देवर भाभी के बीएफ दिखाइए

छवि स्रोत,सनी लियोन की सेक्सी हिंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो 2009 एचडी: देवर भाभी के बीएफ दिखाइए, मैं एक कठपुतली की तरह बैठ गई और उसके अगले एक्शन का इंतजार करने लगी.

बीएफ हिंदी भेजो

वो घर से बाहर गया और उसने देखा कि ऊपर वाले कमरे की एक विंडो बाहर खुलती है. देसी सेक्सी बीएफ चुदाईउसने मुझे थका सा देखा तो वो बोला- क्या हुआ बे … कोई बात हो गई है क्या?मैंने आंख मारी और अरुणिमा को खींच कर अपनी गोद में बिठा लिया.

इसी बीच हम दोनों बहुत आपस में खुलते गए और हमारे बीच हंसी मज़ाक भी होने लगा. ललिता भाभी बीएफनिशा के शब्दों में:पिछले साल एक बार रात को जब मैं पेशाब करने के लिए जगी, तो मम्मी के रूम के पास से गुजरते हुए मुझे कुछ आवाज सुनाई दी.

मैंने उसकी चुत को चाटना बंद नहीं किया और इसका नतीजा ये हुआ कि वो कुछ ही देर बाद फिर से गर्मा उठी.देवर भाभी के बीएफ दिखाइए: अब डायरेक्टर ने रश्मि को कुतिया बना दिया और पीछे से उसकी चुत में लंड रगड़ने लगा.

गीली चुत होने से फच्च फच्च करते हुए सटासट सटासट लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर होने लगा.फिर मैं हर दिन कोशिश करने लगी कि अंकल जी के सामने कामुक बन कर रहूँ.

बीएफ सेक्सी पिक्चर चुदाई वाली वीडियो - देवर भाभी के बीएफ दिखाइए

लता बार बार मुझे बधाई पर बधाई दिए जा रही थी कि मुझे आपकी सेक्स कहानी में जो आपने किया है … वो बहुत पसंद है.मैंने अपना एक हाथ उसके बालों में लगा रहा था और दूसरा हाथ बगल में बैठी अरुणिमा के मम्मों पर ले गया.

मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसकी मां उसके पापा और भाई को छोड़ने स्टेशन गयी हैं. देवर भाभी के बीएफ दिखाइए उसकी मखमली गांड का टच मिलते ही तुरन्त मेरा दिमाग़ घूम गया क्योंकि मुझे गांड मारने का बड़ा शौक है.

मैंने उनको हटाने की कोशिश की … क्योंकि मैं अभी-अभी झड़ी थी और पूरी तरह से गर्म भी नहीं हुई थी.

देवर भाभी के बीएफ दिखाइए?

मैं बहुत खुश हो गया था और मैंने उसी पल एक किस वाला इमोजी बनाकर भेज दिया. मेरे आते ही राजीव सर ने मेरा गले लगा कर स्वागत किया और मुस्कुराते हुए मुझे अन्दर आने को कहा. कोमल सीत्कारने लगी- इई ई मां आह आह्ह … आईआ … आईहह … मम्मी … स्सस … उफ्फ … आह्ह … बिट्टू … ओह.

नंगी लड़की होटल Xxx कहानी पर आप अपने सुझाव और विचार के लिए मुझे मेल करें. मैंने फिर से उसकी चूत सहलाना शुरू कर दिया, जिससे शायद वो फिर से गर्म होने लगी और साथ में मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था. कुछ पल बाद मैं भाभी के ऊपर से हटा और हम दोनों बगल बगल में लेट कर फिर से मस्ती करने लगे.

मैम की पैंटी से उनकी उभरी हुई मोटी चूत की दोनों फांकें भली भांति समझ आ रही थीं. क्लास खत्म होने के बाद जब कुछ और लड़कियां उसको रोकने लगीं, तब भी वो नहीं रुका और चला गया. मैंने भी 69 में आने का फैसला ले लिया और उसकी चूत को जीभ से चाट कर साफ कर दिया.

मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूं … कृपया आप मेरी बीवी की इस इंडियन एक्ट्रेस बॉलीवुड सेक्स कहानी को पढ़कर बताएं कि मेरे पास क्या रास्ता है?मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा. मैंने कभी जिसके बारे में सोचा तक ना था, वो मेरी अंकशायिनी बन रही है.

