बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में

छवि स्रोत,बीएफ बुर चोदने वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

ऑंटी सेक्सी व्हिडीओ: बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में, पर मैंने भी अब सोच लिया कि प्यार नहीं सही, हम दोस्त तो बने रह ही सकते हैं.

बीएफ पिक्चर इंडियन बीएफ

अब उसका भी ध्यान भटकने लगा और उसकी नज़र बार बार मेरी चूचियों की बीच की घाटी और मेरी आधी खुली नंगी जांघ पर जाने लगी. सेक्स सेक्सी बीएफ ब्लू फिल्मउससे मिलकर मुझे अपनी बहन की चुदाई वाली फीलिंग आती है और मैं संतुष्ट हो जाता हूं.

वो पक्का जवानी में बहुत गांड मरवा चुकी थी।अब मैं फुल स्पीड से चोदने लगा और झटके मारने लगा. एक्स एक्स वीडियो बीएफ सेक्सी वीडियोवो खुश होते हुए बोली- कहां रहते हो?मैंने कहा- पास में ही मेरा फ्लैट है.

मैं यहां बता देना चाहता हूँ कि उस समय मोबाईल फोन तो आ गए थे … मगर बस पैसे वाले लोग ही इस्तेमाल करते थे.बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में: डायरी में पिंकी ने अनिल द्वारा बनायी गयी रवि के लिए सभी बातों और रवि से सेक्स न करने की बात का भी जिक्र किया था.

मैं भी रसोई के सामने डायनिंग हाल में बैठ गया और सायरा को चाय बनाते हुए देखने लगा.मैं अपने लंड को शायरा की चूत में गहराई तक अन्दर घुसा रहा था, पर ऐसा मैं धीरे धीरे और बिल्कुल आराम आराम से ही‌ कर रहा था.

सादा सेक्सी बीएफ - बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में

अभिषेक मुझे शायद पहली ही बार ब्रा में देख रहा था और उस ब्रा में मेरी 34 की चुचियां काफी हद तक खुली ही थीं.वो- क्या हुआ?मैं- कुछ नहीं … बस तुम्हारे ये हां करने की बात हजम नहीं हो रही है.

फिर भाभी ने मेरा लोअर खींच निकाला और चित लेट कर मुझे अपने ऊपर ले लिया. बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में तुम ये उम्मीद मत करना कि मैं सिर्फ तुम्हें ही टाइम दूंगा क्योंकि मुझे पता है शादीशुदा औरतें मुझे इतना टाइम नहीं दे सकतीं.

फिर भी अगर आपको कुछ ज्यादा ही खराब लगे … तो आप कॉमेंट्स में मुझे गालियां भी दे सकते हैं.

बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में?

इसके साथ जब मैंने उसके मम्मों को दबाना शुरू किया, तो वो सिसकारियां लेने लगी. पिंकी चुदवाते हुए बोली- तुम सिर्फ बातें करते हो … और जब तक अनिल गर्म होता है, तो तुम उसे भगा देते हो. आज पहली बार मेरी मासी के दूध मेरे सीने से छू रहे थे, तो मेरी बॉडी में करंट सा लगा.

हालांकि वो लौंडा स्वाति से मिलने अब भी आता था मगर अब वो सिर्फ स्वाति को चोदने के लिए आता था. अब आगे:उसकी चुत की दोनों फांकें एक दूसरे से चिपकी हुई थीं … मगर कचौड़ी के जैसे बिल्कुल फूली हुई थीं. कुछ देर बाद उसने मेरी गांड पर हाथ लगाया और मुझे ऊपर नीचे करने लगा,मैंने उसके हाथों को हटाया और अपने घुटनों को मोड़ कर, उसकी छाती पर लेट गया.

बिन्नी की सांसें फिर तेज हो गईं और उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं. सब तीनों को कमेंट्स कर रही थीं- शाबाश रंडियो … गांड में भी पूरा लो ये मूसल … फड़वाओ अपनी अपनी गांड … चुदो रंडियो. चाचा जी मेरे बगल में आकर लेट गए और लंड को मेरे मुँह के पास करके बोले- ले मुँह से ही सहला दे.

फिर क्या हुआ?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।मैं राजदीप एक बार फिर से अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पर आपका स्वागत करता हूं. हमारे घर में पहले काम कर चुकी नौकरानियों में से ही एक की बेटी हमारी नयी नौकरानी थी.

उसके होंठों पर लंड को रगड़ने लगा और फिर उसको मुंह खोलने के लिए कहा.

