बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी

छवि स्रोत,क्सक्सक्स ९

तस्वीर का शीर्षक ,

हरियाणवी सेक्सी चुदाई: बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी, करीब 5 मिनट चूसने के बाद मैंने आंटी को कहा- आंटी, मेरा निकलने वाला है!तो आंटी ने कहा- मुंह में ही झर जाओ!मैंने अपना सारा का सारा पानी आंटी के मुँह में निकाल दिया.

सनी लियोन सेक्सी एक्स एक्स एक्स वीडियो

अन्तर्वासना के पाठकों को एक बार फिर से मेरा प्यार और नमस्कार! अपने बारे में ज्यादा ना बताते हुए क्योंकि कहानी के पहले भाग में मैं अपने बारे में बता चुका हूँ, मैं अपनी कहानी आगे बढ़ाता हूँ. भोजपुरीbfप्रेषक : राज मेहताहाय दोस्तो, मुझे यकीन नहीं होता कि आठ महीने बाद मेरी कहानी को गुरूजी का आशीर्वाद मिलेगा। आप अब आगे की कहानी का मजा लीजिये ….

मैंने उस से कहा – तो यह पढाई होती है स्कूल में?तो निधि बोली,”नही सर यह मेरा नही है, मुझ तो यह यहाँ पड़ा हुआ मिला, मैं तो इस ऐसे ही देख रही थी. தெலுங்கு செக்ஸ் வீடியோஸ்मैंने एक हाथ से उसकी चूची दबानी शुरु कर दी और दूसरे हाथ से उसकी चूत को सहला रहा था.

कल देखते जाना… और हाँ अब हम क्लास के दौरान भी कम ही मिला करेंगे…वेदांत उदास हो गया.बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी: अंकल, अब मारो जोर से…” गौरी गौर से मेरे लण्ड को राधा की चूत में घुसा कर देखने लगी.

ओं…रोनी…मैंने लंड को चूत के छिद्र पर रखकर दबाव बनाया तो लंड पूरा का पूरा चूत में समा गया।हेमा के मुँह से सिसकारी निकल गई- उ…इ.सभी के जाने के बाद मैं दीदी के कमरे की तरफ बढ़ा मगर तबीयत खराब होने की वजह से दीदी सोई हुई थी.

राजस्थानी सेक्सी खुला वीडियो - बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी

मैंने कहा- ज्योति तो सो रही है और वो सात बजे से पहले नहीं उठेगी!तो आयशा मान गई और मैं योगी के पापा के कमरे में गया और वहाँ से दो कंडोम उठा कर ले आया ताकि आयशा को चोदने के बाद मुझे अपना लण्ड जल्दी में बाहर ना निकलना पड़े.कपड़े उतारते ही मेरा तो हाल-बेहाल हो गया… चोट कहीं दिख नहीं रही थी और खून था कि बहे जा रहा था, बहे जा रहा था… टोयलेट पेपर से जहाँ तक हो सका साफ़ करती रही…पर टोयलेट पेपर भी ख़त्म हो गया… इतने में कुछ बड़ी क्लास की लड़कियाँ वहाँ आईं.

इसी दौरान मैं अपना लंड धीरे धीरे कशिश के चूत के अन्दर डालता जा रहा था…तभी कशिश के सब्र का बाँध टूट गया और वो चिल्लाने ही वाली थी कि मैंने उसके मुहं को अपने हाथ से बंद कर दिया. बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी वो अपने कमरे में गई और वापस आकर मेरे हाथ में दो हज़ार रुपये दे कर बोली- आज तुमने मुझको खुश कर दिया, ये रख लो.

”ठीक है तू माल ला और मुझे मस्त कर दे… बस…” हम दोनों एक दूसरे का राज लिये मुस्कुरा उठे.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी?

५ इंच हो गई थी। मैंने कहा क्या करूँ मेरी जान?”ओह… जीजू… अब मत तरसाओ… कर लो अपने मन की। ओह आप मेरे मुँह से क्या सुनना चाहते हैं। मुझे शर्म आती है। प्लीज़…” कुछ ना कहते हुए भी उसने सबकुछ कह दिया था। मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर लगा दिया।ऊईईईई… माँआआ. लेकिन मेरे अंदर तो भयानक आग लगी हुई थी, लग रहा था कि उस वक्त मेरे भीतर का तापमान हज़ार डिग्री से भी अधिक होगा।मेरा दिल बहुत तेज गति से धड़क रहा था, मुझे लग रहा था कि इसकी धड़कन की आवाज पूरे विमान में गूँज रही हो।मैंने सीट के सामने लगे छोटे से टीवी पर चल रही इंगलिश मूवी भी बन्द कर दी क्योंकि उससे भी हल्का प्रकाश आ रहा था।अब क्रिस्टीना का सिर मेरे कंधे से फिसलने लगा. ’‘गौरी, इनको तो अब आना ही पड़ेगा ना, जब भी आयेंगे, हम दोनों को चोद जायेंगे, है ना?’ राधा ने कसकती आवाज में कहा.

मैं- अंकल, ये लोग मेरे साथ …?अंकल- अरे बेटा, यह तो एक्टिंग है … वास्तविक जीवन में हिरोइनें बनने के लिए लड़कियाँ न जाने क्या-क्या करती हैं!मैं- मुझे नहीं करना यह सब …! मैं घर आ रही हूँ!अंकल- ख़बरदार जो इस शो को छोड़ा तो. उधर राज अंकल बाजी की बड़ी बड़ी चूचियों को जोर जोर से मसल रहे थे और बाजी जोर जोर से सिसक रही थी- ऊह्ह्ह,आह्ह्ह्ह,ओऊ बहुत मजा आ रहा है! और जोर जोर से मसल के पूरा दूध पी जा!राज पागलों की तरह बाजी की चूची को मसलने लगा और चूची को मुँह में लेकर पीने लगा. करीब आधा घंटा की चुदाई के बाद अब वो अकड़ने लगी और अब मैं भी झड़ने वाला था। दस पन्द्रह झटकों के बाद हम दोनों एक साथ ही झड़ गए।उसके बाद मैंने उसे कई तरीकों से चोदा, वो फिर कभी बताऊंगा….

अब मैं और जोश के साथ गांड में घुसाने लगा।आखिरकार मैं उसकी गांड में अपना लंड घुसाने में कामयाब रहा।फिर मैंने धीरे धीरे स्पीड बढ़ा दी. लेकिन मैंने उसकी बात ना सुन कर अपना एक हाथ उसकी स्कर्ट में डाल दिया और पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत सहलाने लगा. मुझे लगा कि अगर सोनू को थोड़ा और उकसाया जाये तो वो खुल सकती है, शायद चुदने को भी राजी हो जाये.