उन्होंने दोनों हाथों से मेरी गांड को जोर से दबाया, मेरी भी गांड पानी के गुब्बारों की तरह उछलने लगी … क्योंकि मेरी गांड बहुत ही नर्म मुलायम थी.

अपनी मां को आजकल सभी पेलना चाहते हैं … लेकिन कुछ ही लोग चोद पाते हैं.

तब से मेरे पति के ऑफिस जाने के बाद दोपहर में हम दोनों जेठ बहू सेक्स करने लगे थे. कुछ मिनट तक चुत चाटने के बाद रूबी आंटी फिर से चुदने को पागल हो गईं; वो चोदने के लिए कहने लगी थीं. ’ नहीं चाहिए था बल्कि एक पूरा छेद चाहिए था जहां मैं अपना लिंग पेल कर घुड़सवारी कर सकूँ.

मेरे मना करने पर वो जाने लगी और जैसे ही वो मुड़ी … तो उसकी चुनरी उसके पैरों में फंस गई और वो घूम कर मेरे ऊपर गिर गयी. तब मां ने कहा- रात को तो अमित घर पर ही होगा, आप आज मत आना … कल मैं कुछ इंतजाम करती हूं. पीछे पीछे बुआ भी आईं, उन्हें लगा कि मैं कमरे के बाथरूम में जाकर छुपा हूँ तो उन्होंने प्लेट में रखी हल्दी को थोड़ी सी अपने हाथ में ली और बिस्तर पर प्लेट रख कर बाथरूम की तरफ बढ़ने लगीं.

उन्होंने कहा कि आपको मियां खलीफा क्यों पसंद हैं?मैंने कहा- उसका बॉडी स्ट्रक्चर बड़ा ही हॉट है.

कभी उसके स्तन पर साबुन लगा कर दूध मसलता और दबाता, तो कभी उसकी चूत के ऊपर साबुन लगाता और अन्दर तक उंगली डाल कर चुत को मसलता. अब्बू के गुजरने के बाद कुल दो बार आया है और दोनों बार पाँच पाँच सौ रुपये खर्चे के नाम पर दे गया है. श्रुति भी उसे आंखों से इशारे करते हुए अपनी नेट की साड़ी से अन्दर दिखने वाले बोबे दिखा रही थी.

ये मैंने पहले ही भाभी को बता दिया था, तो वो मेरा पूरा पानी लप लप करके पी गईं. मैंने देखा कि मॉम एक खीरे पर कॉन्डम चढ़ाकर अपनी चूत पर अंदर बाहर कर रही थी. उसे भी मेरी जरूरत का पूरा ख्याल था और वो जानता था कि मुझे सेक्स बहुत पसन्द है.

अचानक उसी समय जोर से हवा का झौंका आया और उसकी स्कर्ट हवा में उठ गयी, जिससे मुझे उसकी नंगी चूत और गांड दिख गई.

फिर भी वहां पोल पर लगी लाईट से धीमी धीमी रोशनी आने के कारण हम दोनों एक दूसरे को देख पा रहे थे. मगर उस दिन उसको कुछ काम से बाहर जाना था तो वो ये बोला- यार, मैं आज तुमसे माफ़ी चाहता हूँ.

देवर भाभी के बीएफ दिखाइए अंकल को भी जोश आ गया और अंकल मां को चूमते हुए उनके जिस्म से एक एक कपड़े को अलग करते गए. सरोज ने अन्दर से दरवाजा बंद किया, उसने जल्दी से अपने कपड़े उतार कर फेंक दिए और बिस्तर पर आ गई.

देवर भाभी के बीएफ दिखाइए भाभी ने घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. शब्बो की चूत बहुत टाइट थी लेकिन सांडे के तेल के सहारे पूरा लण्ड उसकी चूत में समा गया.

जब मैं उनको पीछे से चोद रहा था, तब उनकी भारी गांड देख कर मैंने उसी वक्त सोच लिया था कि उनकी गांड ज़रूर मारूंगा.

अनिता की सेक्सी

मैंने अपने लंड पर हाथ फेरते हुए पीहू को इशारा किया, तो उसने भी मुस्कान बिखेरते हुए जवाबी इशारा कर दिया. मैंने अन्दर आकर पूछा- क्या हुआ मौसी?वो बोलीं- तू बैठ, मैं चाय बनाकर लाती हूँ. दोपहर का शो था … तो दोस्त से बात करने लगा कि आज मूवी देखने जाना है.