अजय ने प्रिया की सेक्सी चूत को चाट कर चिकना किया और अपना लंड घुसेड़ दिया अपनी भाभी की प्यासी चूत में.

हम दोनों दो बार की चुदाई में काफी थक गए थे इसलिए ऐसे ही नंगे सो गए. हाय, मैं सुनीता हूँ मेरी 28 साल की उम्र है लेकिन मेरा फिगर बड़ा ही खतरनाक है. पर शायरा ने तो अपने बदन को‌ कड़ा करके जोरों से आंखें बंद कर रखी थीं.

उसे मैंने बांहों में भर लिया और अपनी छाती से उसकी चूचियों को दबा दिया. वो तो बस अभी तक मेरी चूत में अपने लंड के लिए जगह ही बना रहा था।करीब 5 मिनट तक उसने हल्के हल्के मेरी चुदाई की. मुझे अभी तुम्हारी बहुत जरूरत है, क्योंकि शायद मैं तुमसे प्यार करने लगी हूँ और ये मुझे मालूम है कि मैंने गलत किया है.

अनिल बोला- अभी तो वो एक महीने बाद ही आ पायेगी … और मुझे भी जल्दी क्या है … यहां आप हो तो.

कुछ देर तक मेरे चालीस के चूचों से खेलने के बाद उसने फिर से मेरे सारे कपड़े सही किए और अपना हाथ मेरी लोअर में घुसा दिया. मुझे मर्दों से मालिश करवाने में जो मजा आता था, वो आज कुछ अलग तरह का मजा आ रहा था. तब क्या हुआ था, इस देसी बहू की चुदाई कहानी को लिखने के लिए कहा गया.

अब आगे न्यूड भाभी सेक्स स्टोरी:मैंने भाभी को अपनी ओर खींचा, तो वो बोलीं- इधर नहीं … कोई भी आ सकता है. इस पर राजू चाचा ने चौंकते हुए कहा- क्या कब, कहां, कैसे?संध्या चाची अपनी जीभ की नोक से लंड के छेद को कुरेद कर बोलीं- हम पक्की वाली सहेलियां जो हैं, हर बात एक दूसरे से शेयर करते हैं. मैं बस आंखें बन्द करके अपनी महिला मित्रों के साथ की गई चुदाइयों को याद कर रहा था.

मैं भाभी से बोला- भाभी, अब मुझसे रहा नहीं जाता है, पहले एक बार जल्दी से ले लूं … बाकी का खेल तसल्ली से करूंगा.

वो खुद कंप्यूटर के सामने बैठा था और उसने माउस और की-बोर्ड मेरी तरफ करके बोला- लो बनाओ. वहीं पर फोटोग्राफर और क्रिएटिव डायरेक्टर भी उसका इंतजार करते करते परेशान हो चुके थे कि कब वो आए और शूटिंग शुरू हो.

बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में वो मेरे लंड को एक हाथ से सहला रही थीं और बोल रही थीं- तू बहुत एक्सपीरियेन्स चुदाई वाला है. उसकी गांड थोड़ी छोटी थी तो मैंने धीरे से शुरुआत की और लंड को थूक में भिगाकर गांड में डालने लगा.

बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में उसने एक हाथ मेरी साड़ी के पल्लू के नीचे से कमर पर हाथ रख कर कुछ फोटो निकालीं. मैंने भी धीरे से धक्का लगाया लंड का टोपा घुसते ही चाची ने सीईई ईआआ हह की आवाज निकाली और मैं चाची की चुत चोदने लगा।पुरा लंड घुसा कर में रुक जाता तो चाची ‘आआआइइइ’ करती.

मैं औंधी हो गयी और मेरे भतीजे ने मेरी चुत में पीछे से अपना लंड डाल दिया.

सेक्सी वीडियो चुदाई मारवाड़ी

फिर चाचा जी बोले- चल बेटा सुहानी, अब फटाफट घोड़ी बन जा और देख मेरी मर्दानगी. मैंने तो जितनी भी लड़कियां व औरतें पटाई थीं … वो सब ऐसे ही पट गयी थीं. इस वजह से अब मेरी भी मादक सिसकारियां निकलने लगीं- उफ्फ आह … ओह्ह फक!कुछ देर तक मेरी चूत चोदने के बाद उसने अपना सारा माल मेरी चूत में ही गिरा दिया और मेरे चूचों पर अपना मुँह रख कर निढाल लेट गया.

