से एक कागज निकाला और दीदी को देने लगी. ’मगर मैंने भाभी की बात को अनसुना कर दिया और उनकी चूत के दाने को मींजने लगा.

सेक्सी विडियो हिंदी ओपन

आदी- नहीं … मैं बता दूंगा … तुम मेरे लिए कुछ नहीं कर रही हो … और न ही मुझे बाहर कुछ करने दे रही हो. दीदी के बाद डिल्डो से मेरी चुदाई होनी थी, तो जाहिर है, मैं अपनी बारी का भी इंतजार कर रही थी. कुछ देर बाद चाची झड़ गईं, तो मैंने अपना लंड निकाल कर उनके मुँह में दे दिया और वो लंड चूसने लगीं.

वो कहने लगीं- बाबू तुम तो बहुत मजा देते हो … तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले. फिर संदीप अपनी जीभ बाहर निकाल कर मेरे नाजुक जिस्म पर फिराते हुए ऊपर की ओर बढ़ने लगा. ज्योति मेरे पास आकर खड़ी हुई तो मैंने उसकी स्कर्ट ऊपर उठाकर उससे कहा- पैन्टी नीचे खिसकाओ.

अगले दिन शिल्पा आंटी घर आईं, तो मम्मी ने उन्हें अंकल के बारे में बता दिया. अंकल ने मेरी चूत में ही अपना सारा वीर्य छोड़ दिया और निढाल होकर मेरे ऊपर गिर गए. गुरू के डैडी तो हमेशा दुबई में रहते हैं और यहां मेरी जवानी तड़पती रहती है.

मैंने भाभी से एक दिन पूछा- भाभी, आपके सामने मैं इसकी चुदायी करता हूँ … तो आपका मन चुदने का नहीं करता?भाभी उसके सामने मेरे इस प्रश्न के लिये तैयार नहीं थीं. मैं उसकी इस बात का अर्थ समझने की कोशिश में उसकी आंखों में आंखें डाल दीं.

अब मोना ने डोली की चुत के नीचे एक तकिया लगाया, जिससे उसकी चुत कुछ खुल सी गई.

मैं कमरे में आकर सीधा बाथरूम में चला गया और आलिया के हॉट फिगर के बारे में सोचकर मुठ मारने लगा. तेलुगु भाभी की चुदाईमगर दोस्तो, मेरा डर सच साबित हुआ और कुछ ही देर बाद उसका लंड फिर से खड़ा हो गया।इस बार मैंने बोला- मैं चूस कर आपका पानी निकाल देती हूं. देसी गांव की लड़की की चुदाईउनकी हर बात मुझे बहुत पसंद आती थी।तब मैंने उन्हें बताया कि मैं एक साथ दो मर्दों के साथ सेक्स करना चाहती हूं. अविनाश- तुम दोनों ने जितना दिन भर हमें परेशान किया था … उसका मजा हमारी बारी ने चुका दिया है.

अंकल मेरी मां की गांड की चुदाई इतने जोर से कर रहे थे कि उनके टट्टे मेरी मां के चूतड़ों पर आकर टकरा रहे थे और चट-चट-चट की आवाज हो रही थी.

कुछ पल बाद मैंने स्नेहा भाभी को पीठ के बल लेटा दिया और उनकी दोनों टांगों के बीच में आ गया. मन में ऐसा रोमांच और डर सुहागरात वाली रात को हुआ था या अब हो रहा था।कुछ दिन बाद मेरा भाई आया और बोला- तनवी बेटी को मेरे साथ भेज दे. मुझे मालूम पड़ा कि प्रीति का फोन बज रहा है लेकिन चुदाई में कोई इंटरफीयर करे … ये बर्दाश्त के बाहर था इसलिए मैंने फोन पर ध्यान नहीं दिया और चुदाई चालू रखी.

उन्होंने मुझे घुमा कर मेरी पीठ अपनी तरफ करी और पीछे से मुझे अपनी आगोश में ले लिया. अब की बार वह झड़ने का नाम नहीं ले रहा था। मेरी चूत में भी दर्द होने लगा था. कुछ देर तक मैं वैसे ही घुटनों के सहारे बैठे बैठे ही जेठजी का लंड चूसती रही, पर जल्दी ही मेरे घुटने दुखने लगे, इसलिए मैं उठ खड़ी हुई.