मैंने कहा कि ये सब श्रेया ने तुमको बताया!उसने कहा- मैंने सब अपने तरीके से पूछा था … तो उसने मुझे सब बता दिया. उसने मुझे धन्यवाद कहा और मेरे लौड़े का आशीर्वाद लेकर अपने घर चली गई. मैंने उससे कहा- इसे अपने मुँह में लेकर गीला कर दो ताकि आसानी से चला जाये.

इसलिए उसकी आंखों में शरारत आई और उसने मुझे ‘हैलो भैया कैसे हो आप …’ कह कर एकदम से होश में ला दिया.

क्योंकि चुत बहुत गीली हो चुकी थी तो लंड सरसराता हुआ अन्दर तक घुसता चला गया. कंपनी की पॉलिसी के हिसाब से एक बहुत ही अच्छे 5 स्टार होटल में 15 दिन का अस्थाई निवास दिया गया था. धीरे-धीरे हमारी भी बातें कम होती गईं और कुछ महीनों में हम बस सप्ताह में एक बार एक दूसरे से बात करने लगे.

मैंने मैम को ऐसे ही अन्दर धक्का दिया और उनको बांहों में थामे गर्दन को चूमते हुए अन्दर ले गया. मैंने सारे फोल्डर चैक किए, पिक्स के शो हिडन फाइल्स करके भी देखा, कहीं कुछ नहीं मिला. अब मैं अपनी सहेलियों के बीच सेक्स की बातों को सुनकर काफ़ी मज़े लेती हूँ.

इस सबके बावजूद मैं अपने जीवन में अजीब सा खालीपन महसूस कर रही थी और कुछ भी करने के बावजूद मैं इससे भर नहीं पा रही थी. भाभी थोड़ी देर चुपचाप बैठी रही तो मैंने भाभी को बोला- भाभी कुछ तो बोलिये?तब भाभी मेरे चेहरे को देखने लगी और बोली- देखो, तुमने जो कहा वो सब ठीक है.

अब मैं भाभी के मस्त नंगे बदन को हर जगह सहला रहा था और उनकी गदरायी हुई जांघों को सहलाते भींचते हुए नीचे आने लगा. मैंने जल्द ही कार्तिकेय के साथ ही उसके एक दोस्त से भी चुत चुदवा ली. उसने उसी समय मेरे लंड को पकड़ कर मसल दिया था और कहने लगी थी- अमित मुझे बहुत आग लग रही थी जिस वजह से मुझसे गलती हो गई.

वो एकदम पागल हो रही थी और ‘आह आह मां ऋषि … उह्ह उई आह्ह …’ करने लगी थीं.

मैं मैम को खींच कर सोफे पर बैठ गया और उनको बांहों में भर कर उनके निप्पल पर मुंह लगा दिया. एक दिन पढ़ाते समय उसकी मां आई और वो अपनी बेटी से बोलीं कि तेरी सहेली आई है, जाकर मिल आ. पूरा हफ्ता इंट्रो और कंपनी पॉलिसी की ट्रेनिंग थी तो हम दोनों एक दूसरे के काफी करीब आ गए थे.

अपनी उंगली की टपोरी को उसके चारों और घुमाने लगी और छिद्र पर दबाव देने लगी. मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी और तेज़ी से चोदने लगा और सुमन की गांड को वीर्य से भर दिया.

वो नीचे फ़ाइल उठाने झुकी तभी उसके गोल गोल सफेद मलाई जैसे दूध दिख पड़े. मगर मैं बेदर्दी की तरह उसकी चूत को बीस मिनट तक अपने लौड़े से पेलता रहा. इस अचानक हुए हमले से मम्मी घबरा गईं और अंकल से खुद को छुड़ाने की कोशिश करती रहीं.

गूगल व्हाट्सएप खोलो

मेरा लंड एकदम टाइट हो गया था, जो कि उसको भी मेरी फूली हुई पैंट से दिखने लगा था.

तभी मैंने देखा तो पाया कि मेरे कमरे का दरवाजा हवा से कुछ इस तरह खुल गया जिससे मुझे बाहर हॉल का नजारा साफ दिखने लगा. मैंने अपना लंड उसकी गर्म चूत के द्वार पर सैट किया और हल्का सा धक्का दे दिया. मैं निशा की कोमल सी चूत को ऐसे चूस रहा था, जैसे मुझे पहली बार चूत मिली हो.