मेरी मां चुप रह गईंसनी बोला- आंटी वो दोनों भी आपकी चुत लेना चाहते हैं. कोई भी अच्छी भाभी या लड़की बस में नहीं थी।बस अपने नियत समय पर चल पड़ी और मैंने कानों में हेडफोन लगाया और गाने सुनने लगा. मोटे लंड के लिए मेरी चुत फड़क रही थी तो मैं तय कर लिया था, ताकि चुत को कोई टेंशन न रहे.

अब आगे:चुदाई के बाद मैं शायरा को क्या कहूँगा, उसका सामना कैसे करूंगा, इसकी मुझे अब कोई फिक्र नहीं थी.

फिर जोर से धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड एक ही झटके में अन्दर घुसता चला गया. प्रियंका ने थोड़ा रुक कर कुछ और तेल डाल दिया, जिससे अब उंगली अन्दर बाहर करने का खेल आराम से हो सके. इतना बोल कर मैंने उसका हाथ पकड़ कर उठाया और जाकर उसकी गोद में बैठ गई.

वो- तो फिर थप्पड़ खाने को भी तैयार रहना!मैं- एक किस के लिए तो हज़ारों थप्पड़ खा लूंगा मैडम. लेकिन उसे पता चला तो?वो बोली- किसी को पता नहीं चलेगा मेरे राजा!अब मैं उसे जोर जोर से चोद रहा था।फिर मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया और लन्ड को चिकनी गुलाबी मखमली चूत में घुसा दिया।हम दोनों मस्ती से चुदाई का मज़ा लेने लगे और एक दूसरे को चूमने लगे।वो नीचे से गांड उठा उठा कर लंड लेने लगी. उसके बाद फिर हमने रात का खाना खाया और फिर हम कंप्यूटर में गेम खेलने लगे.

उसकी यह कामुक सिसकारी मुझे उन सिसकारियों जैसी नहीं लग रही थी, जब वो मेरे लंड से चुदते हुए निकालती थी. उन्होंने मुझे अपने बगल वाले कमरे मेरे बैग को रखते हुए कहा- ये कमरा तेरा है.

शादी से वापस आने के बाद उसके मेरे पास फोन पर मैसेज आने लगे और हम दोनों मजाक करते हुए कुछ सीमा लांघने लगे. चुदाई की कहानी के पहले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 1में अब तक आपने पढ़ा कि प्रियंका अपनी सहेली अनामिका को मेरे साथ चुदवाने के लिए उसे मेरे लंड की फोटो दिखा रही थी. मैंने उसके होंठों को होंठों से कस कर पकड़ कर लंड को जोर से धक्का दे दिया.

वो आगे बोला- जितना तुम्हारे बारे में राजेश ने बताया था, तुम उससे दो कदम आगे हो.

लंबे बाल, पतली कमर, हाइट 5 फीट 6 इंच और फिगर भी 32-24-32 की … जो कि बाद मैं मुझे खुद ट्विंकल ने ही बताया. मैंने उससे अचरज से पूछा- ये जैल इधर किस काम में आता है?वो मेरी भावना को समझ गया और बोला- सर ज्यादातर इसे डॉक्टर किसी बवासीर के पेशेंट को उंगली से चैक करने के लिए इस्तेमाल करते हैं. उस पर फिर उसका लंड इतना दमदार था कि मेरी चूत पांच-सात मिनट से ज्यादा टिक नहीं पाती थी.

तो फूफा जी ने पूछा- क्या हो गया?बुआ मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोलीं- कुछ नहीं, एक चूहा आ गया था. मैंने उसे बहुत जल्दी से ऊपर से नंगी कर दिया और उसके नंगे मम्मों को अच्छे से चाटने लगा; उसके निप्पलों को चूसने लगा.

वहीं रोनी ने मेरी पैंटी को साइड में करके अपनी जीभ को मेरी गांड के छेद में लगा दिया और मेरी गांड को चाटने लगा. मैंने पैरों को थोड़ा ज्यादा मोड़ कर रखा था ताकि उनकी चुचियां मेरे पैरों में सटे और उनके हाथ मेरी जांघों तक आराम से पहुंच जाएं. खुद अपनी पैंट से आजाद होकर उसने अपने फनफनाते लंड को अपनी चड्डी में सैट किया.

ब्लू फिल्म दे दो सेक्सी

मैं बता नहीं सकती कि मुझे उस समय की किस तरह के सुखद अनुभव की अनुभूति हो रही थी.