तमिल हिंदी सेक्सी वीडियो

मेरे मन में भी डिल्डो चूत में लेने का कीड़ा काटने लगा, तो बदन में सिरहन बढ़ने लगी. मैंने ज्योति से कहा- बेटा तुम मानो या न मानो राकेश ने तुम्हें चोदा तो है. मेरी मॉम चूत चुदवाते हुए उम्म्ह… अहह… हय… याह… इश्शस … करके बार-बार सिसकारियां ले रही थी.

कोई दस मिनट पीठ दबाने के बाद, भाभी बोलीं- वो दवाई वाला तेल भी लगा दे.

साकेत भैया दीदी को फिर से बेड पर लिटाया और दीदी से पूछा- प्रिया … थोड़ा सा तेल मिलेगा!दीदी कराहते हुए- टेबल पर होगा.

मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और मेरे लंड से निकले वीर्य ने भाभी की चुत को भर दिया. मुझे तो जैसे बिजली का करंट लग रहा था, मेरे मुँह से नशीली सिसकारी निकलने लगी- आआअह आओअह्ह अह्ह्ह ऊईईई!क्या मस्त फुद्दी है तेरी जान!” और वो मेरी फुद्दी को उंगली से फैला के उसके दाने को हल्के हल्के सहलाने लगे. ऑंटी क्सक्सक्समैं बोली- अच्छा ठीक है … वैसे बाबू क्या तुमने मेरे कपड़े देखे हैं, पता नहीं कहां चले जाते हैं … मिल ही नहीं रहे हैं.

क्योंकि एक तो वो मुझसे उम्र में काफी बड़ी थीं … और दूसरा मेरे ही कॉलेज में जॉब भी करती थीं. पूरा लंड एक ही बार में अन्दर लेकर खुद ही अपनी चुत को उठा उठा कर पटकने लगी. अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसे पागलों की तरह एकदम जंगली तरीके से किस करने लगा.

आज स्वीटी आंटी गुजराती एक्ट्रेस पूजा जोशी से तेजस्विनी प्रकाश जैसी दिखने लगी थीं. खाला ने मुझे बताया कि मैंने ज़ेबा को कह दिया है कि परवेज तुमसे मिलना चाहता है.

मैंने उसी से पूछा- दीदी ऐसा क्यों कर रही है … एक ब्वॉयफ्रेंड ठीक है यार.

आई लव यू डियर!फिर हम दोनों साथ में नहाए और फ्रेश होकर हमने खाना मंगवाया. मुझे पता था कि अगर लड़की के साथ सेक्स का पूरा मजा लेना है तो उसको पूरी तरह से गर्म करना चाहिए. ये आदमियों के थोड़े सांवले रंग के लंड जैसे कलर का था, जो परमीत के ट्रांसपेरेंट डिल्डो से काफी अलग था.

मारवाड़ी बफ तभी अचानक जेठजी ठीक मेरे बगल में आकर बेसिन के पास खड़े हो गए और मेरे द्वारा मले बर्तनों को धोने लगे. मगर समझ नहीं आ रहा था उसको अपने दिल की बात कैसे बताऊं कि मैं उसके साथ ये सब करना चाहता हूं.

जैसे ही मैंने जीभ रखी उसकी चीख निकल गई ‘अआह …हह…मैं बोला- क्या हुआ?बोली- बहुत अच्छा लगा. बहनचोद था ही इतना हैंडसम, कई चूतों को पटा कर रखा होगा इसने गारंटी के साथ. कहानी के पिछले भागऑफिस गर्ल की दोबारा चूत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मैंने अपने दोस्त के रूम पर अपने ऑफिस की लड़की की चूत चुदाई करके उसकी चूत को लाल कर दिया था.

ইংলিশ সেক্স ব্লু ফিল্ম

तभी दीदी ने कहा- अरे घर पर भी ब्रा पहने रहती हो क्या … ऐसे में तो बीमारी हो जाएगी. उसने तुरंत अपना लंड निकाला और एक ही झटके में मेरी चूत में लंड उतार दिया … जिससे मेरा दर्द और बढ़ गया. दीदी ने ट्रे रखते हुए कहा कि घर के सभी बाहर गए हुए हैं … दो दिन और नहीं आएंगे, तो मैं बाजार से कुछ सामान लेकर आ जाती हूँ, तब तक तुम लोग बातें करो.

