एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी

छवि स्रोत,सम्भोग कैसे करे

तस्वीर का शीर्षक ,

मसाज करने वाला: एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी, मदन ने मुझको बताया कि यदि बवासीर होती है, तो कोई लड़का कॉल ब्वॉय नहीं बन सकता.

ओपन सेक्स हिंदी

यह कज़िन सिस Xxx स्टोरी आज से एक साल पहले उस वक्त की है, जब मेरे मामा की बेटी मेरे गांव आई थी. घरेलू फिगर फोटोमेरे बॉक्सर में खड़ा लंड देख कर रंजना बोली- क्या हुआ जनाब, अपने केले को कंट्रोल करो, वरना परेशान हो जाओगे.

मैं स्माइल करके बोला- झेल लोगी?दीप्ति हंस कर बोली- अब कोई रास्ता भी तो नहीं है. न्यू सेक्सी वीडियो अंग्रेजीवो बोली- तेरी इन पर आज इतने सालों बाद कैसे चली गई?मैंने कहा- मैंने कभी भी तुझे इतना सेक्सी रूप में देखा ही नहीं था.

जवान भाभी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की यंग बीवी को रेलवे स्टेशन के आरामकक्ष में पूरा मजा लेकर और देकर चोदा.एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी: अगर ऋण लेने वाला कर्ज चुकता करने आता था, तो व्यापारी हिसाब इस तरह से करता था कि तीन तिया इक्कीस … दो कम किया और ला बीस.

उसको दुविधा में देख मालकिन ने आगे बढ़ कर उसका हाथ पकड़ा और अपनी कमर पर रख दिया.मैंने कहा- हां पर धीरे मसल न!फिर वो मुझे बोला- चल नीचे घुटनों के बल बैठा जा!मैं बैठ गया.

दिवाली कार्टून - एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी

उस समय हम दोनों उठे और मैंने फिर से एक बार भाभी की धमाकेदार Xxx चुदाई की.करीब 10 मिनट तक चली जबरदस्त चुदाई के बाद मैं भी झड़ने वाला था, मैंने अपना सारा गाढ़ा माल उसकी चूत में ही निकाल दिया।5 मिनट तक मैं उसके नंगे जिस्म के ऊपर ही लेटा रहा और उसके बोबे चूसता रहा।अब मैंने उससे उसकी गांड मारने को बोला.

उसने मुझसे ये बात अब कही थी मगर मैं भी लव से काफी पहले से प्यार करती थी. एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी अब मैं मौके का फायदा उठाना चाहता था तो मैंने मैडम के मम्मों को मसलना चालू कर दिया.

दोनों के लंड थोड़े से मोटे थे तो मुझे दोनों का लंड एक साथ मुंह में लेने में तकलीफ होने लगी.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी?

इस कारण से जब भी बाइक गड्डे में गिरती और ब्रेक लगता तो भाभी की चूचियां मुझे रगड़ सुख दे रही थीं. अब प्रीति ने अपनी चूत बुआ के मुँह में रख दी और बुआ उसकी चुत चाटने लगीं. दोपहर का खाने के बाद उसने फिर से पूछा- क्या सोचा तुमने?‘कुछ भी नहीं.

विशु लोअर ऊपर करने लगा लेकिन मैंने उसे रोक दिया और देर ना करते हुए फ़ौरन उसका लंड अपने हाथ में पकड़ लिया. मैं अपने बर्थ सूट में उसके सामने अलफ नंगी खड़ी थी और वो ऊपर से नीचे तक मेरे प्रत्येक अंग को निहार रहा था. सुहानी दीदी को खिड़की से मेरी सारी करतूत दिख गयी, पर मुझे उसकी खबर नहीं थी.

मॉम ने मर्दों की तरह एक चूची को मुँह में डाल लिया और मजे से चूसने लगीं. मैं भी उसकी मोटी गांड पकड़ कर चूत को अपने मुँह में ढकेलने लगी और काटने लगी. वो बोली- चलो देखती हूँ घर पर भी गोली देनी पड़ेगी कि सारी रात किस सहेली के साथ रहने वाली हूँ.

मेरी आंख खुली, तो वो मुस्कुरा रही थी और अचानक उसने अपनी जीभ निकाल कर मेरे लंड के सुपारे पर फेर दी. माया के देखने के बाद मैंने उस पर से नजरें हटा लीं और चाची की गांड को देखने लगा.