मैं बोला- नहीं यार … मुझे नहीं मरवानी गांड … सॉरी।उसने कुछ सोचा और बोला- चल ठीक है, अगर ज्यादा दर्द हो रहा है तो रहने दे. जाहिर सी बात है कि उसको शक हुआ होगा कि कहीं मैं जानबूझकर उसके बदन को गलत इरादे से छू रहा हूं. अबकी बार मेरा लंड का सुपारा शायरा की चूत की फांकों को चीरता हुआ सीधा अन्दर धंस गया … और एक बार फिर से शायरा के मुँह से घुटी घुटी सी कराह निकल गयी.

मेरी उस रात खाने की बिल्कुल भी इच्छा नहीं थी मगर रात को नौ बजे के करीब शायरा मुझे डिनर के लिए भी बुलाने आ गयी. मैंने उसकी चूत तक अपनी बाकी उँगलियाँ पहुंचाने के लिए बिन्नी की चूत के नीचे के हिस्से से थोड़े उसके पटों को खोलने के लिए हाथ को अंदर धँसाना चाहा तो बिन्नी ने थोड़ी टांगें चौड़ी करके मेरे हाथ को जगह दे दी. इंडियन बीएफ जबरदस्ती वालीमैं- हां, तो अब किसको चुदवा रही हो!प्रियंका- देखो … अच्छा ये बताओ कि आपको अनामिका कैसी लगती है?मैं- मैंने कभी ढंग से उसे देखा ही नहीं है.

रेशमा के ऊपर मुझे चढ़ा देख कर बोला- क्या हुआ?मैं बोला- साली, यह तो झड़ चुकी है … कोई और व्यवस्था कर … तो मेरा पानी छूटे. शायरा के साथ चुदाई करते हुए मुझे कोई जल्दी नहीं थी … इसलिए मैं अब धीरे धीरे ही अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा … और लगभग दो तीन मिनट तक ऐसे ही आराम आराम से लंड को हिलाता रहा.

काले रंग की ब्रा उसके गोरे बदन पर कहर बरपा रही थी।उसकी चूचियों का तनाव देखकर मेरे लंड का तनाव बढ़ता जाता था।फिर मैंने उसकी चूचियों को कस कर पकड़ लिया और उसके होंठों को चूसने लगा. गर्मी के कारण मैंने अपनी जींस भी उतार दी और सिर्फ टॉवल में बैठा था. ये सब बात करते हुए भाभी से अंजान से बात करने वाला डर और झिझक खत्म हो गई थी.

प्याज काटने से मेरी आंखों में अब आंसू आ रहे थे इसलिए मेरी हालत खराब हो रही थी. इस मौसम में ट्रेन का टिकट तो मिलने से तो रहा, तो मैंने लखनऊ से सीधे शिमला वाली बस का टिकट बुक कर लिया. मैंने प्यार से बिन्नी के गालों को सहलाया और उसे सांत्वना देते हुए कहा- बस हो गया जो होना था.

मेरे भूरे निप्पल पर उसकी गर्म जीभ चाटते हुए मुझे बहुत मजा दे रही थी.

मैंने भी उसकी ब्रा का हुक बिना खोले ही ब्रा को ऊपर कर दिया जिससे उसके दोनों बूब्स मेरे सामने खुल कर आ गए. मैं बोला- मैं बस थोड़ा ऊपर से टच करूंगा उसके अलावा और कुछ नहीं करूंगा.

हम दोनों ने एक-दूसरे की आंखों में बड़ी शिद्दत से देखते हुये एक-दूजे के कपड़े कब निकाल दिये ये हमें तब पता चला जब मेरा अंडरवियर मेरे घुटनों पर और उसकी पैंटी उसके घुटनों पर जा अटकी. अब आगे की हॉट लंड सेक्स स्टोरी:अनामिका- हां जीजू, मुझे ऐसे ही चुदाई चाहिए. ये देख कर अयान ने अपने लोवर से अपने लंड को बाहर निकाल दिया और हिलाने लगा.

उसने अपनी कुर्सी को थोड़ी पीछे किया और की-बोर्ड और माउस अपनी तरफ करके समझाने लगा. उसके मोटे लंड में कट होने की वजह से उसका गुलाबी सुपारा साफ़ दिख रहा था और साथ ही दिख रही थी लौड़े की नसें. एक दिन मैं उसे गर्म करने जैसी बातें करने लगा, तो वो मुझसे लड़ने लगी कि तुमने मुझे न जाने क्या कर दिया, अब मैं क्या करूंगी.

बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में देसी माल सेक्स कहानी पसंद आई या नहीं, अपने ईमेल में अपने विचार जरूर बतायें. उसके गोल-गोल और उठे हुए कूल्हे को छूते हुए और थोड़ा चिढ़ाने के अंदाज में बोला- क्या बात है सायरा, तुम्हारी गांड तो काफी उठ गयी है.