मैंने तान्या से इसका कारण जानना चाहा तो पता चला कि उसके बॉयफ़्रेंड ने उसको छोड़ दिया है. तन और मन में आते बदलाव, कुछ कुछ होने जैसी अनुभूति होती थी चेहरे पे सदा रहने वाली मुस्कान.

‘नहीं जवान लड़की की गाण्ड ऐसे नहीं फ़टती है, बस दर्द ही होता है… अब इसे भी तो अपने लायक बनानी है ना… देख इसे भी चोद चोद कर मस्त कर दूंगा!’ जीजू हाँफ़ने लगे थे.

भाभी के तबादले से पढ़ाई में मेरी मदद करने वाला भी कोई नहीं बचा था इसलिए मैं पढ़ाई में ज्यादा ध्यान देने लगा.

अब दीदी सुबह ही अपनी जॉब पर निकल जाती और शाम को लेट आती इसलिए मेरे लिए उनके पास कोई वक़्त नहीं बचता था और रविवार को सभी घर पर होते थे. मैं समझ गया और उसको बाहों में लेकर एक प्यारा सा किस किया और समझाया कि यह सब जरूरत है, आपने कुछ गलत काम नहीं किया है. पर एक ब्लू फिल्म चल रही थी जिसमें एक औरत को पांच आदमी एक साथ चोद रहे थे।आंटी की पीठ मेरी तरफ थी और वो जमीन पर बैठ कर फिल्म देख रही थीं।उन्होंने नाईट गाउन पहन रखा था जो सामने से पूरा खुला हुआ लग रहा था लेकिन मुझे पीछे से कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था।मैं ये नजारा देख ही रहा था कि अचानक मेरे पैर के नीचे कुछ चीज आ गई जिसके हिलने से हल्की सी आवाज हुई.

बस आज के दिन ऐसा होगा ये नहीं पता था… ”क्या… हाय… मुझे पता होता तो मैं… पहले ही… ”राहुल ने देखा साहिल रीता की चुंचियां दबा रहा था. फिर भाभी ने पूछा- सोनम के पति का क्या नाम है?तो सोनम के पापा ने बताया कि तुम्हारे दोस्त योगी के साथ ही सोनम की शादी हुई है. !आंटी बोली- तो क्या हुआ, आ जाओ ना ! क्या तुम अपनी बीवी के रहते बाथरूम में नहीं जाते क्या?शर्माओ मत और नल खोल दो….

मुझे आज मेरे सपनो की रानी को जी भर कर प्यार करने दो!’और मैं फ़िर से उसके निपल मुँह में लेकर एक एक कर चूसने लगा।‘आआआ आआह्ह्ह.

‘आह, भैया… ये बात हुई ना…अब लग जा धन्धे पर… लगा धक्के जोरदार…!’‘मस्त हो दीदी… क्या चुदाती हो और क्या ही गाण्ड मराती हो…!’‘चल लगा लौड़ा… चोद दे अब इसे मस्ती से…और हो जा निहाल…’उसकी चिकनी गाण्ड में मेरा लण्ड अन्दर बाहर होने लगा. पिंकी- हाय मनुजी! मैं क्या करती? साली ने बाथरूम में मेरी चूचियाँ दबा दी तो मैं गर्म हो गई, आप तो समझदार हो!मैंने कहा- पिंकी जी, आपका ज्यादा समय नहीं लूँगा!और मैंने उसके हाथ पकड़ कर हथेली चूम ली, उसके होठों से सिसकारी निकल गई. करने लगी।फिर मैंने लंड को चूत में अंदर-बाहर करना शुरु किया और उसे चूमता भी रहा ताकि उसे और भी मज़ा आए।और वो हल्की आवाज में ऊऊऊम्म्म्म….

मैंने उसको कहा- मैं तुम्हारी चूत में अपना लौड़ा डाल रहा हूँ !तो वो बोली- नहीं यह मत करो प्लीज !तो मैं बोला- मेरा क्या होगा ? मेरा तो निकला भी नहीं अभी तक. मगर मैं सुन कहाँ रहा था…! पेड़ू का उभार, खुरदरे बालों की शुरुआत, पैंटी की इलास्टिक, पतले कपड़े के नीचे शिकार खोजते-से नथुने। मैं मानने वाला नहीं। होंठों पर झीने कपड़े के नीचे बालों की रेशमी सरसराहट महसूस होती है…. मेरा कोई विरोध ना देख कर उसने अपनी चप्पल उतार कर नंगे पैर को मेरे पांव पर रख दिया.

उसने ना सिर्फ अब्बास के हाथ को पकड़ा बल्कि उसको हाथ के बल घुमा भी दिया। अब्बास ने छूटने की कोशिश की लेकिन वो अपना हाथ नहीं छुड़ा पा रहा था, तभी उसने अपने दूसरे हाथ से इंस्पेक्टर मोना की चूत को जोर से दबा दिया। मोना के मुँह से हल्की चीख निकल गई।अब्बास- क्यों साली? तू तो कुंवारी लगती है… आज तो मैं पूरी ऐश लूँगा… तेरा पति जो नहीं कर सका आज मैं करूँगा ! वो भी तेरी जेल….

साले सब के सब हवस खोर होते हैं। यहाँ एक अच्छा है कि जिसे भी इच्छा होती है चला आता है, पैसे देकर चोद कर चला जाता है। कोई नौटंकी नहीं। थोड़ी देर तू अकेली इस कमरे में बैठ कर देख कैसे कैसे लोग आते हैं. ” दुल्हन यह सुन कर हक्का-भक्का रह गई।उसने चीखना-चिल्लाना शुरू कर दिया। इस बीच ठंडा राम बाथरूम से बाहर आ गया। उसने पूछा,”क्या हुआ भाभी जी? आप इस तरह क्यों चिल्ला रहीं हैं?”सचमुच एक नंग-धड़ंग व्यक्ति सामने आ खड़ा हुआ।कौन हो तुम…? तुम अन्दर कैसे आये ? ” दुल्हन के प्रश्न पर दोनों भाई जोरों से हंस पड़े।कहानी आगे जारी रहेगी।.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी अगर कोई एम एम एस ‘वाट दा फ़क’ के नाम से मिले समझना कि वो आपकी श्रेया की है …मैंने फिर जोजो का फ़ोन नहीं उठाया … आपका फोन ज़रूर रिसीव करुँगी पर आप तो ऐसा धोखा नहीं दोगे ना?. ‘वाआवऽऽ वाहट ए लवली लौड़ाऽऽ!’ चूत के हमदम का आकार देख कर रीटा की चूत की धड़कन तेज हो गई.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी आपकी बाइक देख कर मैं समझ गई थी कि आप आ गए हैं!” राधा मुस्करा कर बाजार का सामान एक तरफ़ रख कर मेरे पास सोफ़े पर आ कर बैठ गई. मैं आनंद-विभोर होकर कहते जा रहा था- वाह रसगुल्ले सरीखी बुर !फिर मैंने सम्भोग की इज़ाज़त मांगी !आंटी ने कहा- चोद ले.