फिर मैंने उन्हें बिस्तर पर घोड़ी बनाया और पीछे से दीदी की चूत में लंड घुसा दिया.

मैंने ड्राइवर को फोन किया कि मेरे लिए चार हार्ड वाली चार बियर ले लेना.

दीप के चाटने से उसका थूक और नीता की चूत का पानी दोनों मेरे बदन और चेहरे पर गिर रहे थे मगर मुझे इस में कुछ भी बुरा नहीं लगा. इस सब में अब मुझे भी मज़ा आने लगा था और मेरा मन कर रहा था कि मैं भी सब कुछ करूँ पर ऐसा दिखा नहीं सकती थी उसको!उसने मेरा हाथ पकड़ के अपने लंड पे रख दिया और खुद मेरी गोल चूचियों से खेलने लगा जिसके निप्पल एकदम तन के खड़े हो गये थे और उसी का साथ दे रहे थे. भैया ने कहा- अभी रुक कर खाएंगे, पहले हम दोनों ड्रिंक एन्जॉय करेंगे.

इधर सामने से रमेश अपने घुटनों पर बैठ गया और उसने मिहीन की फैली हुई टांगों के बीच से घुस कर मीरा की चूत को जीभ से चाटना शुरू कर दिया. उसके जाने के बाद अपने मन में उसके लंड की कल्पना करके मैं अपनी गांड में कुछ न कुछ डाल कर मस्ती लेने लगता था. वगैरा वगैरा!यह सब सुनकर वह लोग बोले- आज से तुम हमारी पर्सनल रंडी बन कर रहोगी.

अब मैं सुनीता की गर्दन से सीधे बूब्स मसलते हुए पेट पर पेट से जांघों तक और जांघों से पैर तक मालिश कर रहा था।वो अपनी गर्दन उठा कर आहें भर रही थी और अपने हाथों से मेरी जांघ पर हाथ फेर रही थी मानो कुछ ढूंढ रही हों.

हॉट भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पहली बार कोई चूत चोद कर सेक्स का मजा लिया. उसने बहुत नखरे दिखाए और बाद में बोला कि उसे मेरे साथ सेक्स करना है. उधर मेरी बीवी थामस के लंड पर बैठी हुई झुक कर उसका लंड ही मर्दों की तरह चोदने लगी.

बीवी किस लिए बनी हो, अपने पति की जरूरत को पूरा करने के लिए ना!भाभी- ठीक है बाबा कर लो अपनी इच्छा की पूर्ति. अब चाचा जोर जोर से झटके मारने लगे जिससे फिर से पट पट की आवाज आने लगी. मेरी छटपटाहट देख कर अंकित ने लंड बाहर खींचा और तेल लगा कर वापस मेरी गांड में अपना लंड घुसा दिया.

वो मेरे ऊपर था, मुझे किस करते करते अपने लंड को अन्दर बाहर कर रहा था.

उसी समय राहुल ने मेरी मॉम को जोर से अपने लंड पर दबा लिया तो वो ‘आह मर गई …’ कह कर सिसिया उठीं. मैं- कोई बात नहीं, मीना में बस डर रहा था कि कहीं तुम मुझे गलत न समझ लो.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी फिर एक दिन मैंने उसको बता दिया कि मैं एक लड़का हूँ और मुझे आपके साथ सेक्स करना है. ये सुनकर मेरी बीवी अनिता के मन में आ गया और वह बोली- हां यार, अब मैं भी किसी विदेशी से चुदवा कर ही वापस जाऊंगी.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी जैसे एक औरत मूड ना होने के बावजूद भी अपने पति के लिए चुदने को तैयार हो जाती है, वैसे दीप्ति को नींद आने के बावजूद वो मेरे लिए तैयार हो गई थी. फिर उसकी सहेली ने उसे बताया- शायद वो तेरे साथ दोस्ती करना चाहता है.

मानव अभी दूसरे शहर में आराम से सो रहा होगा और इधर में उसकी बीवी की चूत का बाजा बजा रहा था.