मगर जब अक्सर ऐसा होने लगा, तो मैंने सोचा कि ये पता नहीं क्या देखना चाहती है. बीवी ने अपने बैग से लिपस्टिक निकाली और अपने चुसे हुए होंठों पर लाली लगा कर मेरे सामने अपनी गांड मटकाती हुई बाहर के लिए चल दी. कॉलेज की बीएफ सेक्सीसमारा चिल्लाने लगी- ऊईई अम्मी बचाओ … बचाओ मुझे … राज मैं मर जाऊंगी … धीरे करो।मैं अपने काबू में नहीं था और लंड गपागप गपागप अंदर तक जाने लगा।समारा की चूचियों का कचूमर बना दिया मैंने.

उसके झटके तेज़ हो रहे थे और वो पागलों की तरह मेरी चुत चोदे जा रहा था. मेरी तेज तेज हांफी चल रही थी और मेरी चूत में हल्का सा दर्द भी हो रहा था.

उसकी शादी कहीं और हो गई और मेरी कहीं और … भले ही हमारे बीच अब चुदाई नहीं हो पाती है लेकिन हमारे बीच आज भी प्यार है. दो मिनट बाद मैं उनके पास गया, तो वो अपने पति से बात भी करती जा रही थीं और लंड को सहलाती भी जा रही थीं. आप लोगों को 3सम सेक्स कहानी कैसी लगी, कृपया मेल से प्रतिक्रिया जरूर दें.

फिर रघु ने जैसे ही उसकी चूत पर लंड सैट किया, वैसे ही वो बोली- रघु ड्रिंक और बनाओ, आज चुदाई नहीं करो. जब मेरा हाथ उसकी गर्म नाजुक जांघ पर छुआ, तो उसके चेहरे के भाव विस्मय बोधक हो गए. जब मैं एक हफ्ते बाद लौटा तो देखा कि श्रेया और रघु दोनों थोड़े बदले बदले लग रहे थे.

मैंने गेट के ऊपर वाली खिड़की से झांक कर देखा तो मुझे कोई आश्चर्य तो नहीं हुआ.

मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से सरोज की गांड मारने लगा. जब उसकी बात सामने आयी, तो मैडम बोलीं- ठीक है, आज बैठ जाओ कल से सब लाना.

उसने मुझे जाते ही अपनी बांहों में जकड़ लिया और मेरे रसीले होंठों को चूसने लगा. अबकी बार उसको और ज्यादा दर्द हुआ और वो चिल्लाई- आराम से कर कुत्ते … दर्द हो रहा है. मैं आंटी के बेटे के स्कूल जाने का वेट कर रहा था ताकि हमारी चुदाई लीला चालू हो सके.

मैंने सोचा कि दोस्त है … ये अपनी शादी में थोड़े ही कुछ ऐसा वैसा सोचगा. क्या सच में मैं भी उन लड़कों की तरह बन जाऊंगा जो शादी के पहले सेक्स कर लेते हैं और गर्लफ्रैंड को झूठी बातें कहकर उनके जिस्म को चूस लेते हैं. अंकल लंड को मां के मुँह से बाहर निकाला और देखने में ऐसा लग रहा था कि आज इस लंड से सच में मां की चुत फट ही जाएगी और जिस तरह से कुंवारी चुत सुहागरात में फट जाती है उसी तरह का खेल होने वाला है.

देवर भाभी के बीएफ दिखाइए फिर उसने मुझे देखा और कहा- तुम बहुत ही गर्म माल हो और तुम्हारा माल भी मस्त था. एक नया शो शुरू होने वाला है, उसमें कुछ अच्छे रोल हैं … लेकिन उसका डायरेक्टर हरामी है.

सेक्सी ब्लू पिक्चर देख

मैं घर पर आया हूं ये बात मां को पता नहीं थी … क्योंकि वो अपने रूम में थीं और रूम की लाइट चालू थी जिसकी थोड़ी रोशनी मेरे रूम में आ रही थी. लेकिन तब तक मैं और आशीष पूरी तरह भीग गए थे और हम दोनों के कपड़ों से पानी टपक रहा था. जब मैंने उसके माथे पर चुम्बन दिया तो उसकी आंखों में खुशी के आंसू साफ नजर आ रहे थे.