थोड़ी देर ऐसा करने के बाद मैंने उसकी साड़ी और पेटीकोट उतार दिया जिससे अब वो सिर्फ पैंटी में थी। उसका फिगर बढ़िया होने से पैंटी में बहुत सेक्सी लग रही थी.

नंगी फिल्म वीडियो बीएफ

जब मैंने उसको सहलाया, तब 1-2 मिनट बाद बोली- आज के बाद मैं तुम्हारा चेहरा भी नहीं देखना चाहती…मैंने उसको बताया- जान, पहली बार में तो दर्द होता ही है… देखो पूरा चला गया है अब दर्द नहीं, बस मज़ा है…. और आज के बाद मुझे यह सब दिखा तो मुझसे बात करने हिम्मत करने से पहले सौ बार सोच लियो… जिस दिन फिर कुछ ऐसा हुआ मेरी दोस्ती हमेशा के लिए खो देगी तू… और मुझे भी…”मैं उसी समय कहना चाहती थी कि मैं तुमसे प्यार करती हूँ. उन्होंने कहा- अब देर मत कर और मेरी जवानी की प्यास बुझा दे!तो मैंने अपने लंड का टोपा उनकी दोनों टांगो के बीच के गुलाबी छेद पर रख दिया.

हाय!!वो मेरे होंठ चूस रही थी और मेरी जांघें सहला रही थी, मैं मचल रही थी- नहीं कामिनी! प्लीज मत करो! आ. इतने में सुनीता कस्टमर से चुदवाकर बाहर आई। मैंने उसे मौसी ने जो कहा वो बताया तो बोली- बिल्कुल सच है, मुझे यह सब भाने लगा है। साले मूछ पे ताव देने वाले मर्द भी हमारे भोसड़े पे सब कुर्बान करने चले आते हैं. उसकी अप्सराओं वाली सुन्दरता और उसकी इस हरकत से मेरी ७” वाली लंड धीरे खडा होने लगा.

प्रेम गुरु और नीरू बेन को प्राप्त संदेशों पर आधारितप्रेषिका : स्लिम सीमामुझे लगा जैसे कोई मूसल मेरी फूलकुमारी के अंदर चला गया है, मुझे लगा ज़रूर मेरी फूलकुमारी का छेद बुरी तरह छिल गया है और उसमें जलन और चुनमुनाहट सी भी महसूस होने लगी थी। मुझे तो लगा कि यह फट ही गई है। मैं उसे परे हटाना चाहती थी पर उसने एक ज़ोर का धक्का और लगा दिया।मेरी जान….

अब मेरी बहन के चुदने का वक्त हो गया था, मैंने उससे कहा- मेरी बहना, तैयार हो जा!तो बोली- किस लिए?मैंने कहा- चुदने के लिए!अब मैं उसका लोअर उतारने लगा तो उसने मुझे रोका. और उसने पूछा… राहुल मेरी पैंटी कहाँ है???…………सेक्स के बाद हर लड़की अपने साथी से पहला सवाल यही करती है।आपकी प्रतिक्रियाएँ ही मुझे दूसरी कहानी को लिखने के लिए मजबूर करेंगी।[emailprotected]. वो फिर रुक गया और धीरे-धीरे लण्ड अन्दर बाहर करने लगा…थोड़ी देर के बाद जब मुझे दर्द कम होने लगा तो मैंने अपनी टाँगें उसकी कमर के साथ लपेट ली और अपनी गाण्ड को हिलाने लगी…वो समझ गया… मैं उसका पूरा लण्ड लेने के लिए तैयार थी…तभी उसने एक जोर का झटका दिया और पूरा लण्ड मेरी चूत के अन्दर घुसेड़ दिया… अह्ह्ह्ह.

फिर मैं अपने कमरे से एक पतला वाला बैंगन उठा लाई और बाहर जहाँ मेरी पड़ोसियों की बाइक खड़ी थी, वहाँ चली गई. ”मेरे लाख डराने और समझाने पर भी वो अपनी जिद पर अड़ा रहा तो मैंने उससे वादा लिया कि इसके बाद वो इस बारे में कभी सोचेगा भी नहीं और चाचा या अपने बारे में किसी को भी कुछ नहीं बतायेगा… राजू को भी नहीं. अब दो लोग बचे थे और मेरी चूत की आग अभी भी नहीं बुझी थी लेकिन मैं डोगी स्टाइल में खड़े खड़े थक गई थी इसलिए मैं सीट पर पीठ के बल लेट गई और उन बचे हुए दो लोगों से कहा’ चलो अब तुम दोनों मेरी चूत में बारी बारी से अपना पानी डाल कर चलते बनो.

धोखेबाज !”क्यों उस बेचारी ने तुम्हारा क्या बिगाड़ा है ?”अरे आप उसे बेचारी कहते हैं आप नहीं जानते उसने निःशब्द में अमित अन्कल से पहले तो प्यार का नाटक किया और बाद में छोड़ कर चली गई ! च !!! च…. हाआआआ देवर र र र र र जी ईईईईई ईईईई!” मज़े में मेरे चूतड़ भी हिलने लगे और फ़क फ़का कर मैं दुबारा झड़ गई.

मैंने देखा कि विपिन की अंडरवीयर वाशिंग मशीन में पड़ी हुई थी, उसके कमरे में झांक कर देखा तो वो शायद सो गया था. ऐ… यो काई करो… मन्ने तो गुदगुदी होवै!” वो शरमा कर उठ गई और अपना मुख हाथों से ढांप लिया. मुझे दर्द हुआ मगर मैंने फिर भी उसका पूरा लौड़ा अपनी चूत में घुसा लिया।मैं ऊपर-नीचे होकर उसके लौड़े से चुदाई करवा रही थी, सुनील मेरे मम्मों को अपने हाथों से मसल रहा था।अनिल भी नीचे से जोर जोर से मेरी चूत में अपना लौड़ा घुसेड़ रहा था। इसी दौरान मैं फ़िर झड़ गई और अनिल के ऊपर से उठ गई मगर अनिल अभी नहीं झड़ा था तो उसने मुझे घोड़ी बना लिया और अपना लौड़ा मेरी गाण्ड में ठूंस दिया.