सेक्सी फिल्म दिखाइए मूवी

लेकिन मेरी एक सहेली ने जब मुझे हिंदी कहानी की साइट के बारे में बताया कि यहां सेक्स स्टोरी पढ़ने में बड़ा मजा आता है तो मैंने साईट खोल कर पढ़ना शुरू किया. कुछ देर भाभी की गांड मारने के बाद मैंने भाभी को लिटा दिया और पीछे से एक टांग ऊपर करके चूत में लंड डाल दिया. हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ देखा तो मैडम ने अपनी बांहें फैला दीं और मुझे करीब आने का इशारा कर दिया.

दोस्तो, मैंने दो पुलिस वालियों को लॉक डाउन में चोदने की अपनी सेक्स कहानी आपको सुनाई, आपको कैसी लगी यह लेडी पुलिस सेक्स कहानी?ईमेल करके बताएं. उसमें जब कॉल गर्ल या कॉल ब्वॉय के पुरुष/स्त्री ग्राहक उनके होंठ चूमने के बाद, होंठ जीभ चूसने की कोशिश करते, तब कॉल गर्ल या कॉल ब्वॉय ग्राहक का ध्यान दूसरी तरफ करने के लिए ग्राहक की गर्दन, गाल, कान आदि को चूमने लगते थे. प्रेक्टिस कर, अभी तीन महीने हैं तेरे पास! अपने पति की बरसी तक खीरे गाजर ले कर अपनी गांड अच्छी तरह से खोल ले.

मैं जैसे ही वहां पहुंचा, तो उन्होंने मुझे देखा और बोले- तुम कौन?मैंने कहा- मैं सिंह साहब का लड़का हूँ.

चाय के बाद एनीमा लेकर पेट साफ करके, नहाकर, हाफ पैंट और टी-शर्ट पहनकर तैयार रहना होगा. उसने ऊपर एक बार फिर से मेरी चूचियों की तरफ देखा और एक सीटी मारी और बोला- वाह, तेरे तो निप्पल भी बड़े मस्त और खड़े हैं. मैं- ज्यादा नाटक मत कर, रात को तो नंगा सोता है, ऊपर से सपने में मुझको चोद भी देता है … और अब मेरे सामने नाटक कर रहा है.

उसके सामने ऐसे केवल ब्रा और पैंटी में खड़े हुए ऐसे लग रहा था जैसे कुछ पहना ही ना हो. वो बोली- चलो बताओ किस तरह से प्यार करना चाहते हो?मैंने कहा- बस तुम्हारी राजी से तुम्हारे साथ एक बार मजा करना चाहता हूँ. जब वो मुझसे पीछे से जिस तरह से चिपक कर बैठी थी न … तो ऐसा लग रहा था, जैसे उसके मम्मे हल्की सी गर्माहट लिए मेरी पीठ को तपा रहे हों.

मैंने नैना की ओर देखते हुए आनन्द से कहा- यार आनन्द, भाभी बहुत अच्छा खाना बनाती है. इससे मेरी हिम्मत थोड़ी और बड़ी और मैंने उसके बूब्स पर अपना हाथ डाल दिया.

इंडियन X हिंदी कहानी में पढ़ें कि पुणे जाते वक्त मैंने सड़क के किनारे एक कार और लड़की को खड़े देखा. भाभी मुझे लेकर उस कमरे में गईं, वहां कोई नहीं था … तो मैंने मौके का फायदा उठाकर उन्हें पकड़ लिया. बाबा आगे बोले- और आज से जरा जल्दी सुबह के समय आना, जिससे शाम तक तू अपने घर वापस जा सके.

पहले तो ठीक ठाक बात होती थी मगर जल्द ही हमारी बात का सिर्फ एक ही विषय रह गया … सेक्स.

मैं उम्मीद करता हूं कि मेरी आज की देसी हॉट चूत की कहानी आप लोगों का भरपूर मनोरंजन करेगी. पलंग के कोने पर ले जाकर उसे चोदा, दोनों पैर मेरे सर पर रख कर भी चोदा. मैं उसकी पीठ रगड़ती हुई बोली- क्यों राहुल, रोज चड्डी पहनकर ही नहाते हो क्या?राहुल- नहीं … लेकिन आज आपके सामने कैसे नंगा हो सकता हूँ?मैं- क्यों क्या हुआ, शर्माता क्यों है मुझसे.