अगले दिन मामा मामी, रितिका को छोड़ने आ गए और कुछ समय मेरे घर रुकने के बाद वो दोनों दिल्ली के लिए निकल गए. मैं उसके लंड पर एकदम से झपट पड़ी और उसके लंड के सुपारे की चमड़ी को पीछे करती हुई उसके लाल सुपारे को सूंघने लगी. देहाती चुदाई सेक्सी बीएफफिर देखूँगा कि ये किस हद तक जाती है और मेरे लंड के साथ क्या करती है.

सविता आंटी ने मुझे देख कर कुछ नहीं कहा मगर वो कुछ कहना चाह रही थीं.

उंगलियों के बाद मैंने फिर से बुआ की चुत में अपनी जीभ डाल दी और चुत की गर्म दीवारों को कुरेदने लगा. चुत के लिसलिसे पानी से लंड चुत में सटासट चलने लगा और कुछ दसेक मिनट बाद मैं भी उसकी चुत में झड़ गया.

मैंने झटकों को तेज़ कर दिया और उसकी गाँव की देसी चूत ने पानी छोड़ दिया. फिर मैंने शीशे के सामने जाकर अपनी स्कर्ट उतारी और टॉप भी निकाल दिया. मैंने जैसे ही दरवाजा खोला, उन्होंने फौरन मुझे गले लगा लिया और मेरे होंठों पर वहीं चूमने लगे.

हाय दोस्तो, हम निशा और विराट आज फिर से आपके लिए अपनी सच्ची सेक्स कहानी लेकर हाजिर हैं.

सरोज बोली- राज, तूने गलती तो की है और तू कमरा छोड़ेगा, तो अम्मा का घाटा भी हो जाएगा. स्नेहा आगरा की रहने वाली थी और उसके माता पिता ग्वालियर में शिफ्ट हो गए थे. रूबी आंटी- तुम बहुत कमीने हो, तुम हमेशा मेरे मम्मों में झांकते थे, तभी मुझे पता चल गया था कि तुम मुझे चोदना चाहते हो.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सीनील मेरे नीचे पड़ा अब मेरा बिना विरोध करे हुए मेरे दोनों हाथों को अपने हाथों में फंसाए हुए ‘ओह आह अम्मम. लण्ड का सुपारा नाज की बच्चेदानी के मुँह से टकराता तो उसे दर्द होता लेकिन मैं बेरहमी से चोदता रहा.

उफी जावेद कौन है

उनकी चुची चूसने में मुझे बहुत मजा आता था क्योंकि मौसी की चूचियां बहुत बड़ी बड़ी थीं. फिर डायरेक्टर रश्मि के ऊपर चढ़ कर उसके बोबों में लंड रगड़ने लगा और उसके सिर की तरफ़ से कैमरा लिए राजू ने मेरी बीवी के मुँह में लंड दे दिया. लेकिन उस दिन दोस्त कहीं बाहर गया हुआ था … तो मुझे नहीं मिला और मैं वापस घर आने को निकला.

उसका लंड मेरे मुँह के पास हो गया था और मैं कुछ समझ पाती कि उसने मेरी चुत पर अपनी जीभ लगा दी और चुत चाटने लगा. मैं अभी चड्डी में था मगर मेरा लिंग गुफा में घुसने के लिए लोहे के डंडे की तरह खड़ा था. अब मौसी ने अपनी कमर को थोड़ा ऊपर कर लिया, जिससे उनकी पीठ मेरे सीने से लग गयी.

मैं अपने एक हाथ से मौसी की चुचियां दबा रहा था और मौसी अपने एक हाथ से मेरा लंड सहला रही थीं. फिर उसने मुझे देख कर आंख मारी और होंठों को गोल करके एक पुच्ची करने का इशारा किया. मैंने उसकी तरफ अपनी बांहें पसार दीं, तो वो मेरी बांहों में आ गई और सुबकने लगी.

अब वो सिर्फ उस छिद्र में जोर जोर से अपनी उंगली अन्दर बाहर कर रहा था. अपना एक पैर कमोड पर रखकर आंटी ने अपनी चूत खोल दी और मुझे अपनी ओर खींचकर मेरे लण्ड का सुपारा अपनी चूत पर रगड़ने लगीं.

हैलो फ्रेंड्स … मेरा नाम अमित है, मैं कॉलेज में सेकंड ईयर में पढ़ रहा हूँ.