सेक्सी चाची के साथ

स्नैक्स की प्लेट खाली थी, तो पिंकी और भर लायी और रवि से चिपक कर बैठ गयी. मैंने हंस कर पूछा- पीछे का भी शौक रखते हो?उसने कहा- हां मैडम … आपकी पिछाड़ी बड़ी मस्त और उठी हुई है … इसका मजा नहीं लिया … तो मजा अधूरा रह जाएगा. उसने मेरे लौड़े को देखा और मुझसे नजरें मिलाते हुए मेरे लौड़े को पकड़ कर मेरे लौड़े पर एक जीभ फिरा दी.

दोस्तो, मैं सनी वर्मा आपको एक मियां बीवी और वो का थ्री-सम सेक्स कहानी का मजा देने आया हूँ. यह मेरी एक काल्पनिक कहानी है।तो चलो शुरू करते हैं और मजा लेते हैं इस सेक्सी देसी स्टोरी का।यह सेक्सी देसी स्टोरी मेरी मौसी की लड़की की चुदाई की है. चोदा चोदी वाला बीएफ वीडियो मेंमैं बोला- के बात चाची?चाची बोली- इब चाची दिखगी जब इस लोडे और अपने झुनझुने (आंड) दिखाव था … जव ना बेरा था चाची लागु हूँ तेरी?मैं बोला- चाची, यो खड़ा होते ही काबु मैं ना रहता! फेर तु बढिया लागे है मनै.

मैं चुत में जीभ से चाची की चुत चुदायी करने लगा।चाची बोल रही थी- आआआहह हहह रुक जा आआहहह … बस बहुत हो गया इब कर ले आआअ!पर मैं लगा रहा.

मैं सिसकारने लगी- आह्ह … आह्ह … जोर से … चोदो मेरी चूत … आह्ह … मेरी पुस्सी … आह्ह … चोद डाल साले ठरकी लड़के … जोर से चोद ले!उसने मेरे चूतडों पर एक जोर का चमाट मारा और बोला- मैं आने वाला हूं. चूत से थोड़ा ऊपर आएं … तो उनके दोनों हाथ घुटनों पर थे … तथा उनका पेट और फिर उनके चूचे दिखे, जोकि पहले की तरह शानदार दिख रहे थे.

मगर उसके उलट वो तो पंकज के लंड को पूरा अंदर तक निगलने लगी और उसकी आँखों में देखती हुई उसे अपने मुँह में ही झड़ने का मूक आमंत्रण दे रही थी।थोड़ी ही देर में पंकज के भीतर से खौलता हुआ लावा फूट पड़ा और वो गुर्राते हुए … थरथराते हुए झड़ने लगा।मैं सब भूलकर उस दृश्य को गौर से देख रहा था क्योंकि आज तक सुमन ने कभी मेरा वीर्य अपने मुँह में नहीं गिरने दिया था. लण्ड की जड़ में लगा हुआ सिन्दूर का तिलक तुम्हारी बुर से छूते ही अनुष्ठान पूर्ण हो जायेगा. दो-चार मिनट तक मैंने उसी स्पीड से धक्के लगाये और फिर बहन की गांड में ही झड़ने लगा.

अपने गोल चश्मे को बाएं हाथ से सैट करते हुए मानो कह रहा हो कि जनाब अन्दर तक तो चल लो.

मैं समझ गया कि अब रोहिणी मेरे लिए एक परमानेंट छेद के रूप में फिट हो गई है. जब भी मुझे दर्द होता तो वे रुक जाते और थोड़ी देर बाद फिर थोड़ा और लंड अंदर घुसाते।इस तरह धीरे धीरे उन्होंने अपना पूरा लंड मेरी गांड में डाल दिया. क्यों आपका भी मन कर रहा क्या भाभी की गांड मारने का?राजू चाचा- तुम गांड की बात कर रही हो, मैं तो सोच रहा तेरे बगल में भाभी को पटक कर नंगी करके चोद ही दूं साली को.

मौसी जी की बीएफमैं- आह … बड़ा मजा आएगा खरबूजों और आमों को चूसने में … और इस साली की गांड मारने में. हम तीनों मेनगेट से होते हुए मानवेन्द्र की परफेक्ट शेप वाली मटकती हुई गांड के पीछे-पीछे चल दिए.