मैंने कहा- कौन सी वाली मम्मी जी?मम्मी ने आंख दबाते हुए कहा- वही जो लड़की लड़की के साथ करती है. मेरे मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह आह … आह बस ओह यस अब निकल जाएगा ओह.

मैंने उससे पूछा- हाथ पैर भी दर्द कर रहे हैं?दीदी ने कहा- हां हाथ पैर में एकदम दर्द कर रहा है. उसके होंठों से होता हुआ गाल, फिर कान और उसकी सुराही जैसी गर्दन को चाटने लगा. और मैं सिर्फ आह आह आह कर रहा था।मैं वहीं बैठा रहा और वो मेरे माल‌ को अपने बूब्स पर मल रही थी.

గుజరాతి సెక్స్ వీడియో

कॉल गर्ल को फ्लैट में रहने वाले लोग घर नहीं ला सकते, पड़ोसियों को पता लग सकता है.

अब मैंने उनकी पैंटी और ब्रा उतार फैंकी और उनके मम्मों को चूसने लगा. मैंने बोला- क्यों?वो बोले- तुम्हें चुदाई करनी है न?मैंने हां कर दिया. भाभी मना करने लगी, कहने लगी- कोई देख लेगा!मैंने कहा- भाभी, दादी तो सो रही है.

बस इसी वजह से मेरा मन बन गया और मैं आज आपको अपनी देसी वर्जिन Xxx कहानी लिख रही हूँ. फिर मैंने अपने हाथों से ही उसे उसकी सारे कपड़े पहनाये और गले लगा लिया. हैप्पी न्यू ईयर का गानामैंने उससे कहा- क्या मैं तुम्हारी कोई मदद कर सकता हूं?दीदी ने कहा- नो थैंक्स.

मेरी मॉम ने एक झटके में पैग पी लिया और राहुल के होंठों को चूस कर अपना स्वाद ठीक कर लिया. मैंने अब उसकी बुर में दो उंगलियां डालने की कोशिश की, लेकिन नहीं जा रही थीं.

वो डॉक्टर के पास गई और डॉक्टर ने उसे अन्दर केबिन में ले जाकर पहले ऊपर से नंगी कर दिया. हाथ में पकड़ो, मुंह में लो या फिर यहाँ!अपने नीचे वाले हाथ की उंगली को मेरी दोनों टाँगों के बीच घुसाते हुए बोला. मैं और कुछ बोलता, तब तक कोमल दीदी अन्दर आ गईं और बोलीं- मुझे भी चांस मिलेगा क्या?मोनिका- दीदी पहले मैं कर लूं … फिर आप भी कर लेना.

बार बार मैं उन्हें किस करने की कोशिश कर रहा था लेकिन वह अपने होंठ खोल ही नहीं रही थीं. तभी मैंने चुपके से देखा तो देवर ने मेरे एक स्तन को ऊपर से ही अपने मुँह में ले लिया था और बड़ी वासना से मेरा दूध चूस रहा था. उसकी उंगलियां अभी भी चूत की फांकों को सहला रही थी।अपने सिर को अंजलि ने तकिया से सटा लिया और बोली- चाचा, अपना लंड मेरी चूत में पेलो, साली बहुत फड़फड़ा रही है।मेरी प्यारी बहू की चूत काफी पनिया गयी थी इसलिये लंड आसानी से अंदर चला गया।बहू ससुर सेक्स कहानी में आगे आपको और मजा मिलेगा.

आनन्द अब मेरे ऑफिस से निकल कर फैक्ट्री के दूसरे हिस्से में चला गया था.

उसके बाद क्या हुआ?लेखक की पिछली कहानी थी:भाभी के साथ रोमांस भरे सेक्स की कहानीनमस्कार दोस्तो, मेरा नाम आरव है और मेरी उम्र 22 साल है. वो कभी पीछे मुड़ने के बहाने मुझे स्पर्श करता तो कभी हिलने डुलने के बहाने.

एक 32-26-34 साइज़ की सीधी सादी शर्मीली लड़की बिना उसकी मर्ज़ी के और साथ ही बिना किसी ज़ोर ज़बरदस्ती के पूरी नंगी की जा चुकी थी. बाथरूम में जाकर खुद को शॉवर के नीचे खड़ा करके नहाया और एक नई ब्रा पैंटी पहन कर बाहर कमरे में आ गया. फिर उसने मुझे खड़ा किया और मेरा एक पैर अपने कंधे पर रखते हुए अपने लंड को मेरी चूत पर सैट किया.