वो बिस्तर से नीचे आ गई और दूध नहीं था तो पानी का गिलास देकर बोली- राम राम चौधरी सा. हिजड़ा की बीएफलेकिन मुझे ये डर भी लग रहा था कि मॉम मेरी हरकतों के बारे में डैड को ना बता दें. हिंदी सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफफिर जब थोड़ी देर में उन्होंने मुझे इशारा कर दिया, तो मैं फिर से शुरू हो गया. वो बोली- आया ययययय एईई मर गई आज तो … विवेक बचा लो मुझे आज … मम्मी ये तो आज जान ले लेगा!अब मैं समझ गया कि वो झड़ने बाली है.

मैंने शुरू में तो उनसे मैडम ही बोला, फिर एक दो बार उनका नाम भी लिया.

जेठ से मालिश करते हुए मुझे अपने कमरे में ले गए और मेरी चूची को दबाने लगे. उसने लंड को अपने मुँह में अन्दर तक घुसा लिया और चूस चूस कर गीला कर दिया. तुम्हारे सारे बदन को छूना चाहता हूँ … तुम्हें रगड़ कर चोदना चाहता हूँ.

मैंने झटकों की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से लंड चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. समारा मेरे गले को चूमने लगी और मेरी छाती पर हाथ फेरने लगी।मैं बिल्कुल अनजान बनकर सब धीरे धीरे कर रहा था।समारा ने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगी. हम इंदौर के पास एक गांव में रहते हैं क्योंकि पापा की जॉब वहीं पर ही है.

बुलु पिक्चर सेक्सी

मैंने उसके हाफ लोअर को नीचे की ओर खींचा, तो उसने भी अपनी गांड उठा कर लोअर उतरवाने में मदद की. अन्दर से वासना भी भर जाती थी और मैंने एक बार उन दोनों की चुदाई की बातें पढ़ते हुए मुठ भी मार ली थी. भीड़ में मैं अपना शरीर तो झट से पीछे नहीं कर पाई पर नजर झुका कर देखा तो कुछ नहीं था.

उसने जाते हुए कहा- आओगे ना!मेरे पास हां कहने के अतिरिक्त कोई जवाब ही नहीं था.

तभी पीछे से उसकी आवाज आयी- टाइम हो, तो अन्दर आ जाओ … कुछ बातें करते हैं.

मगर जब मैंने लंड चूत से बाहर निकाला तो वो लपक कर 69 में हुई और मेरे लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. मैंने आंखों से उनको झूठा गुस्सा दिखाया पर उन्होंने मुस्कुराते हुए मुझे अपनी ओर खींच लिया. बीएफ सेक्सी चालू वीडियोइस बार भाभी ने भी झट से लिखा- ओ हां … मुझे लग रहा है कि किसी का खड़ा हो गया है.

फिर मैंने अपनी एक उंगली पर थूक लगाया और उसके दोनों चूतड़ पकड़ कर ऊपर उठा दिए. वो सोच रही थी कि उसकी मामी तीज में अपने मायके जाएंगी और उसकी मम्मी रेखा नहीं आएंगी, तो आराम से रात भर चुदवा लूंगी. और मैं इतनी सेक्सी हूँ कि मेरे पड़ोस के लड़के मुझे लाइन मारते रहते हैं और मैं कितनों के साथ चुदाई के मजे भी ले चुकी हूँ.

मैंने भी 69 में आने का फैसला ले लिया और उसकी चूत को जीभ से चाट कर साफ कर दिया. लंड ने ऑटोमैटिक अपना रास्ता ढूंढ लिया और फिसलता हुआ अर्शिया की चुत में घुस गया.

अर्शिया की ब्रा सिर्फ मम्मों पर टिकी थी, तो मैंने ब्रा को थोड़ा सा नीचे की तरफ खींचा, इससे उसकी ब्रा मम्मों से नीचे आ गई.

अब तो मैं कई बार छत पर जाकर भी उसके बाथरूम में उसके साथ ही घुस जाता था और उसकी चूचियां पीकर औरचूत चाटकर मजाकरके आ जाता था. फिर दीदी मेरे लंड के पास केक लाईं, चाकू और लंड को अपने एक ही हथेली में एडजस्ट करते हुए लंड से केक कटवाने लगीं. होम ट्यूटर सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोस की एक लड़की जो इंग्लिश एम ए कर रही थी, उससे पढ़ना शुरू किया.