फिर अंकल ने मुझसे कहा- मेरी एक इच्छा है!मैंने कहा- बताइए?अंकल बोले- ऊपर से शावर चल रहा हो … पानी की बूंदों में हमारे नंगे शरीर दिख रहे हों और तुम अपने घुटनों पर बैठ कर मेरा लंड चूसो।उनकी खुशी के लिए मैं घुटनों पर बैठ गई और उनके सोए हुए लंड को चूसने लगी. उनके जाने के एक मिनट बाद हम दोनों भी खड़े होकर उसी कमरे में चले गए.

अब तो मेरा मन भी करने लगा था कि अपनी बहन के साथ अपनी भी चूत की चुदाई करवा लूं.

लेकिन इन अंकल ने मेरी दीदी के ऊपर एक ऐसा अहसान किया था, जो वाकयी इस तोहफे का हकदार था, जो अंकल ने किया था. जैसा कि मैंने ऊपर भी बताया था कि मैंने कभी सेक्स नहीं किया था, मगर सेक्स के वीडियो बहुत देखे थे … उस कारण मुझे सेक्स का काफी ज्ञान था. हे भगवान, तूने वो फोटोज देखे तो नहीं?” मेरी बात पर वो मूक बना खड़ा था।बोल, बोलता क्यों नहीं… ” मैंने गुस्से से पूछा.

इससे मेरी हिम्मत बढ़ गयी और मैंने दूसरी बार फिर से अपनी कोहनी उसके मम्मों पर कुछ जोर से दबाई. उनके अनुभव … और किसी गैर के पहले स्पर्श ने मुझमें सिहरन पैदा कर दी थी. लेकिन फिर मैंने उनसे कहा- करनी तो मुझे हर चीज है क्योंकि एक ही लाइफ है … बार-बार नहीं मिलती.

मैं उसके और उसके बॉस के साथ मजे लेने की बात कर रही थी कि तभी पीछे से बिक्कू आ गया.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर: एक मिनट बाद आलिया को दर्द से मुक्ति मिल गई और अब मैं उतने ही लंड को चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. मम्मी- आआह शिल्पा … क्या कर रही हो?आंटी बोलीं- आज तुम मुझे अपने दूध पिला दो.

फिर लंबे इंतजार के बाद मनु की झलक दिखी और जब वो पास आई, तो मैंने आवाज की गति से उसे गाली देना प्रारंभ कर दिया. प्रीति के शब्दों में:मेरा भाई मदहोश होकर मेरे होंठों का रस-पान कर रहा था। वो मेरे बदन पर हाथ फेरते हुए किस कर रहा था। मैं भी उसका भरपूर साथ दे रही थी। धीरे धीरे उसने उसने दोनों हाथ मेरे शर्ट के नीचे डाल दिए और उसके हाथ मेरी नंगी पीठ को सहलाने लगा।मैं उसकी मजबूत बांहों में जकड़ती जा रही थी। उसके हाथ मेरी ब्रा तक पहुंच चुके थे। वो ब्रा खोलने की कोशिश करने लगा मगर ब्रा उससे खुली नहीं. थोड़ी देर बाद, भाभी ने कहा- और अच्छे से कर ना … मैं स्ट्रीप खोल देती हूँ.

तभी वो बोली- देवर जी, कहां खो गए?मैंने अपने आपको सम्भालते हुए कहा- कुछ नहीं भाभी … बस लाइफ़ में पहली बार इतने पास से आपकी ख़ूबसूरती देखी है.

मैंने दीदी की गीली पैंटी निकाली और उसको मुंह पर लगा कर लंड को रगड़ने लगा. वो गिड़गिड़ाने लगी तो भाभी मुस्कुरा कर बोलीं- अच्छा अब जा … जब इच्छा हो, तो बोल देना. मैंने भाभी की टांगों को फैलाया और उनकी चूत पर अपने होंठों को रख दिया.