फिर आगे जाकर उसने एक बड़े से शानदार घर के आगे बाईक रोकी, गेट खुला था तो वो बाईक और मुझे भी अन्दर ले गया।उसका दोस्त सामने ही खड़ा था.

आंटी ने कहा- सागर अब रहा नहीं जा रहा है, तुम मुझे चोद दो!मैंने कहा- ठीक है आंटी!आंटी की दोनों टांगों को मैंने अपने कंधों पर रखा और लंड को उसकी चूत पर रखा और एक धक्का मारा. ’‘तो क्या इतने महीनों तक…?’‘म्हारी जलन यूँ ही तो नहीं थी ना… मन्ने तो हाथ जोड़ ने बस यो ही तो मांगा था. जैसे ही पूजा के हाथों का दबाव मेरे मोम्मों पर बढ़ता, मैं उसे चोदने की गति बढ़ा देती।तभी पूजा ने अपनी पूरी शक्ति से मेरे मोम्मे दबा दिये।ओहहह!!! आह्हह्ह!!! आह्हह्ह!!! पूजा मेरे मोम्मे छोड़!!!” कहते हुए मैं उसके हाथ हटाते हुए उसके ऊपर गिर गई और अब पूजा ने अपनी उँगलियाँ मेरी पीठ में गड़ा दीं और झड़ने लगी।जब हम दोनों की साँसे संयत हुईं तो हम दोनों साथ साथ चिपक कर सो गईं।.

[emailprotected][emailprotected]सोने के पिंजरे में बंद एक मैना- निर्मला बेन पटेल[emailprotected]. निकला। फिर मैंने उसकी नाक पर फीता रख कर नाप लिया। इस दौरान मैं उसके गाल छूने से बाज नहीं आया। काश्मीरी सेब हों जैसे। उसकी नाक का नाप भी 7 से.

की आवाजें निकालने लगी। उसने मुझे अपने से लिपटा लिया और मेरा लण्ड हाथ में लेकर कहने लगी- अब मेरी शांति करा दो।मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और लण्ड उसकी चूत पर रखकर धक्का मारा।वो जोर से चिल्लाई- अह्ह्ह…. सुनील- अच्छा बाबा, जैसे तुम ठीक समझो … कम से कम मेरे फ्लॅट में जाने में तो तुमको कोई दिक्कत नहीं है … या वहाँ के लिए भी कोई बहाना सोच कर रखा हुआ है?सोनिया- तुम्हारा फ्लॅट!सुनील- हाँ मेरा फ्लॅट, अब ज्यादा आना-कानी मत करो … चुपचाप चलो अगर नहीं डरती इन चीज़ों से तो ! और अगर डरती हो तो तुम यहीं रहो … पर काम के सिलसिले में जिंदगी में किसी भी तरह की आगे कोई मेरे से मदद की उम्मीद मत करना. शी… शी… ऐ…”एक महिला घाघरे चूनर में अपने को घूंघट में छुपाये हुये मुझे हाथ हिला कर बुला रही थी.

इराक की बीएफ

एक बात और… शादीशुदा औरतें लाली, लिपस्टिक, मेंहदी, बिंदी, सिन्दूर लगाकर और पहन-ओढ़ कर और मस्त चोदने का आइटम बन जाती हैं। शादीशुदा औरत को चोदने में एक आनंद और है….

उसे देख कर भाभी ने कहा- देखो, कैसे मासूम लग रहा है!उन्होंने नीचे देखा… उनकी चूत फ़ूल गई थी, उन्होंने हाथ लगाया और सिहर उठी- देखो, क्या हालत की तुमने… छोटी सी थी. मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था और मजा भी! मैं भी देखना चाहता था कि बाजी की कैसी पिलाई होती है. मामी, कैसा लग रहा है?”नयन, मत पूछो! तुम अपना काम चालू रखो!”नयन! आआऽऽऽ आआआआअ… क्या मजा आ रहा है! मैं तो पागल थी जो तुम्हें चोदने को मना कर रही थी!”नयन, मैं निकलने वाली हूँ मुझे कस लो नयन! आआऽऽऽ आआआआअ…! ”मैंने मामी की हालत जान ली और पीछे से उनको कस कर पकड़ लिया.

लेकिन शायद आयशा कि चीख की वजह से ज्योति को यह याद नहीं रहा कि उसने ब्रा-पेंटी के अलावा और कुछ नहीं पहना है. मुझे बड़ी झांटें पसंद नहीं तो मैंने निशा से कहा- तुम अपनी झांटें साफ़ क्यों नहीं करती हो?वो बोली- तुम कर दो अगर तुमको पसंद नहीं तो।मैंने कहा- ठीक है. मस्त चूत की चुदाईट्रेन का सफर था और मुझे अकेले ही जाना था इसलिए मेरे पति ने प्रथम श्रेणी एसी में मेरे लिए रिज़र्वेशन करवा दिया था.

तभी उसने मेरे लौड़े को अपने मुँह में ले लिया और उसको चूसना शुरु कर दिया जैसे कोई बच्चा लॉलीपॉप खा रहा हो. नये सेशन में जुलाई से उसने एडमिशन ले लिया… फिर चला एक खालीपन का दौर… सुमन कॉलेज जाती और आकर बस बच्चे में खो जाती.

मेरे बुर से रस की धार बह रही थी! न जाने क्या हो गया था मुझे … काश सर मान गए होते! मुझे भी चुदने का पागलपन हो गया था … बावली हो गई थी. थोड़ा दर्द हुआ मीठा-मीठा… फिर थोड़ा सा और अन्दर गया… और दर्द भी बढ़ने लगा…वो मजदूर बहुत धीरे धीरे लण्ड को चूत में घुसा रहा था, इसलिए मैं दर्द सह पा रही थी. मैंने अपने बाएँ हाथ की तरफ उसे लिटा लिया और उसके गाउन की डोरी खोल कर उसके गुम्बदों को बाहर निकाल लिया.

अब मैं भी मज़े लेने लगी थी; मेरे अंदर की छिपी राण्ड अब बाहर आकर अंगड़ाइयाँ लेने लगी थी… मेरी आहें दरबार में गूँज रही थी. पेंटी भी निकल दो… उम्म्मशशांक : अब मैं तुम्हारे पैर क अंगूठे को चूस रहा हूँ और लिक करते हुए ऊपर आ रहा हूँ…. दूध सा सफ़ेद गोरा स्तन और बीच में गुलाबी चुचूक देखते ही मेरी जीभ लपलपाने लगी और फिर मैं दोनों हाथों से उसकी चूची को मसलने लगा…वो मदहोश होने लगी, उसकी आँखें बंद हो गई.