वो मेरे बदन पर अपना हाथ क्यों फेरती थीं, ये मुझे नहीं मालूम था मगर मुझे अच्छा बहुत लगता था. मैंने ऐसी चुदाई पहले सिर्फ पोर्न में देखी थी, आज सामने से भी देख ली, वो भी अपनी मॉम की चुदाई. फिर थोड़ी देर बाद जब वो बिस्तर पर आई, तो मैंने कहा- ज्योति तुम्हारा काम तो हो गया … पर मेरा क्या?उसने कहा- दीदी आ जाएगी.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी एक दिन दीदी का फोन आया- राहुल, मेरे पास आकर हमारा घर देख जाओ, मै जीजा जी ने तुम्हारे इंटीरियर का काम जबरदस्त कराया है।मैंने तुरंत अपना बैग पैक किया और बस पकड़कर लखनऊ में आशियाना में दीदी के घर जा पहुँचा।आपको बताना भूल गया कि मेरी नेहा दीदी की उम्र लगभग 31 साल की है उनका फीगर गजब का है. मैं अपने लव से मिलने तो जा रही थी और मन में क्या था, कुछ नहीं मालूम था.

ইন্ডিয়া ব্লু ফিল্ম

उसने मेरे बालों को जोर से पकड़ा और कमर को आगे पीछे करके मेरे मुँह को जितना अन्दर तक हो सकता था, चोदना शुरू कर दिया. मेरी आंखें बंद देख कर उसने राहत की सांस ली और वो उठ कर वाशरूम चला गया. कुछ देर की चूमाचाटी के बाद पापा ने दीदी को डॉगी स्टाइल में करके उनकी कमर के नीचे तकिया लगा कर उन्हें झुका दिया.

अब आगे वाइफ हॉट सेक्स कहानी:चाचा ने अपनी जीभ से मम्मी का सारा पेट गीला कर दिया था और चाचा के थूक में सनी हुई मम्मी की चिपचिपी कमर बहुत ही उत्तेजक लग रही थी. मैंने तो रास्ते में ही मन बना लिया था कि आज कुछ भी हो जाए, दीदी को चोदना ही है. सेक्स बच्चीतभी मैं सुनील के पास जाकर घुटनों के बल बैठ गयी और पैन्ट के ऊपर से उसका लंड सहलाने लगी.

तभी मुझे मैडम की मूतने की आवाज सुनाई दी ‘शर्र सर्र सशर्र… ’ये आवाज सुनते ही मेरे दिमाग में खुराफाती आईडिया ने जन्म ले लिया कि क्यों न मैडम को पेशाब करते देखा जाए.

मैंने भी लौड़ा चुत में सैट कर दिया और धांए धांए फायरिंग शुरू कर दी. कुछ देर बाद उन दोनों ने मेरी मॉम को हवा में टांग लिया और उनके दोनों छेदों में लंड चलने लगे.

घर में आकर भाभी जी ने मुझे चाय के लिए पूछा तो मैंने काम का बहाना मार कर उस समय मना कर दिया और उनसे जाने की इजाजत मांगी. हॉट मैरिड गर्ल सेक्स कहानी मेरे साथ काम करने वाली शादीशुदा लड़की की है. मैं भी समझ गया कि समय और जगह ठीक नहीं है और आंटी अभी बिल्कुल पास में सोई थीं.

मैं- क्यों पहले भी किसी का पकड़ कर देखा है क्या?मीना- नहीं जीजू, अभी तक तो बस मोबाइल में ही वीडियो में देखा है.

तब तक चाची आ गईं और बोलीं- आप कहां गई थीं?तब तक मैं अन्दर आकर बोला- अनिल के घर गए थे चाची … मॉम को आराम करने दीजिए. पार्टनर स्वैप सेक्स इन ओपन का मजा लिया मैंने गोवा के समुद्र तट पर! हम दोनों खुले आसमान के नीचे एकांत जगह में वाइफ स्वैपिंग करने ही गये थे. राहुल- नहीं पहले आप वादा कीजिए कि आप मुझे रोज दूध पिलाओगी, तभी मैं पियूंगा.