मराठी बीएफ साड़ी वाली इसी बीच में कपड़े बदल रहा था तो मेरा रूम का दरवाजा बंद था और मेरे रूम की लाइट बंद थी. वो इतना चिकना था कि किसी बेलगाम सांड की तरह वो मेरी चूत की गहराई में फ़िसलते हुए घुस गया.

उस घर में केवल सुनीता रहती थी तो मेरी जीएफ इस तरह से आवाज सुनकर चौंक गई और दरवाजा खुला देखकर अन्दर आ गयी. अब मैंने उनकी कमीज उतारी और उनके 36 डी साइज़ के ओवल शेप के दूध मुझे अपनी और निमंत्रण देते दिखे. इधर वो लड़का इस कदर मुझमें धंसा हुआ था कि उसका घुटना मेरे घुटने से थोड़ा आगे था.

बच्चों की बीपी

अब मैंने ऊपर उठकर पहले तो उसके बोबों को एक बार फिर से मसला और उसकी ब्रा का हुक खोलकर उसे भी उसके बदन से अलग कर दिया. मैंने उसे घुमाकर देखा तो दो सुडौल भरे हुए नितम्ब मेरे सामने नग्न थे. निशा ने तुरन्त ही अपने हाथों को मेरे सर पर जोर से दबा दिया जैसे कि वह अपनी चूत में मुझे ही घुसा लेना चाहती हो.

भाभी बोलीं- तो बस देखते ही रहोगे या कभी छुओगे भी!मैंने पूछा- हाथ रख दूं?भाभी बोलीं- हां रख दो. मेरी वर्दी के बटन भी नील ने धीरे धीरे करके सारे खोल दिए और मेरे सीने का किस करते हुए बोला- उस दिन तुम नहीं होते … तो वो मेरी ले लेता.

तब तक आपको ये भाई बहन सेक्स की कहानी कैसी लगी, हमें मेल लिख कर जरूर बताएं.

इससे सुमोना का शरीर अब अकड़ने लगा और वो और तेज और तेज कहकर तेज तेज कमर हिलाने लगी. यह सेक्स कहानी मेरी और मेरी एक गर्लफ्रेंड की है जिससे मैं बचपन से प्यार करता आ रहा हूँ. मगर जब से उसकी शादी हुई है उसके एक डेढ़ साल तक मैं उसके घर नहीं जा सका था.

ये इतने मादक थे कि मैंने अब तक कभी भी किसी साईट में नहीं देखे थे … बल्कि अपनी कल्पना में भी ऐसे चुचे नहीं सोचे थे. मैंने लंड का सुपारा चूत की फांकों में सैट किया और एक धक्का उसकी चूत में दे मारा. आज पहली बार मुझे एक साथ दो सुंदर लड़कियों की चूत चोदने का मौका मिल रहा था.

दोस्तो, उम्मीद है कि आपको निशा विराट की डॉक्टर Xxx कहानी पसंद आई होगी.

देवर भाभी के बीएफ दिखाइए: मेरा लंड उसकी गुफा में अन्दर घुसता चला गया और मुझे मानो गर्म भट्टी का अहसास होने लगा. दोस्तो, जैसा कि मैंने आप लोगों को बताया कि मेरी मौसी अकेली ही रहती हैं.

बाद में उसने बताया कि वो घर में ब्रा पैंटी नहीं पहनती थी क्योंकि उसकी भाभी के मम्मे बड़े बड़े हैं और उन्होंने उसको घर में कभी पहनने नहीं दिए थे. अपनी बहन को अपने दोस्त से चुदते हुए देखने से मेरा काम तमाम हो गया था. आते समय शाम हो गयी थी तो मैंने उससे कहा- यार, मुझे बहुत भूख लगी है, चलो पहले कुछ खा लेते हैं.

इस बार मैं उनकी चूचियों को घूर रहा था … उन्होंने भी मेरी नजरों को ताड़ लिया था मगर उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने भी उनकी चूचियों से नजरें नहीं हटाईं.

कैब में कोमल मुझसे चिपक कर बैठी थी और सिर मेरे कंधे पर ऐसे रखी थी जैसे हम दोनों कपल हों. मैंने दूसरी आंख से उन्हें देखा तो वो मेरी तरफ अपनी साड़ी का पल्लू लेकर आने को हो रही थीं. ’शरद मुझे इतनी तेजी से चोद रहा था कि मैं जोर जोर से झड़ने लगी, पर अब भी शरद में दम बाकी था और वो मेरी एक टांग अपने कंधे पर रखकर मुझे चोदने लगा था.