उसने मेरे हाथ पर अपना हाथ रख दिया पर मेरा हाथ नहीं हटाया, बल्कि सोफ़े पर आगे सरक कर अपने लण्ड को और ऊपर उभार लिया। मैं खुश हो गई… चलो अब रास्ता साफ़ है.

यूँ तो मैं अब तक चार पाँच बार झड़ चुकी थी लेकिन चूत में लंड डलवाने से होने वाली तृप्ति अभी तक नहीं हुई थी इसलिए मैं जल्दी ही अपने चरम पर पहुँच गई और नीचे लेटे लेटे ही अपने चूतड़ उछाल उछाल कर लंड अन्दर लेने लगी. उसने अब तक मेरे हाथ पकड़े हुए थे… अब मुझे उनका भी होश नहीं था…उसकी आँखों से आँसू गिरने लगे, वो बोलता गया… मुझे कुछ भी… अच्छा नहीं लगता… ना खाना… सोना भी… बस आप… ही आप… मैं आज के बाद आपको कुछ नहीं कहूँगा…देखूँगा भी नहीं… चाहे तो आप मुझे मार सकती हैं…यह कह कर उसने मुझे अपनी बाहों में ले लिया…अब मुझे होश आया.

‘तेरी मां की चूत… अब तो लण्ड का पानी तो निकाल के रहूँगा…’उसने अपना लण्ड मेरी गाण्ड में दबा दिया. फिर मैंने उसे बाहों में ले लिया और हम दोनों ज़मीन पर लेट गए और ऐसे ही पड़े रहे बहुत देर तक !उसके बाद उसने कहा- अब मुझे जाना है. किसमिस का दाना तो मोटा और सुरमई है ?क्या चुसवाती हो ?अब तो यही करना पड़ता है !तुम कौन से आसन में चुदवाना पसंद करती हो ?ओह.

‘बाबूजी … बहुत दुःख रहा हैं … थोड़ा धीरे दबाओ ना!’ रीना ने कहा।मैंने अपना एक हाथ उसकी कमीज के अन्दर डाल दिया और उसके चुचूक का दाना पकड़ कर मसल दिया. मैं भी उन्हें पूरा मौका देता था कि वो मेरे अंगों को छू लें और मेरे साथ मस्ती करें. बस इसी तरह साल से भी ज्यादा गुज़र गया हम आठवीं में पहुँच गए…एक बार अचानक खाते-खाते उसने मुझसे पूछा- यह ब्रा क्या होती है…???आसपास की सभी लड़कियाँ मेरी तरफ देखने लगी…और मुझे भी समझ नहीं आ रहा था कि क्या जवाब दूँ.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी अगले दिन मैं ठीक पाँच बजे तान्या के घर उसको पढ़ाने के लिए पहुँच गया, वैसे तो तान्या बला की खूबसूरत थी मगर मेरे पास कोई और अच्छी नौकरी नहीं थी और मैं सेक्स के वशीभूत होकर यह नौकरी खोना नहीं चाहता था इसलिए मैंने संकल्प कर लिया कि मैं तान्या को पूरी ईमानदारी से पढ़ाऊँगा. और रीना के मुँह से चीख निकल गई- ऊई माँ … मर गई … मेरी चूत फट गई … बाहर निकालो अपना लौड़ा!मगर अब मैंने उसका मुँह अपने होठों में बंद कर लिया और कमर को ऊपर कर के फिर से ठोक दिया.

बॉलीवुड बीएफ सेक्स

अन्दर रस भरी चूत की गुफ़ा नजर आई, उसने अपना लौड़ा पहले तो हाथ से हिलाया और फिर मेरी गुफ़ा में घुसाता चला गया. बाजी सिसकारी भरने लगी- ऊओह्ह्ह्ह आऽऽऽह आऽऽऽईऽऽय!!!बाज़ी ने राज का सर अपनी चूचियों के बीच में दबाया और बोली- साले! और तेज़ी से दबा! पी मेरा दूध! साले बहुत दिनों के बाद आज किसी ने मेरी चूची को दबाया है! मेरी चूची में बहुत दूध भरा हुआ है! जल्दी जल्दी से चूस मेरी चूची को!घबरा मत! आज तेरी चूची का सारा रस निचोड़ कर पी जायेंगे!उसके बाद राज अंकल बाजी की चूची को जोर जोर से पीने लगे. मेरा लंड खड़ा होकर पैंट के अन्दर से ही नजर आने लगा था और उसके टांगों के बीच में रगड़ खा रहा था.

मैं हूँ बाबू, उम्र 43 साल, अविवाहित पर सेक्स का मजा लेने में खूब उस्ताद। मेरी इस कहानी में जो लड़की है उसका नाम है- सानिया खान।वो मेरे एक दोस्त प्रोफ़ेसर जमील अहमद खान की बेटी है।सानिया के पिता और मैं दोनों कॉलेज के दिनों से दोस्त हैं। उनकी शादी एम. पर क्या करता…मेरी माँ को पापा ने शादी के दो साल बाद ही तलाक दे दिया था तो आप समझ सकते हैं कि माँ की हालत क्या होती होगी जब पापा से 18 साल से नहीं चुदी. கிராமத்து செக்ஸ் வீடியோஸ்आज हम दूर हो गए और कई लड़कियाँ मेरे बिस्तर पर आ चुकी हैं पर मोना और उसकी दीदी के साथ गुजरे सेक्स के वो पल और उन बहनों के नंगे जिस्म मुझको बहुत याद आते हैं.

”और पहले पेटीकोट उतार कर फेंक दिया। अब मेरे ऊपर आकर बैठ गई और अपनी गांड को थोड़ा ऊपर उठाकर हल्के से ही चूत के मुँह पर स्पर्श किया था कि तुरंत अन्दर प्रवेश कर गया। इस बार ज्यादा मज़ा आ रहा था …… अब वो खुद ऊपर नीचे हो रही थीं।” मर गई रे……तू मेरा असली बेटा क्यूँ नहीं हुआ ! वर्ना तुझसे तो रोज़ चुदवाती….

मैंने घर पर फोन करके बता दिया कि मैं एक और महीने तक जयपुर रुकूँगा और भाभी उसके बाद नौकरी छोड़ देंगी और हमेशा घर पर ही रहेंगी. अब इन्होंने कहा- रुको मनोज! कंडोम लगा लो यार!मनोज ने कंडोम लगाया और फिर शुरू हो गया.

हाय मैं मुक्ता! गत कहानीजीजू के साथ मस्त सालीमें मैंने आपको अपने जीजू विपुल से अपनी धमाकेदार चुदाई के बारे में बताया था. चुदती चूत ने ठेर सारा पानी उगल दिया, तो लण्ड बिना तकलीफ अंदर बाहर घचर पचर की मीठी मीठी आवाज के साथ चूत में अन्दर बाहर फिसलने लगा. और ऐसे ही अपना लंड रानी की चूत में डाले-डाले सो गया…सुबह हुई तो पहले मेरी नींद खुली.