छोटी वाली सेक्स वीडियोभाभी ने हंस कर कहा क्या हुआ मेरी जान … मेरी कमी सहन नहीं हुई क्या?मैंने उनके दूध दबाते हुए कहा- आज तो सारे दिन तुम्हें छोड़ने का जी ही नहीं कर रहा है मेरी जान. वो सामने वाला जोड़ा छिपी निगाहों से हम दोनों की प्रणय लीला को देख रहे थे और मजा ले रहे थे.

सेक्सी बोलने वाली वीडियो

इस बार काफी देर तक चुदाई का मजा लेने के बाद मैडम बोलीं- कोई और पोजिशन ट्राई करें. रानी भी उनके साथ बहुत खुश थी क्योंकि यह सब उसे बहुत दिन बाद करने को मिल रहा था. मैं रात को उनके पास गया और कहा- बताइए, मैं आप की मालिश कर दूं!तो उन्होंने मना कर दिया.

फिर मैंने दीदी से कहा- तुम्हारा सर दबा दूं?दीदी ने तुरंत हां कह दी. अब मैं उससे चुदना चाहती थी, मैं उसके लंड का अंतर अपने पति से करने लगी थी. मॉम हंस कर बोलीं- चुप रह बदमाश … मुझे चुदता देख कर तू तो बहुत खुश हो रहा था ना.

मेरी उंगली अपनी चूत में पाते ही सासू मां ने सीत्कार भरी और अपने हाथ से मेरे हाथ को ऐसे पकड़ लिया जैसे वो उंगली को अपनी चूत में अन्दर बाहर करवाना चाह रही हों. इतना कहकर वो बाहर चली गई और मैं अपने कपड़े लेकर गेस्ट रूम में चला गया. मुझे पानी सा महसूस हुआ तो पूरा लंड घुसा घुसा कर उसकी चूत पूरी खोल दी.

हैलो फ्रेंड्स, आपने मेरी पति पत्नी अदल बदल कर चुदाई से भरी गरम सेक्स कहानी के पहले भागसमुद्र किनारे बीवियों की अदला बदलीमें अपना लंड खूब हिलाया होगा, पाठिकाओं ने अपनी चुत में उंगली चलाई होगी. बिना कुछ सोचे मेरे हाथ दुगनी गति से वापस वहीं पहुँच गये और उसके हाथ उसी गति से नीचे … वो भी मेरी पैंटी के साथ.

उन्होंने गोल्डन कलर की साड़ी, ब्लैक स्ट्रिप वाले गोल्डन ब्लाउज को पहना था.

पापा ने थोड़ा सा थूक लगा कर चूत में लंड डाल दिया और जोर जोर से धक्के देने लगे. सबसे अच्छी कहानीफिर उन्होंने अपनी चूत मेरे मुँह पर टिका दी और बोलीं- ले अब चाट साले चाट मादरचोद, यही छेद देखना चाहता था न … ले चाट चाट कर साफ कर भोसड़ी के. जानवर वाली सेक्सी वीडियो एचडीउसने कहा- मेरी दिली इच्छा है कि मैं तुमसे अपने पूरे बदन पर हाथ फिरवाऊं. अब वो मेरी तरफ देखने लगा, मानो कह रहा हो कि दूसरा स्तन भी मुँह में दे दीजिए.

मैंने ध्यान दिया कि डॉक्टर ने भी अपना लंड एक दो बार मसल दिया था जो मेरी बीवी ने भी नोटिस किया था.

पर वो झूठ मूठ का मना करने लगी- नहीं जीजू, ये सही नहीं है।पर वो अंदर ही अंदर बहुत खुश थी उसने अपने दिल की बात मुझे बाद में बताई थी कि मैं भी आपको पसंद करती हूँ।तो इस घटना के बाद हम सेक्स करने के लिए मौका ढूंढ ही रहे थे कि एक दिन मेरी बीवी को मेरे मम्मी पापा का काल आया और वो घर जाने के लिए बोलने लगी. उस समय इतने लोग थे कि नई भाभी के लिए किसी के बारे में एकदम से सब कुछ जान पाना मुश्किल था. ये बोलती हुई अनन्या मुझसे अलग हो गई और अपना फोन निकाल कर मेरी तरफ कर दिया.