89 सेक्सी फिल्म

साला लौड़ा मान ही नहीं रहा था मेरे बाथरोड से उठा हुआ साफ़ दिख रहा था. जितनी खूबसूरत वो फ़ोटो में दिखती थी उससे कहीं ज्यादा वो असल में खूबसूरत लगती थी. मैं आपको मेरी सच्ची कहानी बताने जा रहा हूं कि कैसे मैंने किरण की सील तोड़ कर उसे जन्नत की सैर करा दी।इस कहानी में जो नाम आप पढ़ रहे हैं वे बदल कर लिखे गये हैं.

उसने किसने? और तुम्हें कैसे पता कि दो‌ ही पैड थे, सच सच बताओ!मैं जानबूझकर अब घबराने‌ की एक्टिंग सी करने‌ लगा और हकलाते हुए बोला- न्. अब मैंने चाची की पैंटी पर मुंह रखा और चूत को मुंह में लेकर जैसे खाने लगा. रश्मि ने हेतल से कहा- भाभी, ये किसी इन्सान का लंड है या घोड़े का?फिर वो उम्म … म्म … की आवाज करती हुई मेरे लंड को चूसने लगी.

फिर …अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्ते।मैं निशा, कोटा (राजस्थान) की रहने वाली हूँ. जब वो मेरी झांट साफ करने लिए थोड़ा आगे आती, तो मेरा लंड कभी उसके गालों से तो कभी उसके होंठों से टच हो जाता. इसका क्या?रोजी (नाटकीय तरीके से सोच विचार के बाद)- ठीक है, मगर तुम्हें पहले वो वीडियो मेरे सामने ही डिलीट करना होगा.

देखना तेरी मालिश करते-करते यह फिर एक बार तेरी चूत की मालिश करने के लिए हुंकार भरेगा. उसकी सुडौल कसी हुई गोल गोल गांड ने मुझे एक गहरी कामवासना में डाल दिया था।शनाया अब टेडी को फर्श पर लेटा कर खेल रही थी.

तभी अनामिका नीचे से अपना हाथ उठाते हुए प्रियंका की चूत में उंगली करने लगी.

मौसी बोली- सच में अनु … क्या ऐसा मजा आता है?अनु झड़ कर शांत हो चुकी थी. डिलीवरी सेक्सी बीएफवो- जैसा कमीना तू है ना, वैसे ही तेरे सारे दोस्त होंगे … और लगता तू मुझे भी वैसा ही बना कर छोड़ेगा. बीएफ हिंदी में बताइएउसके जाने के बाद मैं तैयार होकर घूमने निकल गयी और दिन भर घूमती रही. चाचा जी बोले- कोई बात नहीं बेटा, जब तक सूरज तुझे चोदने लायक नहीं हो जाता … तू मेरे पास ही आ जाया करना चुदवाने.

फिर चाचा जी ने अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया और मैं गप्प गप्प करके लंड चूसने लगी.

इसके बाद बहुत सकुचाते हुए मनोहर लाल जी बोले- फीस जो आप कहेंगे, मिल जायेगी. मेरी उत्सुकता को देखकर वो भी मेरा साथ देने लगी और मैंने उनके पेटीकोट के नाड़े को खोल दिया. उसने अपनी स्पीड और रोक दी और पिंकी से बोला- तुम्हें अनिल से क्या डर लग रहा था?पिंकी बोली- अगर वो और आगे बढ़ जाता तो?रवि बोला- तो क्या हो जाता, हम दोनों मिल कर तुम्हें पेलते.

अब वे मुझे चूम भी रहे थे; मेरे गालों को चाट चाट के पूरा गीला कर दिया था; मेरी चूची मसल मसल कर लाल कर दिया।वो जब भी मेरी बूब्स दबाते तो मैं और खुश हो जाता। मैं और उचक उचक कर उनका लंड अपनी गांड में लेता।सच कहूँ तो दर्द के साथ मुझे मजा भी बहुत आ रहा था।चाचा जी भी मुझे पूरा लड़की समझ कर चोदे जा रहे थे. मैं- अरे वाह खरबूजे और तरबूज का रस चूसने के बाद अब आम की बारी आ गई … मस्त है. पूरा लंड चुत से निकाल कर ज़ोर से एक ही बार में पूरा लंड पेल रहा था.

अब आगे:चुदाई के बाद मैं शायरा को क्या कहूँगा, उसका सामना कैसे करूंगा, इसकी मुझे अब कोई फिक्र नहीं थी

फिर मैंने शीशी को एक ओर रखा और उसकी गांड को थामकर एक जोर का धक्का मारा. मैंने एक बार नजर भर कर उसकी जवानी को देखा और अगले ही पल उसी कमसिन बुर में जीभ डाल कर चुत चूसने लगा. फिर वो सीढ़ियों से वापिस आईं और दरवाजा बंद करके कैरम बोर्ड को ऐसे सैट कर दिया कि कोई आए, तो उसे लगे कि हम दोनों नीचे बैठ कर खेल रहे हों.