फिर सुनील मेरी सर की तरफ आ गया और मेरी गोरी गोरी गालों और मेरे बालों में हाथ घुमाने लगा.

एक चुम्बन ने क्या कर दिया… या फिर शायद यह यौवन ही था जिसने यह सब करा दिया…मैं उसकी ओर थोड़ी टेढ़ी होकर लेट गई. सभी के जाने के बाद मैंने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया और सोनम की तरफ देखा तो सोनम के चेहरे पर एक शर्म थी जो मुझे बहुत अच्छी लगी. काश यह दोनों लड़के आज मेरी चुदाई कर दें !फिर अनिल ने अपने दोस्त से मिलवाया, उसका नाम सुनील था, सुनील ने मुझे अन्दर आने को कहा मगर मैंने सोचा कि सुनील के घर वाले क्या सोचेंगे।इसलिए मैंने कहा- नहीं मैं ठीक हूँ !और अनिल को जल्दी चलने को कहा.

सेक्सी वीडियो नंगा पिक्चरवास्तव में जब से मैंने अपने किरायेदार प्रशांत से उसे रात में चुदवा कर लौटते समय देख लिया था. थोड़ी देर के बाद मैं धीरे से उठा और वापस उनके दरवाज़े के पास गया, और जैसे ही मैंने अन्दर झाँका…दोस्तो, अब मैं ये कहानी यहीं रोक रहा हूँ.

सेक्सी बीएफ फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ

मेरे बुर से रस की धार बह रही थी! न जाने क्या हो गया था मुझे … काश सर मान गए होते! मुझे भी चुदने का पागलपन हो गया था … बावली हो गई थी. ‘अरे ये क्या कर रहे हो… इसकी इजाज़त नहीं है… ‘‘प्लीज़ मैम… ‘ दोनों ने मेरी और देखा. तभी विनोद अंकल मुस्कराते हुये आगे बढ़े और राजेश का लण्ड पीछे से आ कर थाम लिया और उसकी मुठ्ठ मारने लगा.

शायद उसके बॉस श्यामलाल पहले भी उसकी गांड मार चुके थे इसलिए मैंने ज़ोर का धक्का लगा दिया जिससे मेरा लगभग आधा लंड स्वाति की गांड में समा गया और वो चिल्ला उठी. कभी कभी रीटा राजू से जिद कर के पाँच पाँच बार चुदवाने के बाद भी और चुदवाने की जि़द करती. मैंने इतना कहा तो दीदी की आँखों से आँसू निकल आए और फिर हम दोनों ने एक दूसरे को बाहों में भर लिया.

मेरी जुबान ने जैसे ही उसकी भगनासा को छुआ, वो पागल हो गई और अपने दोनों हाथों से अपनी चूचियों को दबाने लगी. खैर तू यह गोली खा ले ! बेबी नहीं होगा !श्रेया : नहीं यार, अब ऐसी चीज़ें से दूर रहना है, कल लड़के वाले देखने आने वाले है …. ?वह कुछ और ही सुनना चाहती थी …मैंने जारी रखा- तुम्हारे बड़े-बड़े स्तन … तुम्हारे चूतड़ … मैं इन्हें सहलाना चाहता हूँ … इनमें डूब जाना चाहता हूँ.

मैं पूरे जोर से उसके मुँह में झड़ गई, वो सब चाट गया।फिर उसने अपना लौड़ा मेरी चूत के मुंह पर रख कर रगड़ना शुरू किया। मैं फिर से गीली होने लगी। मैं तैयार होती इसके पहले ही उसने पूरे जोर से अपना लौड़ा मेरी चूत में दे मारा !दर्द से मेरे आँसू निकल गए। पर उस पर तो जैसे पागलपन सवार था, कुछ सुन ही नहीं रहा था, बस चोदे जा रहा था। उसका एक एक झटका मेरी जान ले रहा था. ‘हाय रे मेरे राजा… मेरा तो निकाला रे… मैं तो गई… आह्ह्ह्ह्ह्ह’ और सोनू की चूत ने पानी छोड़ दिया.

मैंने फ़िर अपना लंड बाहर निकाल लिया और शिखा को फ़िर मिशनरी स्टाइल में चोदना शुरु कर दिया.

प्रेषक : राजेश अय्यरमेरे प्यारे दोस्तो और देवियो व भाभियो, आपने पहला भाग पढ़ा तो शायद उसमे कुछ झूठ नहीं लगा होगा क्योंकि यह मेरे घर की ही सच्चाई है। अब चाची बिगड़ी हुई है तो बेटियां भी बिगड़ी ही होंगी न …. एक्स एक्स एक्स राजस्थानीमतलब वो भी चुदाई का मज़ा लेने लगी थीं।तो मैंने भी एक बार में पूरा लंड बाहर खींच कर वापस एक ही झटके मे पूरा ठोक दिया।30 मिनट की ज़ोरदार चुदाई में भाभी 4 बार झड़ीं।अब जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने भाभी से कहा- भाभी मैं झड़ने वाला हूँ. पंजाबी सेक्सी वीडियो ब्लूरीटा पलटी और मुस्कुरा कर बोली- इस में शक ही क्या है, तुम बतलाओ, खेलोगे मुझसे?बेहया रीटा ने बहादुर के खेलने के लिये अपनी शर्ट के सारे को सारे बटन झटके से चटाक चटाक करके खोल कर अपने उरोज़ों को बेशर्मी से आगे उचका कर हिला दिया, तो बहादुर रीटा का पारे सी थरथराती गोलाइयों को देखा तो ठरक से पागल हो गया. मम्मी जोर जोर से चिल्ला रही थी- मुझे छोड़ दो! मुझे छोड़ दो! पर अंकल अपनी गति पर धक्का लग़ाते जा रहे थे.

फिर हम दोनों एक दूसरे से काफी देर तक बात करते रहे, बातें करते-करते हम दोनों को ही नींद आ गई.

रास्ते में बहादुर ने इशारा करके बताया कि वो उस का घर है, तो रीटा के दिमाग में बिजली सा विचार आया. अहह ऐसा मत करो सुनील !मैं तुम्हारे नौकर की बेटी हूँ …मालकिन को पता चल गया फिर ?मैंने मधु को गोद में बैठा लिया …. रात को फिर वही छबीली की गालियों की आवाज आई… उसका पति निढाल पड़ा था… और खर्राटे ले रहा था.