मैंने हल्की सी स्माइल करके लंड पर कंडोम लगाया और वापस बेड पर आ गया. वो बोला- अरे तो आप क्यों नहीं गईं?मैं बोली- पागल है क्या तू, मैं कैसे जाती!वो हंसते हुए बोला- अरे दीदी, मैं तो मजाक कर रहा था. वो बोला- जिस तरह ये निप्पल मसले जा रहे हैं, तू भी मसली जाएगी, अब तू वही करेगी जो मैं कहूँगा.

चुदाई की हिंदी कहानी

मेरी बुआ की काले रंग की टाईट ब्रा से चुचे बाहर निकलने के लिए तड़प रहे थे. इस बीच मैं झड़ने को हुई तो मैंने सुनील को कस कर मेरी बाँहों में जकड़ लिया और उससे जोर जोर से झटके मारने को कहने लगी. मैंने कहा- दीदी, मेरे हाथ में इतना जादू तो है ही कि तुम्हारे दर्द को भुला दूंगा.

मैं- क्या हुआ मीना तू अब इसे ऐसे ही पकड़े रहने वाली है क्या?मीना- जीजू, सोच रही हूँ कि आपका कितना मोटा और लम्बा है.

मैक्सी के अंदर हाथ डालकर मैं धीरे धीरे उनके चूतड़ों पर हाथ फेर कर मालिश कर रहा था.

और यहां कौन आएगा … बता! इतने पेड़ है और मेन रोड भी दूर है … अगर कोई गाड़ी की आवाज आएगी तो हम संभल जाएंगे. दीदी- तुम भी सोच रहे होगे कि मैं तो खाली मालिश करवाने के लिए कह रही हूँ. हम साथ साथ हैं फुल हिंदी मूवीएक मिनट बाद उसने फिर से कल्पेश की तरफ देखा तो कल्पेश ने हैंड शॉवर से उसकी चूत पर पानी डाला और चूत रगड़ कर धो दी.

इसके बाद मैंने उसकी ब्रा और पैंटी भी उतार दी और अपने कपड़े भी उतार दिए. फिर आज तो पापा के अलावा कोई और मर्द मेरी मम्मी के साथ ये सब करने वाला था. स्टोरी ऑफ़ सेक्स आफ्टर मैरिज में पढ़ें कि मेरी टीचर शादी के एक साल बाद जब मायके आयी तो मैंने उनको फिर से चोद कर मजा लिया.

फिर पापा दीदी के बगल में जाकर लेट गए और फिर से उनकी चुचियों से खेलने लगे. उसने कभी किसी से अपना लंड नहीं चुसवाया था और न ही किसी की गांड मारी थी.

आहह हऊ हह ऊईईई ऊईई मां बचाओ … मर गई … मेरी चूत फट गई … मां बचाओ … भाई निकाल लंड.

तुम लोग दोपहर में ही आना क्योंकि अस्पताल में ठहरने की कोई जरूरत नहीं है. मैं- बात तो सही है, पर तुम्हारे कपड़े चेंज करना मुझे सही नहीं लग रहा है. इसी कारण से अब्बू की मौत के बाद मेरी सोच मेरी अम्मी के लिए बदलने लगी.

सेक्सी वीडियो दिखाएं फुल एचडी मैंने एक एक पैग और बनाया और हम दोनों ने पी लिया।अब मैं भी गर्म होने लगी थी, उसके हाथ मेरे शरीर पर चलने लगे थे।मैंने उससे कहा- कि तुमने मुझे कोई गिफ्ट नहीं दिया?वो बोला- मैं एक डिलीवरी बॉय हूं मैं आपको क्या दे सकता हूं?मैंने मुस्करा कर कहा- तुम तो मुझे वो दे सकते हो जिसकी मुझे सबसे ज्यादा जरूरत है।वो बोला- मेरे पास कुछ नहीं है. मैं- फिर आपको बच्चा हो गया तो!दीदी- हो जाने दो, जल्दी करो और अन्दर ही रस निकालना.

यह स्टोरी मेरे और मेरी गर्लफ्रेंड राखी (बदला हुआ नाम) के बारे में है. मैं बोला- मोनिका, आज मैंने कोमल दीदी को देखा, उनसे बात करने का मेरा बहुत मन हुआ, पर हिम्मत नहीं हुई. मेरी बहन ने नाइटी पहनी हुई थी, उस नाइटी में उसके दूध बहुत ही बड़े और मस्त लग रहे थे.