फिर से मैं उनके स्तनों को मुंह मे लेकर चूसने लगा तो वह भी गर्म हो गई और बोली- अब बस … मुझे चोद ही दो.

उसने भी मुझे चूचियों को घूरते देखा था … फिर भी न ही वो कुछ बोली और न ही उसने अपने मम्मों को किसी दुपट्टे आदि से ढाम्पने का प्रयास किया.

मैंने अपने जेठ के लड़के यानि अपने भतीजे के साथ पहली बार कैसे सेक्स किया, यही दास्तान आपको इस सेक्स कहानी में आगे पता चलेगी. बाहर हो रही हल्की बारिश की बूंदें हमारे शरीर पर गिर रही थीं और उसी बारिश में मैं अपर्णा को चोद रहा था।ऐसे बारिश में मैं पहली बार किसी लड़की के साथ सेक्स कर रहा था और अपर्णा के लिए भी ये पहली बार का ही बिल्कुल ही एक नयी तरह का अनुभव था. पोर्न स्टार बीएफहो सकता है वो कहीं और अपने पास की लड़की से मजे कर रहा हो … और तू यहां उंगली से काम चला रही है.

इसलिए कुछ देर तो हम ऐसे एक दूसरे के बदन की गर्मी को ही फील करते रहे, फिर शायरा के मुँह को मैंने अपने मुँह से बंद कर दिया. अब मानवेन्द्र मुझे उठाकर बेड की तरफ ले गया और मुझे बेड पर पटक दिया. वैसे आपको मैं कैसी लगी?मैंने कहा- आप डेजी की होने वाली भाभी हो इसलिए मैं आप पर कमेंट नहीं कर सकता.

अब वो फूफा जी को किस करने लग गईं और उन्होंने उधर ही अपने पैर फैला दिए. वो मेरे होंठ, गाल और कान की लौ को चूसने और चुभलाने लगा।मेरे कान की लौ को जब उसने अपनी जीभ से छेड़ा तो मैं तो बेसाख़्ता ही उससे लिपट गयी और ज़ोर ज़ोर से उसे अपनी ओर खींच कर दबाते हुए उसकी पीठ पर अपने हाथों से सहलाने लगी।उसका लंड अपने पूरे आकार में आ चुका था और पंकज के ऊपर गिरी हुई अवस्था में ही मैंने खुद को अपनी टांगों के द्वारा थोड़ा एडजस्ट करके उसके लंड को अपनी चूत के ठीक बीचोंबीच दबा लिया था.

अब मैंने उसकी चूत के मुंह पर लंड के टोपे को सही से सेट किया और उसकी टांगों को पकड़ कर अपनी गांड का धक्का लगाया तो सट से लंड उसकी चूत में सरक गया.

इन तरंगों के मध्य मेरे मन में तो अभी भी वही भूचाल चल रहा था, जो मानवेन्द्र की चुम्मियों से उभर आया था. इस तरह हम एक दूसरे को कामसुख देने लगे।मैं उसकी चूत को बहुत देर से चाट रहा था जिसकी वजह से उसका स्खलन मुझसे पहले हो गया और मैं उसका सारा कामरस पी गया. मैं भी कामुक सिसकारियां भरने लगा- अह अह मासी … और जोर से चूसो अह अह!मासी ने लंड को मुँह से बाहर निकाल कर कहा- अभय मुझे मासी नहीं, पुष्पा बोल … मैं तेरी पुष्पा रांड हूँ.

बीएफ पिक्चर चुदाई फिल्म फिर उन्होंने मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह अपने मुँह में ले लिया और बड़ी बेरहमी से घुप्प-घुप्प की आवाजों के साथ चूसने लगीं. अब एक‌ बार तो मुझे लगा कि कहीं मेरे सारे किए कराये पर‌ पानी तो नहीं फिर गया.

लगभग पांच मिनट बाद मैं उठा और लंड से कंडोम निकालने लगा, तो देखा कि बेड पर खून था. आखिरकार पुरूषों को इन्हीं आमों की तो प्यास रहती है जिनको मुंह में लेकर वो किसी भी नारी को उत्तेजित कर देते हैं. वो जानता था कि इतनी हाइ क्लास चूत उसको अपनी जिन्दगी में कभी नसीब नहीं होगी इसलिए उसने अपना सारा हुनर लगा दिया मेरी चूत को खुश करने के लिए।उसने मेरी चूत में जीभ डाली और प्यार से ऊपर नीचे करते हुए मेरी चूत में चलाने लगा.