इस तरह रीटा और राजू का चौदम चुदाई का सिलसिला जारी रहा और रीटा को तो सही मायनों में चुदाई की लत लग गई थी. हम दोनों बस एक दूसरे को दूर से ही देख कर संतुष्ट हो लिया करते थे…!!!अगली क्लास में मेरे पास एक कॉपी आई उसमें लिखा था- अभी इसी वक़्त हॉल में आकर मिलो. वो भी हंसी मजाक में कभी कभी मेरे चूतड़ों पर हाथ मार देते थे, कभी मेरी पीठ पर हल्के से मुक्का मार देते थे.

भूतों की सेक्सी बीएफ

उस घने जंगले में पानी का स्रोत ढूंढने लगा… मेरी चूत को अपनी हथेलियों में भरकर उसने दबा दिया. तुम हो ना मेरे बॉय फ्रेंड… क्यों क्या नहीं हो?अँधेरा हो चुका था। मैंने अँधेरे में ही सोनिया का हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींचा तो सोनिया एकदम से मेरी बाहों में आ गई। मैंने सोनिया का चेहरा अपने हाथों में पकड़ कर अपनी तरफ किया और चूमने की कोशिश की तो सोनिया एकदम से मुझ से छुट कर भाग गई. शाम को जब मीनाक्षी रसोई में खाना बना रही थी, तब भाभी मुझे अपने बेडरूम में ले गई और बोली- रोहित, यार आज तो चोदो मुझे.

अलीशा! मुझे दे दो न अपनी हसीन सी चूत!ले मेरी जान! मेरे प्यार! और मैंने घूम कर अपनी चूत उसकी तरफ़ की तो कामिनी ने मेरे नरम चूतड़ पकड़ कर नीचे किये और मेरी चूत पर होंठ रखे तो मैं कांप गई- आह.

अंकल- चिंता मत करो डार्लिंग! आज मैं तुम्हें खूब चोदूंगा!यह कह कर अंकल ने मम्मी को अपनी बाहों में भर लिया और उन्हें निरंतर किस करने लगे.

मुझे भी मजा आने लगा था तो मैंने अपनी जीभ को और अन्दर तक डाल कर उसकी चूत को टटोलने लगा. अचानक उसका हाथ मेरी पेंटी में घुसता चला गया… मेरी सिरहन सर से पैर तक दौड़ गई लेकिन अब तक मैं बेबस हो चुकी थी…उसकी ऊँगली मेरी चूत की खांप में चलने लगी, मेरे शरीर में चींटियाँ ही चींटियाँ चलने लगी, मेरे हाथ उसके खोपड़ी के पीछे से मेरे बोबों पे दबाने लगे… मेरे मुँह से अनर्गल शब्द निकल रहे थे… आं… ऊँ हाँ… और जाने क्या क्या…मैं मिंमियाई सी कुनमुनाने लगी, मेरी चूत से पानी निकलने लगा. सनी लियोन का सेक्सीअब तो ना वो बर्दाश्त कर पा रहा था न मैं… मैं जल्द से जल्द कुछ कर गुज़ारना चाहती थी… अपना सब कुछ उसे सौंप कर हमेशा के लिए उसकी हो जाना चाहती थी.

तभी बाजी ने कहा- ओह्ह्ह मेरे चोदू राज! मेरा पानी निकलने वाला है! हाय ऊह्ह्ह अऔह्ह्ह्ह! और जोर से चूस मेरी बुर को!बाजी अपनी बुर को राज अंकल के मुँह रख कर अपनी गांड को जोर जोर से हिलाने लगी- ओहह्ह औऊउ हाय औऊउ ले साले मेरी बुर का पानी!और बाजी ने अपनी बुर का पूरा पानी राज अंकल के मुँह में गिरा दिया. और जैसे ही उसने मेरे लंड को पकड़ा मैंने उसके बाल पकड़ लिये। और पकड़े-पकड़े ही ऊपर आ गया और जैसे ही वह चेहरा ऊपर आया, मेरी आँखे फटी की फटी रह गईं और मुँह खुला का खुला…. !!सिपाही के जाते ही मैं भी रानी के वेश में कमरे से बाहर निकली, ताज्जुब की बात तो यह थी कि कहीं पर भी कच्छी और ब्रा नाम की चीज़ नहीं थी, मैं महारानी के वस्त्रों में तो थी पर अन्दर से एकदम नंगी ! मेरे चूचे चलते-भागते हिल रहे थे, कि तभी मैं एक जगह जाकर छुपी….

अब मैं भी जाग गया, मैंने कहा- आंटी, क्या कर रही हैं आप? मुझे नंगा क्यों किया?मैंने ऐसे ही झूठ का नखरा किया. और फिर वो उम्र ही ऐसी थी… दूसरे लिंग के प्रति आकर्षण स्वाभाविक था…!!पर लोगों का हमारे बारे में बातें बनाना उसे बुरा लगता था.

मैंने अन्तर्वासना पर लगभग सारी कहानियाँ पढ़ी हैं और अब मैं अपनी कहानी भी भेज रहा हूँ.

’और उसने एक हाथ से अपनी चूची पकड़ी और मेरे मुँह में डालने लगी… उसके पैर उसी तरह हिल रहे थे. वो मेरे और पास आई और बोली- एक बात बताओ, क्या मैं इस एक्ट्रेस से कम सेक्सी हूँ?मैं समझ नहीं पाया और बोला- यह आप क्या कह रही हैं. नेहा ने अपनी उंगली मेरे लंड की गर्दन पे (जहां सुपाड़ा खत्म होता है और लंड का दंड शुरू होता है) फ़िराना शुरू कर दिया….

एक्स गुजराती वीडियो हम भी ऐसा ही करते हैं!मैं समझ गया कि चाँदनी अब चुदने के लिए पूरी तरह तैयार है पर उसको यह नहीं अंदाज़ है कि वो फिल्म की लड़की कितना चुद चुकी है, और इसकी पहली बार चुदने वाली कसी चूत! काफ़ी अंतर है दोनों में!तो मैंने उसको बिस्तर के किनारे पर लिटाया, उसको उसके दोनों पैर कंधे तक मोड़ कर पकड़ने को कहा. इधर-उधर देखने लगी, मैं भी दूसरी तरफ देखने लगा और ज्योति वापिस अपने कमरे में मुड़ गई.