सेक्सी टू सेक्सी टू

उनसे मेरी सेटिंग कैसे हुई?हाय दोस्तो, मैं आपका दोस्त असलम!मेरी पिछली कहानी थी:अम्मी ने मेरी बहन की चुत चुदवा कर रण्डी बनायामैं मेरी लेडी पुलिस सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. थामस ने मेरी बीवी की चुचियों को आंखों से चोदते हुए कहा- हम दोनों यहां कुछ ख़ास एन्जॉय करने के मूड से आए हैं. मैंने भी मजे से उससे पूछ लिया- अनिता, तुम्हें थामस का लंड पसंद आ गया न?अनिता बोली- हां यार, बड़ा मस्त लौड़ा है.

दोस्तो, चूँकि सर्दियों का मौसम था और खाना खाने के बाद तो सर्दी अधिक लगती है तो मैं और रवीना उसके कमरे में सोने चले गए. अब मैं और ऊपर आने लगा और उसकी पैंटी को टच कर दिया जिससे उसके पूरे शरीर में झुरझुरी सी होने लगी.

अपनी पड़ोसन भाभी के संपर्क में आकर मैं पक्का चुदक्कड़ बन गया था, तो जिन्दगी मस्त कट रही थी.

मैंने उसके नितम्बों को अपने दोनों हाथ से पकड़ कर उसे उठा लिया, उसने अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर पर लपेट लिया. तभी मेरी निगाह अपने मोबाइल पर गई जो कि किसी नोटिफिकेशन आने की वजह से ऑन हो गया था और अन्तर्वासना की साईट पर चलने वाले एक ब्लू-फिल्म के विज्ञापन की झलकियां चल रही थीं. मैंने अपने पैर फ़ैला दिए और प्रियंका मेरी तरफ देखती हुई मेरी चूत चाटने लगी.

मैंने उसकी तरफ देखा, तो बोली- बहुत दर्द हो रहा है, मैं नहीं करूंगी. इधर व्यापारी की छोटी बहू यानि अशोक की पत्नी लौड़े के लिए तरसती रही. मोनिका ने हाथ से पकड़ कर लंड चूसना शुरू कर दिया और मेरा लंड मोनिका के मुँह में पानी निकाल कर सिमट गया.

जेनीका वॉशरूम गई और मॉम का पारदर्शी गुलाबी रंग का शॉर्ट बेबीडॉल गाउन पहन कर आ गई.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ देसी: पर मैं उस पर ध्यान न देते हुए अपना लंड धीरे धीरे उसकी फटी चूत में आगे पीछे करने लगा।मैं अपने दोनों हाथों से उसकी चूची दबाता रहा।उसकी चूची मुझे मानो मक्खन जैसी लग रही थी. इस दोहरे हमले को ज्योति संभाल नहीं पाई और उसका पानी छूट गया जिसे मैंने पी लिया.

उस पर जैसे-जैसे स्पीड तेज होती जा रही थी, वैसे-वैसे बहू की कामुक आवाज भी. एक दिन सुनीता ने कहा- गोलू, तुम खाना बनाते हो और मैं भी … अब मैं ही तुम्हारा खाना बना लिया करुंगी, तुम यहीं खा लिया करो।मैंने कहा- ठीक है … पर आप परेशान होंगी।तो उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा- हम साथ में बनाएंगे।मुझे कुछ समझ में नहीं आया कि वे हंसी क्यों!हम साथ में खाना खाने लगे. मेरी इतनी गंदी हवस हो गई थी कि मैं अपने लंड पर तेल लगा कर हिला रहा था.

आपने तो मेरे मुँह में ही पानी छोड़ दिया!मैंने भी मुस्कुराते हुए उसे जवाब दिया- यार, तुमने माहौल ही ऐसा बना दिया था कि मेरा लंड बर्दाश्त ही नहीं कर पाया.

वो बोला- ये क्या होता है साब?मैंने लंड मुठियाते हुए कहा- जैसे चूत की सील टूटती है, वैसे ही लंड का धागा भी पहली बार में टूटता है. मेरी चूत में पहली बार कोई लंड गया था इसीलिए चूत की सील भी टूट गई थी. वो कुछ पल बाद थोड़ा सामने हो गई और टिश्यू पेपर से अपनी चूत को साफ करने लगी.