एक्स एक्स एक्स इंडिया सेक्सी वीडियो

उनका रंग एकदम गोरा तो नहीं था … लेकिन चेहरे की छवि बड़ी मस्त और कामुक निगाहों वाली थी. इब के करेगा? जा कोई आ जावगा?मैं बोला- लंड न ठंडा तो कर दे इब।चाची बिना बोले बाहर गई, चारों तरफ देखा, फिर अन्दर आ गयी और लंड पकड़ कर हिलाने लगी।मैंने चाची का मुंह पकड़ कर होंठ मिला लिए और मैं जोर जोर से चूसने लगा. आदमी- अगर मैं आपको सस्ते में दिला दूं तो!मैं- ये तो बहुत अच्छी बात होगी.

करीब सुबह साढ़े पांच बजे मैं उठी और अपनी नाइटी पहन कर अपने कमरे में आ गयी. बिन्नी- इससे तो दर्द होगा?मैं- नहीं होगा, बल्कि तुम्हें मज़ा आएगा, यदि दर्द होगा तो नहीं करूंगा.

कहते हुए मैं उसके चेहरे के एकदम पास आ गयी और उसकी आंखों में आंखें डालकर देखने लगी.

चाची की चुत गीली हो चुकी थी।वो बोली- बस बाड दे इब वार (देर) ना कर!मैं चाची के पीछे आ गया और लंड को चुत पर लगाया और एक झटका लगाया तो लंड की टोपी अन्दर!चाची ने आहहह की आवाज निकाली।आजकल गांव में डागी स्टाइल बहुत चला हुआ है बस जगह दिखी सलवार नीचे की और झुका कर चुदायी शुरू।चाची कुतिया बनी हुई थी और मैं कुत्ता. अगर आपने मेरी पहले की‌ कहानीबस से बिस्तर तक का सफरपढ़ी होगी, तो आप ममता जी को जरूर जानते होंगे. जी में आ रहा था कि फिर से कविता को अपनी बांहों में भर कर जीभर के उसके रसीले होंठों को चूम लूं.

संजू का ये नाईट ड्रेस उसके घुटनों के काफी ऊपर तक का था, जिससे संजू की मांसल और गोरी सेक्सी जांघें उसकी मादक जवानी पर चार चांद लगा रही थीं. कुछ देर शायरा के होंठों को चूसने के बाद मैंने अपने लंड को अब धीरे से एक बार फिर से अन्दर किया और शायरा के होंठों को चूसते हुए लंड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा. वो आश्चर्य से बोली- क्या सच में आपसे भी बड़ा लंड होता होगा … और यदि होता भी होगा तो कितना बड़ा?मैंने बोला- सात इंच के आसपास.

उसने प्रिया भाभी से अपने घर वालों की बात करवा दी कि वो अपनी सहेली के घर रुक कर स्टडी कर रही है.

बीएफ पिक्चर भेजो हिंदी में: मैं उसके ब्लाउज को और ब्रा को उसके जिस्म से अलग करते हुए उसके उरोजों को कस कस कर भींचने लगा. इसके साथ ही उन्होंने मेरी टांगें खोल दीं और अपना लंड एक झटके में मेरी चूत में घुसा दिया.

हालांकि कंडोम चिकनाई युक्त था अपर तब भी मैंने उसके ऊपर थोड़ा सा थूक और लगा लिया. उसके बाद तुम आ गए और उसके बाद का तो जो हुआ, वो तुम्हारे सामने ही हुआ. इस हिंदी सेक्सी चुत कहानी के पहले भागखूबसूरत हसीना के साथ ओरल सेक्स का मजामें मैंने आपको बताया था कि मेरी मुलाकात अपर्णा नाम की एक लड़की से फेसबुक के जरिये हुई.

वो मुझसे व्हाट्सप्प पर बात करती हैं कि कुछ दिन तक तो चला नहीं जा रहा था.

सायरा थोड़ा सा खीझते हुए बोली- तुम्हारा तो अब हर रात को सॉरी बोलकर काम चल जाता है. लंड आधा अंदर घुस गया और उसने मुझे जोर से पीछे धकेलना चाहा मगर मैंने उसकी चूची जोर से भींच दी. चाचा जी मुँह खोल खोल कर वहशी की तरह ज़ोर ज़ोर से चूसते हुए मुझे किस करने लगे.