पापा मम्मी और विशाल दो दिन के लिए नानाजी स मिलने चले गए और घर में चिंकी और मैं अकेले रह गए. ‘फिर आप साबुन लगाकर नहाई, नहाकर जैसे ही चुकी, आपके घर की घण्टी बजी, आपने जल्दी से कपड़े पहने और दरवाजा खोला तो सामने मैं खड़ा था!’इस समय मेरे होंठ उसके गालों पर रेंग रहे थे और हाथ वक्ष पर!मैंने पूछा- यह सच है या नहीं?अबकी बार उसने पूरी ताकत लगाकर अपने को छुड़ा लिया और…कहानी जारी रहेगी।[emailprotected]. जिससे मेरी चूत को ही नहीं गाण्ड को भी दर्द हो रहा था… जैसे चूत के साथ साथ गाण्ड भी फट रही हो…मेरा पानी फिर से निकल गया… तभी उसका भी ज्वालामुखी फ़ूट गया और मेरी चूत में गर्म बीज की बौछार होने लगी… उसका लण्ड मेरी चूत के अन्दर तक घुसा हुआ था इसलिए आज लण्ड के पानी का कुछ और ही मजा आ रहा था…हम दोनों वैसे ही जमीन पर गिर गये। मैं नीचे और वो मेरे ऊपर…उसका लण्ड धीरे धीरे सुकड़ कर बाहर आ रहा था.

हिंदी बीएफ इंग्लिश चुदाई

जाने साधारण अवस्था में वो मुझे चोदता या नहीं, पर नशे में टुन्न उसे भला बुरा कुछ नहीं सूझ रहा था, बस जानवर की तरह उसे चूत नजर आ रही थी, सो लण्ड घुसा घुसा कर उसे चोद रहा था. बहादुर ने रीटा को कस कर आपने आगोश में ले लिया और अपना तीर सा लण्ड अब रीटा की चूत में आखिर तक घुसेड़ दिया तो रीटा का बदन तले पापड़ सा अकड़ कर तड़क गया. तभी सुनील ने झट से उसको लेकर पलंग पर छलाँग लगाई … पलंग पर गिरते ही उसकी ब्रा का हुक खुल गया और सुनील ने बिना कोई मौका गंवाए उसकी ब्रा बदन से अलग कर दी.

मैंने शीशे में अपने आपको निहारा, हाय! क्या प्यारे प्यारे स्तन हैं मेरे! पतली कमर, चूत कमसिन सी, जिस पर रोयेदार बाल! घूमी तो दोनों चूतड़ क़यामत ढाते हुए!मैंने अपनी छोटी अंगुली चूत में घुसाना शुरू की तो चूत एकदम पनिया गई. मैंने हिम्मत करके अपने सीने पर ब्लाऊज का ऊपर का बटन खोल दिया था, ताकि उसे अपना हुस्न दिखा सकूं.

सोमा ने मुझे देखते हुए कहा।कमल ने बिना देरी किये अपना सात इंच का मूसल मेरी चूत में रखा और मेरे दाने को रगड़ने लगा।मैंने आँखे बंद कर ली………फिर कमल ने अपना सुपारा मेरी चूत में घुसाया तो मैं मचल गई …….

मैंने मन ही मन सोचा कि अब इन लोगों ने मुझे नंगा तो देख ही लिया है और अभी तक अपना काम भी नहीं हुआ है. मैं दुकान में पहुँचा, दो कोल्ड ड्रिंक मंगाए और पिंकी को लेकर अन्दर के कमरे में चला गया. मैंने दबा दबा कर उसकी गांड मारी और एक दम लाल कर दी…फिर मैंने अपना लण्ड बाहर निकाला और उसके मुँह में डाल दिया…वो भी जोर जोर से उसे हिला रही थी…और कुछ देर के बाद मैं फिर से झड़ गया…उसने मेरा सारा माल पी लिया…और मैंने उसके बाद उसे एक किस की और बोला- जान ! आज तो मज़ा ही आ गया… थैंक्स …!वो बोली.

एक महीने के बाद भाभी ने शर्त के अनुसार अपनी नौकरी छोड़ दी और हम दोनों वापिस दिल्ली अपने घर आ गए. मुकेश ने मेरी चूचियों को मसलते मसलते एकदम टीशर्ट को खींच दिया जिससे टीशर्ट फट गई और मेरे दोनों स्तन आज़ाद हो गए. सुनील मेरे सामने आ कर बैठ गया और अपना लौड़ा मेरी चूत में घुसाने लगा, मैं अनिल पर उलटी लेट गई और सुनील ने मेरे ऊपर आकर अपना लौड़ा मेरी चूत में घुसा दिया.

जैसे तैसे मैं सिपाहियो के सहारे खड़ी हुई।हवा में कामरस की खुशबू मुझे और चुदने को मजबूर कर रही थी.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी में फुल एचडी: भाभी बोली- मजा आ गया पहली बार गांड मरवाने में! बहन का लौड़ा, मेरा पति तो मेरी गांड चोदता ही नहीं है. 4 दिन जयपुर में बिताने के बाद हमें दिल्ली के लिए निकलना था मगर मेरे घरवालों ने मुझसे भाभी की खैर लेने के लिए कहा था इसलिए मैं जयपुर में रुक गया और योगी और बाकी सभी दोस्त दिल्ली निकल गए.

इतनी सी देर में जाने क्या से क्या हो गया। आभा को चोदने की ललक मुझमें बढ़ने लगी। इतना कुछ होने के बाद चुदाई में देरी क्यूं करूं…. तभी उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये जिससे मेरी बची हुई शर्म भी चली गई और मैं भी उनके होंठ चूसने लगा. मैंने एक झटके में अपनी मैक्सी ऊपर उठाकर नीचे कर कहा- देख क्या रहे हो? गांड में दम है तो आओ.

फिर उसने मुझसे कहा- सब मैं ही उतारूंगी या तुम भी कुछ उतारने वाले हो?मैंने उसे बोला- मैंने तुम्हें कब मना किया है, तुम्हें जो उतारना है उतार दो.

! उसने शिश्न को थोड़ा बाहर खींचा था।मैंने सोचा वह हमदर्दी में ऐसा कर रहा है, इसलिए ढीली पड़ी थी। मगर तभी एक बेहद जोर का धक्का लगा और मेरी आँखों के आगे तारे नाच गए। वह मुझे फाड़ते हुए मुझमें दाखिल हो गया। मैं खुद को भींच भी नहीं पाई थी कि उसे रोक सकूँ।मेरी साँस रुक गई। मैं बिलबिला उठी। आ ऽऽऽ ह …. अगले दिन क्योंकि हम सबको पिकनिक पर जाना था सो हम सभी सुबह जल्दी उठ गए लेकिन अचानक ऑफिस का जरूरी काम पड़ने के कारण भैया का आना कैंसल हो गया तो भैया ने मुझसे भाभी को घुमा लाने को कहा मगर भाभी ने मना कर दिया. हम पंद्रह मिनट तक एक दूसरे को चाटते रहे और फिर मैंने अपना लंड दीदी की चूत पर रख दिया.